Skip to main content

मुख्यमंत्री की पहल से निर्मित हुए अद्भुत फॉसिल पार्क एवं नक्षत्र वाटिका


लॉकडाउन में प्रारंभ हुआ सृजन का अध्याय 


भोपाल । मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को जब कान्हावाडी की कांति देवी ने कोविङ -19 के दौरान नक्षत्र वाटिका विकसित करने के बारे में बताया, तो श्री चौहान खुद को यह कहने से नहीं रोक पाये कि यह अनूठी और अद्भुत पहल तो आपदा को अवसर में बदलने का सटीक प्रमाण है। इस चर्चा में ही धार जिले के अनसिंह गंगाराम ने मांडव के पासे बने फासिल पार्क में हुए विकास कार्यों की जानकारी दी तो मुख्यमंत्री की सहज प्रतिक्रिया थी कि ''मैं इसे दखने जरूर आऊंगा''। फॉसिल पार्क में डायनासोर के अंडों सहित दुर्लभ जीवाश्म का संग्रह है। श्री चौहान गत दिवस वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से मंत्रालय से विभिन्न जिले के मनरेगा मजदूरों से बात कर रहे थे। सर्वविदित है कि कोविड-19 के कारण यह वर्ष सभी के लिए असाधारण और चुनौतीपूर्ण रहा है। राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के कारण अपने गृह ग्रामों में लौटे और स्थानीय श्रमिकों को राहत देने के लिये काम के अवसर सृजित करना जरूरी था। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इसे अपनी जिम्मेदारी मानते हुए गांव-गांव में कार्य आरंभ किये। प्रदेश में 7 लाख 81 हजार कार्य आरंभ कर 79 लाख 80 हजार श्रमिकों को रोजगार दिलाया गया। इन कार्यों ने मजदूरों को आजीविका तो दी ही, साथ ही प्रदेश में सृजन का नया अध्याय आरंभ कर दिया।
भोपाल से 180 किलोमीटर दूर बैतूल जिले की कान्हावाडी ग्राम पंचायत में विशाल नक्षत्र वाटिका बनकर तैयार है। दरअसल कान्हावाड़ी में 400 परिवारों को काम देने की चुनौती थी। साथ ही 13 श्रमिक भी अन्य क्षेत्रों से यहां आये थे। ग्राम पंचायत ने औषधियों और पोषण से जुड़े पेड़ पौधे लगाने का अभियान शुरू किया। इस गतिविधि से पूरी नक्षत्र वाटिका विकसित करने की दिशा में काम आरंभ हो गया। ग्राम पंचायत ने नवाचार के तहत नक्षत्र वाटिका स्वीकृत की। जिसे मनरेगा और 14वें वित्त आयोग से जोड़ा गया। कुल 12 हजार हेक्टेयर फीट में तैयार वाटिका में 27 नक्षत्र, 12 राशि और 9 गृहों की दिशा के अनुरूप नक्षत्र, राशि और गृहों के सूचक पौधे रोपे गए हैं। वाटिका में एक्युप्रेशर ट्रैक, पाथ वे, सात प्रकार की तुलसी के पौधों का 'तुलसी कानन' बनाया गया है। औषधि कानन और पोषण वाटिका भी इसी परिसर का भाग है। लॉकडाउन की अवधि में कान्हावाड़ी ग्राम पंचायत ने 534 लोगों को मनरेगा के तहत कार्य प्रदान कर 19 हजार 945 मानव दिवस सृजित किए। नक्षत्र वाटिका को विकसित करने में मुख्यत: गांव की महिलाओं ने मिस्त्री का कार्य किया। कोरोना लॉकडाउन के बाद कांति जैसी कई महिलाओं को पंचायत में ही काम मिलने से किसी प्रकार की आर्थिक परेशानी का सामना नहीं करना पड़ा। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस नवाचार के लिए कांति देवी आदि सभी को बधाई दी है।


सुलीबर्डी में फॉसिल पार्क विद्यमान 



इसी प्रकार इंदौर से लगभग 100 किलोमीटर दूर धार जिले में मांडव से लगे हुए ग्राम सुलीबर्डी में फॉसिल पार्क विद्यमान है। विकासखंड नालछा का यह क्षेत्र 6.5 करोड़ वर्ष पूर्व डायनासोर का विचरण क्षेत्र रहा है। इस क्षेत्र की खुदाई के दौरान मिले अवशेषों को फॉसिल पार्क में संग्रहित किया गया है। मनरेगा के अंतर्गत इस फॉसिल पार्क को विकसित करने के लिए 35.66 लाख रुपए की लागत से तालाब, बोल्डरवाल, लेवलिंग कार्य और अन्य गतिविधियां संचालित की गई। ग्राम पंचायत सुलीबर्डी के अनसिंह, गंगाराम और सुखीबाई गिरधारी जैसे कई लोगों ने कोविड-19 से बचाव के लिये सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुये मुंह पर मास्क लगा के काम किया। लॉकडाउन में अपने गांव में ही काम मिलने का संतोष ग्रामीणों की आंखों में बखूबी झलक रहा है।


Comments

Popular posts from this blog

बुजुर्गों की सेवा कर सविता ने मनाया अपना जन्मदिन

भोपाल। प्रदेश की जानीमानी समाजसेवी सविता मालवीय का जन्मदिन अर्पिता सामाजिक संस्था द्वारा संचालित राजधानी के कोलार स्थिति सारथी वृद्धजन सेवा आश्रम पर वहां रहने वाले वृद्धजनों की सेवा सत्कार कर मनाया गया। यहां रहने वाले सभी बुजुर्गों की खुशी इस अवसर पर देखते बन रही थी। सविता मालवीय के सारथी वृद्धजन सेवा आश्रम पहुंचे उनके परिजनों और  सखियों ने सभी बुजुर्गों को खाना सेवाभाव से खिलाया और अंत में केक खिलाकर जन्मदिन के आयोजन को आनंदमय कर दिया। इस जन्मदिन कार्यक्रम को संपन्न कराने में सारथी वृद्धजन सेवा आश्रम की संचालिका साधना भदौरिया का महत्वपूर्ण सहयोग रहा। इस जन्मदिन अवसर को महत्वपूर्ण बनाने के लिए सविता मालवीय के परिजन विवेक शर्मा, सुनीता, सीमा और उनके जेठ ओमप्रकाश मालवीय सहित सखियां रोहिणी शर्मा, स्मिता परतें, अर्चना दफाड़े, हेमलता कोठारी, मीता बनर्जी आदि की उपस्थिति प्रभावी रही। सभी ने सविता को बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की तो वहां रहने वाले बुजुर्गों ने ढेर सारा आशीर्वाद दिया। सारथी वृद्धजन सेवा आश्रम की संचालिका साधना भदौरिया ने जन्मदिन आश्रम आकर मनाने के लिए सविता माल

पद्मावती संभाग पार्श्वनाथ शाखा अशोका गार्डन द्वारा कॉपी किताब का वितरण

झुग्गी बस्ती के बच्चों को सिखाया सफाई का महत्व, औषधीय पौधों का वितरण किया गया भोपाल। पद्मावती संभाग की पार्श्वनाथ शाखा अशोका गार्डन महिला मंडल द्वारा प्राइम वे स्कूल सेठी नगर के पास स्थित झुग्गी बस्ती के गरीब बच्चों को वर्ष 2022 -23  हेतु कॉपियों तथा पुस्तकों का विमोचन एवं  वितरण किया गया। हेमलता जैन रचना ने बताया कि उक्त अवसर पर संभाग अध्यक्ष श्रीमती कुमुदनी जी बरया  मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थीं। आपने पद्मावती संभाग पार्श्वनाथ शाखा द्वारा की जाने वाली सेवा गतिवधियों की भूरी-भूरी प्रशंसा की। मुख्य अतिथि का हल्दी, कुमकुम और पुष्पगुच्छ से स्वागत के पश्चात् अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में शाखा अध्यक्ष कल्पना जैन ने कहा कि उनकी शाखा द्वारा समय-समय पर समाज हित हेतु, हर तबके के लिए सेवा कार्य किये जाते रहे हैं जिसमें झुग्गी बस्ती के बच्चों को साफ़-सफाई का महत्व समझाना, गरीब बच्चों को कॉपी किताब का वितरण करना, आर्थिक रूप से असक्षम बच्चों की फीस जमा करना, वृक्षारोपण अभियान के तहत औषधीय तथा फलदार पौधों का वितरण आदि किया जाता रहा है। इस अवसर पर अध्यक्ष कल्पना जैन, चेयर पर्सन सुषमा जैन, उपाध्यक्ष

गो ग्रीन थीम में किया गर्मी का सिलिब्रेशन

एंजेल्स ग्रुप की सदस्यों ने जमकर की धमाल-मस्ती भोपाल। राजधानी की एंजेल्स ग्रुप की सदस्यों ने गो ग्रीन थीम में गर्मी के आगाज को सिलिब्रेट किया। ग्रुप की कहकशा सक्सेना ने बताया कि सभी जानते हैं कि अब गर्मी के मौसम का आगमन हो चुका है इसलिए पार्टी की होस्ट पिंकी माथे ने हरियाली को मद्देनजर रख कर ग्रीन थीम रखी। जबकि साड़ी की ग्रीन शेड्स को कहकशा सक्सेना ने इन्वाइट किया। इस पार्टी में सभी एंजेल्स स्नेहलता, कहकशा सक्सेना, आराधना, गीता गोगड़े, इंदू मिश्रा, पिंकी माथे, शीतल और वैशाली तेलकर ने अपना पूरा सहयोग दिया। सभी ने मिलकर गर्मी का स्वागत लाइट फ़ूड, बटर मिल्क, लस्सी और फ्रूट्स से पार्टी को जानदार बना दिया।