Skip to main content

संध्या मिश्रा की कविता- व्यथा-कथा

व्यथा-कथा


व्यथाओं की कथाएं बहुत लम्बी है
सच है कथाएं तो लंबी ही होती है भले से व्यथाओं की हों
व्यथाएं की भी श्रेणी होती है ये तब महसूस हुआ जब व्यथाएं कथाएं बनने लगी
और इन कथाओं का सबसे दुखद पहलु ये कि ये व्यथा कथाये सदा अनकही ही रह जाती 
किसी कथा के लिए भी ये कितना कष्टकारी कि वो कथनीय न हो सके 
क्यों
कभी समय नहीं जीवन की औचक आपाधापी में
कभी मौका नहीं तो कभी स्थिति नहीं
कभी कोई परिस्थिति नहीं
दुनियां भर के ढेरों काम निरी औपचारिकतायें व्यर्थ गाल बजाऊ इसकी उसकी 
गली की मोहल्ले की देश विदेश की 
निरंतर खोखली चर्चाएँ बहस
आग उगलते खौलते कढाह से निकलते अंगारों से वजनी शब्द
जाने कंहा से मुहँ खोलते ही गिरने लगते पटर-पटर
बस आत्मा की आह पर बात नहीं 
ऐसा नहीं कि बात व्यथा की ज़माने से करनी हो
खुद की व्यथा पर खुद से ही बात नहीं कभी नहीं 
क्यों 
वही समय नहीं हौंसला नहीं बस सीने में धडकनों की जगह भी भय ने छीन ली डर बस एक अनजाना डर धडकने लगता है दिल में पता नहीं क्यों
कोशिशो के बाद भी शब्द ही नहीं मिलते गहन व्यथाओ की कथाओं पर चर्चा को 
लब खुलें भी तो बस सिसकियों के लिए
पलके उठी भी तो बस आँसुओ को छिपाने के लिए
समेटे रहो दर्द को खोखली देह की जर्जर होती इमारत में 
कहीं इन व्यथाओं को शब्दों की हवा न लग जाये 
इन्हें यूँ ही रहने दो अनकहा अनसुना अपरिचित पराया सा 



रचनाकार- संध्या मिश्रा


Comments

Popular posts from this blog

बुजुर्गों की सेवा कर सविता ने मनाया अपना जन्मदिन

भोपाल। प्रदेश की जानीमानी समाजसेवी सविता मालवीय का जन्मदिन अर्पिता सामाजिक संस्था द्वारा संचालित राजधानी के कोलार स्थिति सारथी वृद्धजन सेवा आश्रम पर वहां रहने वाले वृद्धजनों की सेवा सत्कार कर मनाया गया। यहां रहने वाले सभी बुजुर्गों की खुशी इस अवसर पर देखते बन रही थी। सविता मालवीय के सारथी वृद्धजन सेवा आश्रम पहुंचे उनके परिजनों और  सखियों ने सभी बुजुर्गों को खाना सेवाभाव से खिलाया और अंत में केक खिलाकर जन्मदिन के आयोजन को आनंदमय कर दिया। इस जन्मदिन कार्यक्रम को संपन्न कराने में सारथी वृद्धजन सेवा आश्रम की संचालिका साधना भदौरिया का महत्वपूर्ण सहयोग रहा। इस जन्मदिन अवसर को महत्वपूर्ण बनाने के लिए सविता मालवीय के परिजन विवेक शर्मा, सुनीता, सीमा और उनके जेठ ओमप्रकाश मालवीय सहित सखियां रोहिणी शर्मा, स्मिता परतें, अर्चना दफाड़े, हेमलता कोठारी, मीता बनर्जी आदि की उपस्थिति प्रभावी रही। सभी ने सविता को बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की तो वहां रहने वाले बुजुर्गों ने ढेर सारा आशीर्वाद दिया। सारथी वृद्धजन सेवा आश्रम की संचालिका साधना भदौरिया ने जन्मदिन आश्रम आकर मनाने के लिए सविता माल

पद्मावती संभाग पार्श्वनाथ शाखा अशोका गार्डन द्वारा कॉपी किताब का वितरण

झुग्गी बस्ती के बच्चों को सिखाया सफाई का महत्व, औषधीय पौधों का वितरण किया गया भोपाल। पद्मावती संभाग की पार्श्वनाथ शाखा अशोका गार्डन महिला मंडल द्वारा प्राइम वे स्कूल सेठी नगर के पास स्थित झुग्गी बस्ती के गरीब बच्चों को वर्ष 2022 -23  हेतु कॉपियों तथा पुस्तकों का विमोचन एवं  वितरण किया गया। हेमलता जैन रचना ने बताया कि उक्त अवसर पर संभाग अध्यक्ष श्रीमती कुमुदनी जी बरया  मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थीं। आपने पद्मावती संभाग पार्श्वनाथ शाखा द्वारा की जाने वाली सेवा गतिवधियों की भूरी-भूरी प्रशंसा की। मुख्य अतिथि का हल्दी, कुमकुम और पुष्पगुच्छ से स्वागत के पश्चात् अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में शाखा अध्यक्ष कल्पना जैन ने कहा कि उनकी शाखा द्वारा समय-समय पर समाज हित हेतु, हर तबके के लिए सेवा कार्य किये जाते रहे हैं जिसमें झुग्गी बस्ती के बच्चों को साफ़-सफाई का महत्व समझाना, गरीब बच्चों को कॉपी किताब का वितरण करना, आर्थिक रूप से असक्षम बच्चों की फीस जमा करना, वृक्षारोपण अभियान के तहत औषधीय तथा फलदार पौधों का वितरण आदि किया जाता रहा है। इस अवसर पर अध्यक्ष कल्पना जैन, चेयर पर्सन सुषमा जैन, उपाध्यक्ष

गो ग्रीन थीम में किया गर्मी का सिलिब्रेशन

एंजेल्स ग्रुप की सदस्यों ने जमकर की धमाल-मस्ती भोपाल। राजधानी की एंजेल्स ग्रुप की सदस्यों ने गो ग्रीन थीम में गर्मी के आगाज को सिलिब्रेट किया। ग्रुप की कहकशा सक्सेना ने बताया कि सभी जानते हैं कि अब गर्मी के मौसम का आगमन हो चुका है इसलिए पार्टी की होस्ट पिंकी माथे ने हरियाली को मद्देनजर रख कर ग्रीन थीम रखी। जबकि साड़ी की ग्रीन शेड्स को कहकशा सक्सेना ने इन्वाइट किया। इस पार्टी में सभी एंजेल्स स्नेहलता, कहकशा सक्सेना, आराधना, गीता गोगड़े, इंदू मिश्रा, पिंकी माथे, शीतल और वैशाली तेलकर ने अपना पूरा सहयोग दिया। सभी ने मिलकर गर्मी का स्वागत लाइट फ़ूड, बटर मिल्क, लस्सी और फ्रूट्स से पार्टी को जानदार बना दिया।