पांच ब्राह्मणों की जघन्य हत्या ने योगी सरकार की कानून व्यवस्था की पोल खोल दी : डॉ पाण्डेय


जरा भी नैतिक साहस हो तो त्यागपत्र दें मुख्यमंत्री योगी


लखनऊ।  उत्तर प्रदेश सरकार के पूर्व राज्यमन्त्री और अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ के सी पाण्डेय ने एटा जनपद में एक ही परिवार के पांच ब्राह्मणों की जघन्य-दुर्दान्त हत्या पर तीव्र आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि इस सामूहिक हत्याकांड ने योगी सरकार की तथाकथित कानून व्यवस्था की पोल खोल कर रख दी है। मारने वालों में क्रमशः 9 वर्ष और 11 वर्ष के बच्चे भी शामिल है। ऐसे समय मे जबकि लॉक डाउन लागू है और चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात है फिर भी अपराधियो का हौसला इतना बुलन्द है। एटा के पुलिस अधीक्षक को तुरत निलम्बित किया जाए और मुख्यमंत्री में जरा सा भी नैतिक साहस बचा हो तो त्यागपत्र दे ।
डॉ पाण्डेय ने कहा कि कल ब्राह्मण समाज के इष्ट भगवान श्री परशुराम की जयंती है और आज ब्राह्मणों की सामूहिक हत्या होगई। इसी प्रकार भाजपा सरकार में प्रयागराज-प्रतापगढ़-रायबरेली में भी ब्राह्मणों को भून डाला गया था। लॉक डाउन के कारण हम लोग एटा जाने में असमर्थ है, लेकिन लॉक डाउन खत्म होते ही हम लोग घटना स्थल पर जाएंगे और इस निर्मम हत्याकांड को लेकर लखनऊ में व्यापक धरना-प्रदर्शन होगा। उक्त हत्यकांड की सीबीआई जांच की मांग ब्राह्मण महासभा करती है।


पीड़ित परिवार को दें 3 करोड़ की आर्थिक सहायता :


डॉ पाण्डेय ने प्रदेश के मुख्यमंत्री से पीड़ित परिवार को कम से कम तीन करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता देने की मांग की है तथा कह है कि योगिराज में ब्राह्मण समाज पूरी तरह असुरक्षित है। लॉक डाउन समाप्त होते ही ब्राह्मण महासभा–परशुराम सेना–महिला ब्राह्मण सभा इस निर्मम हत्या कांड को लेकर सड़को पर उतरेगी। सरकार हत्यारो की तुरत गिरफ्तारी करे ।


 


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन