एचडीएफसी बैंक द्वारा 11 शहरों में युनाइट्स सांताकॉज का आयोजन

 


-एचडीएफसी बैंक युनाईट्स सांताकॉज, एक पहल जरूरतमंद बच्चों की मदद के लिए

मुम्बई। देश का प्रमुख निजी बैंक एचडीएफसी बैंक, 2020 के आख़िरी हिस्से को एक अलग तरीके से सेलिब्रेट कर रहा है। एचडीएफसी बैंक युनाईट्स सांता कॉज़ नाम की इस गतिविधि में पश्चिम भारत के 11 शहर भाग ले रहे हैं ये हैं - मुंबई, पुणे, नागपुर, नाशिक, अहमदाबाद, बड़ौदा, सूरत, राजकोट, इंदौर, भोपाल और गोवा।

इस गतिविधि का उद्देश्य लोगों को कपड़े, खिलौने, किताबें और बहुत कुछ दान करने के लिए आमंत्रित करना है। इस अभियान के लिए दानदाताओं में एचडीएफसी बैंक के कर्मचारी, उनके ग्राहक और सभी क्षेत्र के लोग शामिल हैं। गतिविधि को बहुत सारा सहयोग, समर्थन और तारीफ़ मिल रही है। इन शहरों की विभिन्न एचडीएफसी बैंक शाखाओं में डोनेशन बॉक्स लगाए गए हैं और लोगों को शाखाओं में अपना सहयोग इनमें डालने के लिए कहा गया है। वर्तमान महामारी की स्थिति को देखते हुए यह अनुरोध किया गया है कि बॉक्स में डालने के पहले सामान को अच्छी तरह से साफ किया जाना चाहिए। एहतियाती उपाय के रूप में दान प्राप्तकर्ताओं तक पहुंचने से पहले ये गिफ्ट्स के रूप में एक बार फिर से सैनीटाईज़ होगा। राउंड टेबल इंडिया ने एक एनजीओ पार्टनर के रूप में एचडीएफसी बैंक यूनाइट के साथ साझेदारी की है। एनजीओ इन सभी शहरों से एकत्रित सामान जरूरतमंद बच्चों के लिए ले जाएगा। 

एचडीएफसी बैंक के अधिकारियों ने ने इस के बारे में कहा कि एचडीएफसी बैंक युनाईट्स सांताकॉज़ बहुत अच्छी पहल है। इस कठिन समय में हम समाज के लिए विशेष रूप से उन चीजों को लौटाते हैं जिन्हें वास्तव में इसकी सबसे अधिक आवश्यकता है। हम उन सभी दाताओं के आभारी हैं, जो इस कारण से आगे आये और हमारे साथ जुड़े। 11 शहरों में 500 से अधिक शाखाओं के नेटवर्क के साथ, एचडीएफसी बैंक ने सुनिश्चित किया है कि इस सामाजिक कारण में सभी की अधिकतम भागीदारी हो।

इस कॉज के बारे में अधिक जानने के लिए एक नंबर +917000148835 डायल या सोशल मीडिया पर लॉग इन कर सकते हैं। वहाँ एक वेबसाइट है ।www.santacausedonation.com विशेष रूप से उस गतिविधि के लिए बनाया गया है जहाँ और विवरण उपलब्ध हैं। रेडियो मिर्ची भी एक मनोरंजन भागीदार के रूप में इस पहल का समर्थन कर रही है।

Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन