मुख्यमंत्री की नसीहत, पहली बार के विधायक सदन में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लें


15 साल के बदतर हालात ठीक करने की जिम्मेदारी उठायें विधायक : कमलनाथ


भोपाल । मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा है कि पहली बार जो विधायक चुनकर आए है वे विधानसभा की हर कार्यवाही में बढ़चढ़ कर हिस्सा लें। 15 साल के बदतर हालात ठीक करने की जिम्मारी उठायें। उन्होंने संसदीय कार्य मंत्री को निर्देशित किया वे बजट पर चर्चा के अलावा अन्य विषयों को विधानसभा में प्रस्तुत करने में पहली बार चुनकर आए विधायकों को प्राथमिकता दें। नाथ विधायकों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में सांसद दिग्विजय सिंह उपस्थित थे। मुख्यमंत्री कमल नाथ ने कहा वे कांग्रेस विधायकों की सरकार है। उन्होंने कहा कि हमें पिछले 15 साल के बदतर हालात को अगले पाँच साल में ठीक करना है। इसमें सभी विधायकों की सक्रिय भूमिका और उनका योगदान जरूरी हैं। नाथ ने कहा कि हर विधायक विशेषकर पहली बार चुनकर आए विधायक विधानसभा में नियमित रूप से उपस्थित रहें। मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा अपने 15 साल के कारनामों को छुपाने के लिए तरह-तरह के हथकण्डे अपनाएगी। उनका पूरी ताकत के साथ जवाब देना है और उनके झूठ को बेनकाब करना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के किसानों की, नौजवानों की, महिलाओं के क्या हालात रहें हैं इनसे आप परिचित है 15 साल आपने इन्हीं मुद्दों पर सरकार को घेरा है। भाजपा के विकास के झूठे दावों की कलई खुल चुकी है। अब आवश्यकता इस बात की है हम जनता को सच बतलाए। विधानसभा में उनकी हर साजिश और षडयंत्र को, सरकार को बदनाम करने की कोशिशों को नाकामयाब बनाए।


मप्र के बेहतर भविष्य के लिए सुझाव दें 


 मुख्यमंत्री ने विधायकों से कहा वे सतत् संवाद और सम्पर्क को मजबूपत बनाने के साथ उनके मध्यप्रदेश के बेहतर भविष्य निर्माण के संबंध में जो भी सुझाव और योजनाएँ हैं उन्हें भी दें ताकि सरकार उस पर आगे कदम बढ़ा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि इन पाँच सालों में हर विधायक अपने-अपने क्षेत्र की अपेक्षाओं और लोगों की आशाओं को पूरा करने के लिए समर्पित होकर काम करे।


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन