प्रदेश भर में कर्मचारियों ने किया सत्याग्रह आंदोलन


मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के वैनर पर हुआ सत्याग्रह आंदोलन


भोपाल । महंगाई भत्ते पर लगाई गई रोक को वापस लेने, पुरानी पेंशन बहाली, सरकारी विभागों में भर्ती पर अघोषित प्रतिबंध हटाए जाने, निजीकरण का विरोध, श्रम कानूनों में लगाए गए प्रतिबंध को हटाने, सहित मध्यप्रदेश सरकार द्वारा जुलाई से डीए पर लगाई गई रोक को हटाने, केंद्रीय वेतनमान के एरियर की अंतिम किस्त का भुगतान, वार्षिक वेतन वृद्धि काल्पनिक के स्थान पर नियमित स्वीकृत किए जाने, सेवानिवृत्त हो रहे  मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ द्वारा प्रेषित 24 सूत्री मांग पत्र पर शीघ्र निराकरण किए जाने व अन्य मांगों को लेकर अखिल भारतीय राज्य सरकारी कर्मचारी महासंघ के आव्हान पर प्रदेश भर में कर्मचारियों ने जिला मुख्यालयों पर सत्याग्रह आन्दोलन किया। राजधानी भोपाल में यह सत्याग्रह आंदोलन सतपुड़ा भवन पर किया गया। मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ के प्रांताध्यक्ष ओपी कटियार एवं  लक्ष्मीनारायण शर्मा ने बताया कि अखिल भारतीय राज्य सरकारी कर्मचारी महासंघ  के आव्हान पर महंगाई भत्ते पर लगाई गई रोक को वापस लेने, सरकारी विभागों में भर्ती पर अघोषित प्रतिबंध हटाए जाने, सरकारी विभागों के निजीकरण,  बिजली संशोधन बिल को वापस लेने, छटनी किए गए कर्मचारियों की बहाली, सभी अप्रिय श्रम कानूनों संशोधनों को रद्द करने व वापस लेने, कोविड 19 महामारी के खिलाफ काम करने वाले कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने, प्रदेश सरकार द्वारा जुलाई 19 के डीए स्थगन आदेश को समाप्त करने, सातवें केंद्रीय वेतनमान के एरियर की अंतिम किस्त का भुगतान करने, वार्षिक वेतन वृद्धि को काल्पनिक के दिए जाने के स्थान पर नियमित वेतन वृद्धि स्वीकृत किए जाने सेवानिवृत्त हुए कर्मचारियों के स्वत्वों का भुगतान करने, स्थाई कर्मियों को  संविदा पर नियुक्ति के स्थान पर सेवा वृद्धि करने, पदोन्नत पदनाम दिए जाने पदोन्नति पर लगाई गई रोक को हटाए जाने, संघ द्वारा पूर्व में सौपे 24 सूत्री मांग पत्र पर शीघ्र निर्णय लेने आदि मांगों को लेकर प्रदेशभर में सरकारी कर्मचारियों द्वारा जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन किया गया । राजधानी भोपाल में कर्मचारियों ने सतपुडा भवन में मास्क एवं शोसल डिस्टेंसिग का पालन करते हुए प्रदर्शन किया । सत्याग्रह आंदोलन  में मुख्य रूप से ओपी कटियार,  लक्ष्मीनारायण शर्मा, एसएस रजक, विजय सिंह  रघुवंशी, मोहन अमर्त्य मोहम्मद सलीम, एस रावत, आर के कटियार, कैलाश मांजी, एसएस रघुवंशी, राजमणि कुशवाहा आदि सहित ने भारी संख्या में कर्मचारी उपस्थित थे।



Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन