बचाव और सावधानी ही कोरोना का इलाज है


सागर सिंह चौैहान
वायरल संक्रमण के मौजूदा दौर में यह बात तो प्रमाणित हो चुकी है कि कमजोर प्रतिरोधक क्षमता वाले लोगों पर कोविड-19 महामारी के संक्रमण का खतरा ज्यादा है। ऐसे में बचाव और सावधानी ही कोरोना का इलाज है। आयुर्वेद में ऐसे कई उपाय बताए गए हैं, जिनके जरिए हम अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत कर सकते हैं और कई तरह के वायरल संक्रमण से बच सकते हैं। आयुर्वेद के जरिए हर व्यक्ति स्वस्थ रह सकता है। तो आइए जानते हैं आयुर्वेद की वो कौन-सी तरकीबें हैं, जो आपको सेहतमंद बना सकती है 
कोरोना के चलते लोग को इम्यून सिस्टम मजबूत बनाए रखना चाहते हैं और इसके लिए काढ़ा व भारतीय रसोई से मिलने वाली जड़ी बूटियों का सेवन कर रहे हैं इसकी सही मात्रा लोगों को पता नहीं है इसलिए काली मिर्च दालचीनी गिलोय जैसी स्वास्थ्यवर्धक चीजें भी बेहिसाब मात्रा में लेने से अल्सर पीठ दर्द जैसी परेशानी हो रही है! 
इंटरनेट पर देख काढ़ा बना रहे हैं लोग लेकिन ये फॉर्मूला सबके लिए सही नहीं होता है जो आसान है वो लोग कर रहे हैं इंटरनेट पर  काढा बनाना देखा बनाया और पी लिया। जबकि यूनिटी एक दो दिन में नहीं बढ़ती इसके लिए लाइफस्टाइल सुधारना होगी 45-50 मिनट व्यायाम करना होगा पर वह आसान नहीं इसलिए काढ़ा बेहिसाब पिए जा रहे हैं । हर किसी के लिए वो एक फॉर्मूला सही नहीं हो सकता है हर शरीर अलग अलग है पर व्यक्ति के हिसाब से माइक्रोन्यूट्रिएंट और इसकी मात्रा तय करते हैं। बेहिसाब मात्रा में गर्म मसाले डला, काढ़ा पिया परिणाम पेट में अल्सर । ये जो गर्म तासीर के मसालो का काढ़ा वो सुबह शाम पी रहे हैं इसकी सही मात्रा कितनी लेनी है ये नहीं पता और काढ़ा दिन में एक बार पीना काफी है।
इम्यूनिटी बूस्ट की सही मात्रा-अश्वगंधा -एक कैप्सूल, काली मिर्च 2-5 नग, दालचीनी 1-2 चुटकी, लहसून - 4-5 नग, लोंग 4-5 नग, इलायची 4-5नग, तुलसी 3-5 पत्ते। इम्यूनिटी बढ़ाने को लेकर लोग सजग तो हुए हैं, लेकिन इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने के लिए सही उपाय ढूंढना एक चुनौतीभरा काम हो सकता है। कई लोग इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय आजमा रहे हैं, लेकिन इन नुस्खों में कौन से नुस्खे को किस तरह से इस्तेमाल किया जाना चाहिए ये जानना काफी जरूरी होता है।
(लेखक मॉडल और फिटनेस एक्सपर्ट हैं।)


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन