दीये जलाकर दिखाया संकट से मुकाबले के लिए सामूहिक आत्मविश्वासः शर्मा


प्रधानमंत्री के आह्वान को सफल बनाने पर प्रदेश अध्यक्ष ने जताया प्रदेशवासियों, कार्यकर्ताओं का आभार


भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने प्रधानमंत्री श्री मोदी के आह्वान को सफल और सार्थक बनाने लिए प्रदेशवासियों एवं पार्टी कार्यकर्ताओं के प्रति आभार व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी के आह्वान पर रात्रि 9 बजे अपने-अपने घरों के दरवाजों, बालकनी में खड़े होकर दीये, टार्च आदि की रोशनी करके प्रदेश के नागरिकों ने देश पर मंडरा रहे संकट के प्रतिकार में सामूहिक आत्मविश्वास की अभिव्यक्ति की है। उन्होंने कहा कि ऐसा करके प्रदेश के लोगों ने यह जता दिया है कि इस संकट के समय में सब एक साथ हैं और सभी को हर व्यक्ति की चिंता है। 
मनोवैज्ञानिक क्षमताओं, आत्मविश्वास में होगी वृद्धि
प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कि सामूहिक रूप से प्रकाश करने के इस कार्यक्रम में जिस उत्साह के साथ प्रदेश के लोगों ने भाग लिया है, उसे देखकर यह कहा जा सकता है कि यह कार्यक्रम हमारे आत्मविश्वास में कई गुना वृद्धि करेगा। श्री शर्मा ने आशा जताई कि यह कार्यक्रम कोरोना महामारी के संकट से मुकाबले में हमारी मनोवैज्ञानिक क्षमताओं को भी बढ़ाएगा। उन्होंने कहा कि आज का यह कार्यक्रम कोरोना वायरस के उपचार में लगे डॉक्टर्स, स्वास्थ्यकर्मियों, पुलिस तथा प्रशासन के अधिकारियों एवं कर्मचारियों, सफाईकर्मियों और इस लड़ाई में शामिल अग्रिम पंक्ति के योद्धाओं में उत्साह का संचार करेगा साथ ही इस महामारी पर जीत हासिल करने के लिए आधार तैयार करेगा। 
वर्षों बाद देश में जागृत हुई ऐसी चेतना
प्रदेश अध्यक्ष श्री शर्मा ने कहा कि आज का दिन भारत के इतिहास में अद्वितीय दिन के रूप में दर्ज हो गया। जिस देश को हमेशा से सामाजिक व्यवस्था पर अवलंबित देश कहा गया, जिस देश में सामूहिकता सदैव से उसकी शक्ति रही है, उस देश में वर्षो बाद एक ऐसी चेतना जागृत हुई है जिसने प्रत्येक भारतवासी को उसके अस्तित्व का एहसास कराया है। श्री शर्मा ने कहा कि इस चेतना के केंद्र में हैं प्रधानमंत्री श्री मोदी। श्री शर्मा ने कहा कि मोदी जी ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिनकी विलक्षणता समाज शास्त्र, विज्ञान, इतिहास, अध्यात्म, धर्म सबको एक साथ समेटते हुए हमेशा चिंतनशील रहती है। श्री शर्मा ने कहा कि आज के भौतिकतावादी युग में मनुष्य के सर्वांगीण विकास का सोच रखना ही अपने आप में दुष्कर कार्य है, ऐसे में हमारे प्रधानमंत्री जी ने कोरोना जैसे भयानक संकट के बीच लोगों का मनोबल बनाए रखने के लिए जो प्रयास किए हैं उनको समझ कर हृदय गौरव से भर जाता है।


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन