मेट्रो कैश एंड कैरी इंडिया ने ‘डिजिटल शॉप’ ऐप के साथ ईपेलेटर के साथ साझेदारी की


स्मार्टफोन की मदद से किराना व्‍यवसाय को तुरंत डिजिटल दुकान में बदलने का उद्देश्य


नई दिल्ली / बेंगलुरु। देेेश के प्रमुख संगठित थोक व्यापारी और खाद्य विशेषज्ञ, मेट्रो कैश एंड कैरी ने एक और किफायती तथा टिकाऊ समाधान के साथ किराना व्‍यवसाय को डिजिटल बनाने और रूपांतरित करने के लिए फिनटेक के स्टार्ट-अप, ई-पेलेटर के साथ विशेष साझेदारी की घोषणा की। किराना डिजिटलीकरण कार्यक्रम के अगले चरण के अंतर्गत, ईपेलेटर के सहयोग से मेट्रो ने एक मोबाइल एप्लिकेशन, 'डिजिटल शॉप', का सह-निर्माण किया है, जो किराना मालिकों को अपने मौजूदा स्मार्टफोन को तुरंत बिना डिवाइस पर अतिरिक्त निवेश किये, अपने व्यवसाय के संचालन को डिजिटल बनाने में सक्षम बनाता है। ईपेलेटर और मेट्रो द्वारा तैयार किया गया 'डिजिटल शॉप' छोटे खुदरा विक्रेताओं और किराना व्‍यावसायियों को उनके पारंपरिक तरीकों को उन्नत करके डिजिटल रूप से सशक्त बनाएंगे और उनके व्यवसाय को आधुनिक बनाकर प्रौद्योगिकी की शक्ति का लाभ उठाएंगे। इस ऐप को डाउनलोड करके, किराना व्‍यवसायी अपने दैनिक और मासिक बिक्री को डिजिटल रूप से ट्रैक कर सकते हैं, अपनी इन्‍वेंट्री का प्रबंधन कर सकते हैं, मेट्रो पर ऑर्डर दे सकते हैं, स्मार्टफोन का उपयोग करने वाले ग्राहकों को डिजिटल भुगतान का विकल्प प्रदान कर सकते हैं। 'डिजिटल शॉप' किराना व्‍यवसायियों को शून्य लेनदेन शुल्क प्रदान करता है। सभी ऐप्स से भुगतान स्वीकार करने के लिए सार्वभौमिक क्‍यूआर कोड देता है और दैनिक तथा मासिक लेनदेन पर कोई शुल्‍क नहीं लगाता है। इसके अलावा, किराना व्‍यवसायी, 'डिजिटल शॉप' ऐप का उपयोग करके अपने ग्राहकों को क्रेडिट भी दे सकते हैं और ऐप पर कुछ क्लिकों के सहारे ब्याज-मुक्त व्यापार क्रेडिट तक की पहुंच प्राप्त कर सकते हैं। इससे किराना व्‍यवसायी को कार्यशील पूंजी को मुक्त करने में मदद मिलेगी, जिससे व्यापार को अधिक लाभप्रद बनाना आसान होगा।


यह होगा  फायदा


यह ऐप किराना मालिकों को इन्वेंट्री खपत पैटर्न और तेज तथा धीमी गति से बिकने वाले उत्पादों की एनालिटिक्‍स भी प्रदान करेगा जो किराना व्‍यवसायी के उत्पाद मिश्रण का अनुकूलन करेंगे और अंततः उनके राजस्व और मार्जिन को बेहतर बनाने में मदद करेंगे। किराना व्‍यवसायी डिजिटल रूप से ग्राहकों के साथ जुड़ने और अनुकूलित ऑफर देने में सक्षम होंगे, जो उनके पक्के ग्राहकों को खरीदारी के लिए रु 25,000 तक की तत्‍काल क्रेडिट प्रदान करने में सक्षम बनायेगा और अन्‍य सेवाओं के साथ, यूटिलिटी और बिल भुगतान जैसी अतिरिक्त सेवाओं की पेशकश करके अपने राजस्व को बढ़ाने में सक्षम करेगा।


किराना व्‍यवसायी भारत के उपभोग क्षेत्र की रीढ़


इस व्‍यावसायिक गठबंधन पर टिप्पणी करते हुए अरविन्द मेदिरत्ता, एमडी और सीईओ, मेट्रो कैश एंड कैरी इंडिया, ने कहा कि “किराना व्‍यवसायी भारत के उपभोग क्षेत्र की रीढ़ हैं और रोजगार के अवसर पैदा करने और अर्थव्यवस्था के लिए मूल्य सृजन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। डिजिटल शॉप ऐप के माध्यम से, हमारा उद्देश्य पारंपरिक किराना दुकानों को सभी चैनलों वाले स्टोर में बदलना है। चाहे वह व्यवसाय के लिए आसान ऋण समाधान हो, संपूर्ण डिजिटल अनुभव हो; व्यापार बढ़ाने के लिए डेटा एनालिटिक्स हो; या प्रतिस्पर्धी मूल्य उत्पाद पोर्टफोलियो की पेशकश हो; हम बिना किसी अतिरिक्त लागत के एक ही ऐप में यह सब एक साथ उपलब्‍ध कराते हैं। छोटे खुदरा विक्रेताओं और दुकानदारों को डिजिटल करने के लिए डिजिटल शॉप पहल भारत सरकार द्वारा दिये जा रहे प्रोत्‍साहन से जुड़ा हुआ है, और ईपेलेटर के साथ इस व्‍यावसायिक पहल के माध्यम से हम प्रतिस्पर्धी खुदरा क्षेत्र में छोटे और स्वतंत्र व्यवसायों की निरंतर सफलता के लिए उनको एक अधिक समान स्तरीय अवसर की सुविधा प्रदान करने में मदद करते हैं।


500 से अधिक किरानों का आधुनिकीकरण किया


डिजिटल शॉप ऐप पहल मेट्रो के मौजूदा स्मार्ट किराना कार्यक्रम के साथ तालमेल में है जो पारंपरिक परिवेश वाले स्‍टोर को खुले और आधुनिक स्वरूप वाले स्टोरों में डिजिटल रूप में बदलने और रूपांतरित करने के उद्देश्य से काम करता है ताकि वे प्रतिस्‍पर्धी माहौल में सफल हो सकें। स्मार्ट किराना कार्यक्रम के अंतर्गत, मेट्रो ने अब तक देश भर में 500 से अधिक किरानों के आधुनिकीकरण का काम किया है। हालांकि, नवीनतम पहल नए-पुराने प्रौद्योगिकियों, डेटा विज्ञान और थोक खुदरा व्‍यवसाय के वर्षों के संपूर्ण अनुभव को एक सरल-से-उपयोग वाले डिजिटल पेशकश से जोड़ती है।


छोटे तथा स्वतंत्र किराना व्यवसायों को सशक्त बनाना है


साझेदारी के बारे में बताते हुए, ईपेलेटर के सह-संस्थापक अक्षत सक्सेना ने कहा कि “मेट्रो कैश एंड कैरी के साथ, हम प्रौद्योगिकी और एनालिटिक्‍स का लाभ उठाते हुए विभिन्न पद्धतियों का सह-निर्माण करने की कोशिश कर रहे हैं जिनको किराना व्‍यवसायी और एसएमई अपने कारोबार को अधिक कुशलता और लाभप्रद रूप से संचालित करने में उपयोग कर सकते हैं। हमें मेट्रो के साथ तालमेल बनाने में आसानी हुई है और हमारा नजरिया भी छोटे तथा स्वतंत्र किराना व्यवसायों को सशक्त बनाने का है, क्‍योंकि हम मानते हैं कि वे देश में उद्यमिता की संस्कृति को बढ़ावा देते हैं। हम अगले कुछ महीनों में भारत के अन्‍य क्षेत्रों में इस कार्यक्रम को बढ़ाने के लिए उत्साहित हैं। डिजिटल शॉप का हिस्सा बनने के लिए, किराना व्‍यवसायी और व्यापारी गूगल प्‍ले स्टोर से ऐप डाउनलोड कर सकते हैं । 


2003 में भारत में अपने प्रवेश के बाद से, मेट्रो ने छोटे और मध्यम उद्यमों के बीच मजबूत ब्रांड इक्विटी का निर्माण किया है और उन्हें देश भर में अपने 27 मेट्रो होलसेल स्टोर्स के व्यापक नेटवर्क के माध्यम से अपने व्यवसाय को महत्वपूर्ण रूप से विकसित करने के लिए एक मंच प्रदान किया है। आज मेट्रो ने 5000 से अधिक आपूर्तिकर्ताओं के लिए 3 मिलियन व्यापार ग्राहकों का एक ग्राहक आधार बनाया है, और पूरे देश में 14,000 प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष नौकरियों का निर्माण किया है।


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन