बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व देश में बना नंबर वन


दुनिया के 70 फीसदी बाघ भारत में
भोपाल/नई दिल्ली। केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मंगलवार को ग्लोबल टाइगर डे की पूर्वसंध्या पर एक रिपोर्ट जारी की। उन्होंने बताया कि दुनिया के 70 फीसदी बाघ भारत में हैं। यहीं नहीं 1973 में हमारे देश में सिर्फ 9 टाइगर रिजर्व थे। जिनकी संख्या अब बढ़कर 50 हो गई हैं। उन्होंने कहा कि ये भी जानना जरूरी है कि ये सभी खराब हालत में नहीं हैं। ये सभी या तो अच्छे हैं या फिर बेस्ट। यही नहीं देश में बाघों की 124 संख्या के साथ बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व देश का नंबर वन टाइगर रिजर्व बन गया है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने इसकी घोषणा की है। मध्य प्रदेश के टाइगर स्टेट का दर्जा दिलाने के लिए बांधवगढ़ की अहम भूमिका है। मंत्री जावड़ेकर ने अंतराष्ट्रीय बाघ दिवस के एक दिन पूर्व आयोजित कार्यक्रम में कहा कि भारत को अपनी बाघ संपत्ति पर गर्व है। यह हमारी प्राकृतिक संपदा है। देश में आज दुनिया की 70 प्रतिशत बाघ आबादी है। रिपोर्ट जारी करते हुए उन्होंने कहा कि भारत में दुनिया की 2.5 फीसदी जमीन है। दुनिया की 4 फीसदी बारिश और 16 फीसदी जनसंख्या भारत में है। इसके बाद भी भारत दुनिया की 8 फीसदी जैव-विविधता का हिस्सा है। इसलिए भारत को अपनी उपलब्धि पर गर्व है।
टाइगर रेंज नेशन के लीडरशिप के लिए तैयार
जावड़ेकर ने कहा कि हम लीडरशिप के लिए तैयार हैं। हम सभी 13 बाघ श्रेणी के देशों के साथ बाघों के वास्तविक प्रबंधन में काम करने के लिए तैयार हैं। हम उनकी ट्रेनिंग, कैपेसिटी बिल्डिंग और मैनेजमेंट में हरसंभव मदद के लिए भी तैयार हैं। इस समय भारत समेत कुल 13 टाइगर रेंज नेशन हैं। जिनमें बांग्लादेश, भूटान, कंबोडिया, चीन, इंडोनेशिया, लाओ पीडीआर, मलेशिया, म्यांमार, नेपाल, रूस, थाईलैंड और वियतनाम शामिल हैं। जावड़ेकर ने कहा कि हमें गर्व होना चाहिए, हम बाघों की संख्या के मामले में विश्व का नेतृत्व कर रहे हैं। ये भारत की सॉफ्ट पावर है और इसे दुनिया के सामने हमें बेहतर तरीके से ले भी जाना चाहिए और इसलिए जो आज रिपोर्ट और पोस्टर जारी किए है वह देखने लायक है। इस दौरान उन्होंने देश की बाघों की गणना की रिपोर्ट और पोस्टर भी जारी किए। 



50 टाइगर रिजर्व की कंडीशन पर रिपोर्ट जारी
केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मंगलवार को ग्लोबल टाइगर डे की पूर्वसंध्या पर देश के सभी 50 टाइगर रिजर्व की कंडीशन पर रिपोर्ट भी जारी की। रिपोर्ट के अनुसार, मध्यप्रदेश में कर्नाटक के बाद सबसे ज्यादा टाइगर हैं। जावड़ेकर के अलावा पर्यावरण राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो ने कहा कि बाघों के संरक्षण में भारत का योगदान इतना प्रशंसनीय है कि गिनीज बुक ऑफ वल्र्ड रिकॉर्ड ने इसे दर्ज किया है।
इसी महीने रिकॉर्ड की घोषणा हुई थी
द ऑल इंडिया टाइगर एस्टीमेशन की ओर से 2018 में सर्वे किया गया था। इसे पिछले साल ही जारी किया गया था, जबकि वर्ल्ड रिकॉर्ड की घोषणा कुछ हफ्ते पहले ही की गई थी। इस सर्वे के मुताबिक देश में शावकों को छोड़कर बाघों की संख्या 2461 और कुल संख्या 2967 है। 2006 में यह संख्या 1411 थी। तब भारत ने इसे 2022 तक दोगुना करने का लक्ष्य तय किया था। भारत में सबसे ज्यादा 1492 बाघ तीन राज्यों मध्य प्रदेश, कर्नाटक और उत्तराखंड में हैं।


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन