सोनी सब के तेनाली रामा में पंडित रामा कृष्ण पर लगा हत्या का आरोप


तेनाली रामा अपने दर्शकों का ध्यान एक बार फिर से आकर्षित करने को तैयार


मुंबई। मुसीबतों ने एक बार फिर रामा के दरवाजे पर दस्तक दी है! अब चतुर पंडित रामा कृष्ण (कृष्ण भारद्वाज) को विजयनगर महल में हुई एक हत्या के प्रमुख दोषी के रूप में देखा जा रहा हैं। सोनी सब का तेनाली रामा अपने दर्शकों का ध्यान एक बार फिर से आकर्षित करने को तैयार है, क्योंकि इस बार शो का यह प्रमुख और चहेता पात्र एक नई चुनौती का सामना करने के लिए तैयार है। हालांकि इस बार यह चुनौती एक हिंसक अपराध के आरोप की होगी। ऐसे में आगामी एपिसोड्स दर्शकों के सामने कुछ बेहद चौंकाने वाली बातों का खुलासा करेंगे और साथ ही शो को रामा की बुद्धि और हास्य के साथ मिश्रित अपनी मनोरंजक कहानी के लिए दर्शकों का बेहद प्यार और समर्थन मिलता रहेगा। विजयनगर में असामान्य घटनाएं सामने आने लगती हैं, क्योंकि लोग रामा पर अलग –अलग तरह के अपराधों का आरोप लगाते हुए दरबार में आने लगते हैं। इस सब की शुरुआत तब होती है जब कुछ लोग दरबार में आकर रामा पर उनके पैसे नहीं लौटाने का आरोप लगाते हैं। इस घटना से सारा दरबार सकते में आ जाता है और राजा बालाकुमार (शक्ति आनंद) रामा को अपनी मासूमियत साबित करने के लिए महज तीन दिन का वक्त देते हैं। सारा मामला यहीं नहीं सुलझता, बल्कि स्थिति तब और विकट हो जाती है, जब घर लौटते समय रामा को एक स्त्री मिलती है और वह उनकी पत्नी होने का दावा करती है। पंडित रामा कृष्ण की इस तथाकथित दूसरी शादी की बात सुनकर विजयनगर और भी स्तब्ध हो जाता है। अगले दिन राजा के महल में जाते समय रामा अपनी बेगुनाही साबित करने और खुद को इस मुसीबत से बाहर निकालने के तरीकों के बारे में सोच रहा होता है,  ठीक तभी कुछ सैनिक यह खबर फैला देते हैं कि रामा ने राजा के रक्षक को मार दिया है। ऐसे में पंडित रामा जब अपनी जान बचाने के लिए भागता है तो कायकला (विश्वजीत प्रधान) अपने लोगों को पंडित रामा के पीछे भेज देता है। 


पंडित रामा पर ऐसे गलत कामों के आरोप क्यों लग रहे हैं? क्या अब रामा कृष्ण खुद को इन हालातों से बचा पाएगा?


पंडित रामा कृष्ण की भूमिका निभा रहे कृष्णा भारद्वाज ने कहा, पंडित रामा कृष्ण उनके सामने अब तक आई सबसे चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों का सामना कर रहे हैं। उन पर कुछ ऐसे अपराधों का आरोप लगा है जो कोई भी उनसे करने की उम्मीद तक नहीं रख सकता। ऐसे में, हमारे दर्शकों के लिए यह देखना बेहद दिलचस्प होगा कि कैसे अपनी बुद्धि और चतुराई का इस्तेमाल करके पंडित रामा यह पता लगाते हैं कि उन्हें क्यों दोषी बताया जा रहा था। आने वाले एपिसोड्स में कुछ चौंकाने वाले रहस्य सामने आएँगे क्योंकि पंडित रामा कृष्ण इस चुनौती को उजागर करने की राह पर आगे बढ़ते हैं।


शक्ति आनंद जो राजा बाला कुमार की भूमिका निभा रहे हैं, कहते हैं, पंडित रामा कृष्ण के खिलाफ दरबार में शिकायतें शुरू होते ही बाला कुमार हक्के–बक्के रह जाते हैं। यह बहुत कम संभावना है कि रामा कृष्ण राज्य में किसी भी परेशानी का कारण बने। ऐसे में राजा ने उन्हें खुद को बेकसूर साबित करने के लिए तीन दिन का वक्त दिया है। राजा को एक बड़ा निर्णय लेने की आवश्यकता होगी और हमारे दर्शकों के लिए यह देखना दिलचस्प होगा कि पंडित रामा आगामी एपिसोड में अपने खिलाफ बनी हवा को कैसे साफ़ करते हैं और राजा आखिर क्या फैसला करते हैं।


देखिए पंडित रामा कृष्ण का सच तेनाली रामा में प्रत्येक सोमवार से शुक्रवार, शाम 7:30 बजे 
केवल सोनी सब पर


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन