चिरायु से 28 कोविड पॉजिटिव स्वस्थ होकर घर लौटे


मुख्यमंत्री ने कहा- मध्यप्रदेश ने कोरोना पर जीत हासिल करना सीख लिया है


भोपाल। मंगलवार देर शाम चिरायु अस्पताल एवं मेडिकल  कॉलेज से 28 कोरोना पॉजिटिव मरीजों के स्वस्थ्य होने पर अस्पतार से डिस्चार्ज कर दिया गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वस्थ हुए लोगो से बात करते हुए कहा कि हमने दुनिया को बताया है कि कोरोना को कैसे परास्त किया जा सकता है। प्रदेश में कोविड सेंटरों से प्रतिदिन मरीज ठीक होकर घर जा रहे है। कोरोना ने भारत की भूमि पर आकर घुटने टेक दिए है। आप सब प्रशंसा के पात्र है उच्च मनोबल और इच्छाशक्ति से हमने कोरोना को खत्म करने का इरादा मजबूत हुआ है। चिरायु अस्पताल से अबतक 139 मरीज स्वस्थ्य होकर घर जा चुके हैं। 


मुख्यमंत्री ने की मरीजों से बातचीत


कु.पूर्वा सिंह सिसोदिया उम्र 8 साल ने कहा कि मामाजी मैं अब एकदम ठीक हु।अस्पताल में 20 दिनो में अच्छे से इलाज हुआ है।  यहां पर हमें घर के जैसा ही माहौल मिला है। फैजा कुरेशी उम्र 24 साल इटारसी ने मुख्यमंत्री श्री चौहान , और चिरायु के डॉक्टर को शुक्रिया करते हुए कहा की विश्व स्तरीय व्यवस्था हमे मिली है। यहां आने के पहले हमें डर लग रहा था, आज हम खुश होकर घर जा रहे है।


ये हुए डिस्चार्ज


आज डिस्चार्ज हुए 28 व्यक्तियों में मोहम्मद इदरीश हसन, आदिल खान, फैजा कुरेशी, रेहमुद निशा, शहनाज बी, शहजाद शेख, विशाल जवेजका, प्रतीक यादव, कृष्णा सोनी, रेखा सोनी, विमला सोनी, अनुराग मंगरे, कविता कश्यप, दीपांशु कश्यप, संजय मंगरे, सचिन झा, मनोज मैथिल ,शर्मिला लोधी, परी लोधी, प्राची लोधी, मिथिलेश रवि, अब्दा बेगम, खालिद हसन, बदरून निशा, पूर्वा सिंह सिसोदिया, आशीष दयानक, सैयद भोपाली, राजकुमार गर्ग शामिल है।


अस्पताल के डायरेक्टर ने दी सलाह


चिरायु मेडिकल कॉलेज के डायरेक्टर डॉ.अजय गोयनका ने सभी स्वस्थ हुए व्यक्तियों से आग्रह किया कि 14 दिन का क्वारैंटाइन समय पूरा होने के बाद अपना प्लाज़्मा डोनेट करे। जिससे आगे आने वाले कोरोना संक्रमित मरीजो का प्लाज़्मा थैरेपी से इलाज किया जा सके। सभी स्वस्थ हुए मरीज खूब पानी पिए और प्रोटीन युक्त भोजन करे जिससे इम्यून सिस्टम और बेहतर हो। चिरायु अस्पताल के डायरेक्टर डॉक्टर गोयनका ने  बताया  28 व्यक्ति पूर्णत: स्वस्थ होकर अपने घर की ओर रवाना हुए हैं।  अभी अस्पताल में 295 मरीजो का बेहतर इलाज चल रहा है सभी की हालत बहुत बेहतर है कोई भी व्यक्ति वेंटिलेटर पर नही है। स्वस्थ होकर जा रहे सभी व्यक्तियों को अपने घर में ही 14 दिन की क्वारैंटाइन अवधि व्यतीत करने की सलाह दी गई है।


कोरोना मरीजों का होगा और बेहतर इलाज


क्वारैंटाइन अवधि पूर्ण कर लेने के पश्चात इन सभी को अपना प्लाज्मा डोनेट करने का आग्रह किया गया है। चूंकि इन व्यक्तियों में कोरोना वायरस के विरुद्ध इम्यून शक्ति विकसित हो चुकी है। अत: इनके द्वारा डोनेट किए गए प्लाज्मा से अन्य कोविड 19 पॉजिटिव व्यक्तियों का प्लाज्मा थेरेपी चिकित्सा पद्धति के अनुसार इलाज किया जाएगा। इस प्लाज्मा थेरेपी से और अधिक संख्या में व्यक्ति जल्द से जल्द स्वस्थ हो सकेंगे।


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन