कोरोना से निपटने सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखे जनता: अजय सिंह









 


























पूर्व नेता प्रतिपक्ष की जनसामान्य से अपील





सीधी। नोवेल कोरोना वायरस से आज पूरा विश्व जूझ रहा है। विंध्य समेत पूरा प्रदेश इसके दुष्प्रभावों से ग्रसित हो रहा है। पर अगर हम चाह लें तो इस वायरस के प्रभाव को समाप्त कर सकते हैं। इसके लिए हमें कुछ बातों का विशेष ध्यान रखना होगा। यह बात मध्यप्रदेश के पूर्व नेता प्रतिपक्ष और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अजय सिंह राहुल ने कही।
मंगलवार को जनता के नाम संबोधित पत्र में पूर्व नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि कोरोना बीमारी का एकमात्र उपचार बचाव है। और वो उपचार हम कुछ विशेष निर्देशों का पालन करके कर सकते हैं। पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल ने कहा कि वर्तमान में जो बात सबसे अहम है वो यह कि हम जितना संभव हो सके घर से बाहर निकलने से बचें। अतिआवश्यक काम पड़ने पर ही घर की सीमा से बाहर कदम रखे। घर से बाहर निकलते समय सुरक्षा के सभी मानकों का प्रयोग करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखें। इसके लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जो गाइडलाइन्स जारी की है उनका पूरी तरह से पालन करें। इसके साथ ही घर में बुजुर्गों और छोटे बच्चों का विशेष रूप से ध्यान रखें। साथ ही घर में धार्मिक एवं आध्यात्मिकता का माहौल स्थापित करें। इससे न केवल मानसिक शांति प्राप्त होती है बल्कि इस बीमारी से लड़ने के लिए मनोबल भी बढ़ता है।
वरिष्ठ कांग्रेस नेता अजय सिंह राहुल ने जनता से अपील करते हुये कहा कि लापरवाही बिलकुल न करें। सावधानी, सजगता, सतर्कता और समझदारी ही नोवेल कोरोना वायरस का सबसे प्रभावी उपाय है। उन्होंने कहा कि आप जब बीमार होते हैं तो मन के न चाहते हुए भी कड़वी दवाई पीते हैं। घर पर रहते हैं। बस यही समझिये कि आप कोरोना वायरस से मुक्त होने की कड़वी दवाई ले रहे हैं। इसके साथ ही आप उन सभी नियमों का पालन करें जो इस बीमारी के संक्रमण को रोकने के लिए बताए गए हैं।


शिवराज सरकार पर कसा तंज
शिवराज सरकार पर तंज कसते हुए पूर्व नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि हमारे मध्यप्रदेश की स्थिति शायद इतनी गंभीर नहीं होती अगर भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार और मध्यप्रदेश के भाजपा नेताओं में सत्ता की हवस न होती। इन कारणों से पूरा मार्च का महीना बीमारी की रोकथाम के प्रयासों से वंचित रहा। आज मुख्यमंत्री प्रतिदिन टीवी आदि पर इस प्रदेश की जनता के बड़े हितैषी दिखने का प्रयास कर रहे हैं। उस समय उनकी यह चिंता कहां गई थी जब वे दिल्ली, मानेसर और बंगलुरू में चुनी हुई सरकार को गिराने का जी तोड़ प्रयास कर रहे थे। पानी की तरह नोट बहाकर विधायकों की खरीद फरोख्त कर रहे थे। यह सब ढोंग है, इसकी वास्तविकता को समझिये। प्रधानमंत्री को भी तब ही कोरोना की गंभीरता समझ आई जब यह सुनिश्चित हो गया कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार गिर गई है।
पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह राहुल ने जनता से अपील करते हुए कहा कि हमने कुछ राजनेताओं की महत्वकांक्षा के कारण बचाव का महत्वपूर्ण समय गंवा दिया है। पर अब इसके फैलाव को रोकना होगा। इसका एकमात्र उपाय है लॉकडाउन के नियमों का पालन करें, क्योंकि इस बीमारी से बचने का यही एकमात्र उपाय है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के बताएं नियमों का पालन करके आप अपने परिवार, पड़ोस, मोहल्ला, गाँव, क़स्बा, शहर और जिले, विन्ध्य और पूरे प्रदेश को सुरक्षित बनाने में सहयोग करें।













Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन