जिकित्जा हेल्थकेयर ने कर्मचारियों के बच्चों के लिए वार्षिक छात्रवृत्ति कार्यक्रम का आयोजन किया


अपनी पहल के तीसरे वर्ष में जेडएचएल ने राज्य के कर्मचारियों के शीर्ष तीन बच्चों को 50 हजार रु. की छात्रवृत्ति प्रदान की


एम्बुलेंस पायलट और ईएमटी स्टाफ के बच्चों को अच्छी शिक्षा और बेहतर भविष्य के लिए दी स्कॉलरशिप


भोपाल। 108 एम्बुलेंस सेवा का स्टाफ लोगों को नई जिंदगी देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। खुद का सुख-दुख भूलकर एंबुलेस के पायलेट और ईएमटी स्टाफ अपनी जान दांव पर लगा देते हैं। इस तरह के समर्पित स्टाफ के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने और उनके बच्चों का भविष्य सुरक्षित करने की दिशा में संचालक कंपनी जिकित्सा हेल्थ केयर लि. ने एक अनूठी मिसाल पेश की। जिकित्सा मध्यप्रदेश में अपनी वार्षिक छात्रवृत्ति के साथ लौटता है जिसका उद्देश्य योग्य छात्रों को उच्च शिक्षा में मदद करना है। कंपनी द्वारा एंबुलेंस के ईएमटी स्टाफ और पायलेट के बच्चों को स्कॉलशिप देने और उनकी शैक्षणिक प्रतिभा का सम्मान करने के लिए भोपाल में सम्मान समारोह का आयोजन किया गया । जिकित्जा ने वर्ष 2020 के लिए मध्यप्रदेश के 51 जिलों में छात्रवृत्ति कार्यक्रम का आयोजन किया था, जिसमें 34 प्रविष्टियां प्राप्त हुईं। पात्र उम्मीदवारों में से शीर्ष तीन को 50 हजार रुपए की राशि दी गई और अन्य जिलों 17 विद्यार्थियों को 10 हजार रुपए से सम्मानित किया गया। भोपाल की मोटल शिराज होटल में कार्यक्रम आयोजित कर प्रदेश भर के स्टाफ के बच्चों को पुरस्कृत किया गया l


108 एंबुलेंस के पायलेट सरदारसिंह की बेटी स्वाति सिंह ने रीवा जिले में 10वीं में 300 में से 297 अंक हासिल कर 99 प्रतिशत हासिल किए थे । ईएमटी स्टाफ के सदस्य बालेंद्रसिंह कुशवाह के बेटे अर्पितसिंह कुशवाह ने गुना जिले में 300 में से  288 अंक हासिल कर 96 प्रतिशत और 108 एंबुलेंस पायलेट दुर्गेश कुमार प्रजापति की बेटी काजल बार्दिया ने सागर जिले में 400 में से 383 अंक प्राप्त कर 95.75 प्रतिशत के साथ 10वीं उत्तीर्ण की थी। इन तीनों टॉपर को 50-50 हजार की पुरस्कार राशि और ट्रॉफी देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर विजेताओं को सम्मानित करने के लिए कंपनी के प्रोजेक्ट हेड श्री जितेन्द्र शर्मा व कंपनी के अन्य वरिष्ठ पदाधिकारी भी उपस्तिथ थे ।



प्रोजेक्ट हेड जितेन्द्र शर्मा ने कहा कि – “आज बहुत खुशी का अवसर है और मैं उन सभी बच्चों को शुभकामनाएं और बधाई देना चाहता हूं जिन्होंने कडी मेहनत से अपने माता-पिता, अपने समाज और अपने शहर को गौरवान्वित किया है। कंपनी 108 एंबुलेंस के कर्मचारियों को प्रोत्साहित करने, प्रेरित करने और उनके बच्चों के उज्ज्वल भविष्य को सुरक्षित करने के लिए यह प्रयास कर रही है। इस कार्यक्रम में राज्य के जिलों के एम्बुलेंस कर्मचारियों के बच्चों को छात्रवृत्ति दी जाती है जिन्होंने दसवीं कक्षा में शानदार प्रदर्शन किया है। हमारे कार्यबल का एक बड़ा हिस्सा ऐसे सामाजिक-आर्थिक पृष्ठभूमि से संबंध रखता है जहां शिक्षा को प्रमुख महत्व नहीं दिया जाता अथवा प्राथमिकता नहीं माना जाता है। यह छात्रवृत्ति उनके परिवार की वित्तीय बाधाओं और समस्याओं के बावजूद उच्च शिक्षा को आगे बढ़ाने में मदद करने के उद्देश्य से आयोजित की गई है l”


सम्मान समारोह में शामिल होने वाले मेधावी बच्चों के पालकों ने कहा कि- “इस तरह के आयोजन उनके प्रोत्साहन और प्रेरणा के लिए महत्वपूर्ण है। यह न केवल उनका हौसला बढ़ाने में मदद करता है, बल्कि अपने बच्चों को कड़ी मेहनत करने और जीवन में सफल होने की प्रेरणा भी प्रदान करता है। कुछ बच्चे अपने दैनिक जीवन में बहुत सी कठिनाइयों को झेलते हैं और फिर भी अपनी शिक्षा को आगे बढ़ाने और अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रबंधन करते हैं। इस तरह के पुरस्कार उन्हें अकादमिक रूप से बेहतर प्रदर्शन करने और केंद्रित रहने की प्रेरणा देते हैं।“


टॉपर के रूप में 50 हजार रुपए की स्कॉलरशिप हासिल करने वाली स्वातिसिंह ने कहा कि- “सबसे पहले, मैं जिकित्जा का इस स्कॉलरशिप का धन्यवाद देना चाहूंगी। जिकित्जा मध्यप्रदेश स्कॉलरशिप प्रोग्राम 2020 ने हमें खुशियां दीं और हमारे उन प्रयासों और मेहनत को पुरस्कृत किया जो हमनें पढ़ाई में लगाए । मुझे उम्मीद है कि मैं भी समाज की उसी तरह सेवा करूंगी जैसी जिकित्जा करता है।“


दूसरे स्थान पर रहे अर्पितसिंह कुशवाह और तीसरे स्थान पर रहीं काजल बार्दिया ने भी स्कॉलरशिप के लिए जिकित्सा हेल्थ केयर लि. के प्रति आभार व्यक्त किया l 


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन