नौवां ग्रह है ... लेकिन कहां?

 



नासा के वैज्ञानिकों ने कहा है कि प्लैनेट नाइन की अवधारणा वास्तविक है और संभव है कि वह पृथ्वी के द्रव्यमान से 10 गुना ज्यादा और वरुण (नेपट्यून) की तुलना में सूर्य से 20 गुना ज्यादा दूर हो। प्लैनेट नाइन या सौर मंडल का नौवां ग्रह सुपर अर्थ ग्रह हो सकता है जिसके बारे में वैज्ञानिक बातें करते रहे हैं और जिसका द्रव्यमान पृथ्वी से ज्यादा है लेकिन यूरेनस और नेपट्यून से काफी कम है।


अमेरिका के कैलिफॉर्निया इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी (कैलेटेक) में प्लैनेटरी ऐस्ट्रोफिजिसिस्ट कंस्तनचीन बैटीगिन ने कहा, 'प्लैनेट नाइन के अस्तित्व का संकेत देने वाले अब 5 अलग-अलग व्याख्यात्मक प्रमाण हैं।' उन्होंने कहा, 'अगर आप इस व्याख्या को हटाते हैं और प्लैनेट नाइन के न होने की कल्पना करते हैं तो आप हल करने से ज्यादा समस्याओं को जन्म देंगे। वैज्ञानिकों ने इससे पहले भी कहा था कि सौर मंडल के बाहरी भाग काइपर घेरे से भी आगे एक संभावित ग्रह है। अब एक और व्याख्या के जरिए वैज्ञानिकों ने इसके अस्तित्व से इनकार नहीं किया है।

बैटीगिन ने बताया कि एकाएक आपके पास 5 अलग-अलग पहेलियां हैं और उन्हें स्पष्ट करने के लिए आपको पांच अलग -अलग सिद्धांत पेश करने होंगे। बता दें कि कभी प्लूटो सौर मंडल का नौवां ग्रह हुआ करता था लेकिन साल 2006 में ग्रह की परिभाषा बदल जाने के बाद इंरनैशनल ऐस्ट्रॉनमी यूनियन ने इसे ग्रहों की श्रेणी से बाहर कर दिया था।





Comments

Popular posts from this blog

विभा श्रीवास्तव ने जताया मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री का आभार

21 को साल की सबसे लम्बी रात के साथ आनंद लीजिये बर्फीले से महसूस होते मौसम का

मानदेय में बढ़ोतरी पर आशा कार्यकर्ताओं एवं सहयोगियों में खुशी की लहर