उद्योगों के लिए राहत पैकेज घोषित करे सरकार : सक्सेना


प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता बोले, बदहाल उधोगों पर भी ध्यान देने की जरूरत


भोपाल। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता रवि सक्सेना ने शिवराज सरकार का ध्यान मध्यप्रदेश के बदहाल उद्योगों और व्यापारिक प्रतिष्ठानों की और आकृष्ट करते हुए कहा कि " कॅरोना महामारी के कारण पूरे प्रदेश की उद्योगिक इकाइयाँ और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद पड़े है औद्योगिक और व्यापारिक गतिविधियां ठप्प पड़ी हैं ऐसे हैं अपने कामगारों और कर्मचारियों को वेतन देनें, बैंकों के ऋण और ब्याज की किश्तों की अदायगी का जहाँ भारी भार पड़ रहा है ऐसी विषम स्थिति में सरकार द्वारा मध्यम और निम्न उद्योगों के किये कोई राहत पैकेज आज तक घोषित नहीं किया गया है वहीं अब विद्युत विभाग द्वारा भी हजारों, लाखों के भारी बिजली बिल भेजे जा रहे है जो कि आवंटित लोड के हिसाब से बनाये गए है जब उद्योग और प्रतिष्ठान बंद हैं वैसे ही आर्थिक स्थिति डावांडोल है ऐसे में भारी राशि के बिजली के बिल उद्योगपतियों और व्यापारियों की कमर तोड़ने का काम कर रहे हैं !  रवि सक्सेना ने कहा कि कांग्रेस पार्टी की मांग है कि उद्योगों और व्यापारिक प्रतिष्ठानों के बिल कनेक्टिंग लोड के हिसाब से नहीं औसत बिल प्रणाली के माध्यम से बनाये जाये ! जिससे शासन को सबसे अधिक कर देने वालों को इस विषम परिस्थितियों में कुछ राहत मिल सके !


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन