‘हैप्पी प्लांट प्रोजेक्ट’ के सदस्यों ने रोपे 100 पौधे


एक किताब, एक कलम, एक बच्चा, एक शिक्षक और एक पौधा दुनिया बदल सकता है

भोपाल। प्रकृति और पर्यावरण को सहेजने हेतु प्रशासन और विभिन्न सामाजिक संस्थाओं के द्वारा जहाँ अनेक प्रयास किये जा रहे हैं, वहीं शहर के यूथ ने भी अनेक माध्यमों से मोर्चा संभाल लिया है। युवाओं द्वारा किये जा रहे सार्थक और सराहनीय प्रयास पर्यावरण के हित में एक उज्जवल भविष्य की ओर इशारा करते हैं। इसी दिशा में एक और कदम बढ़ाते हुए ‘हैप्पी प्लांट प्रोजेक्ट’ के सदस्यों ने गुरूवार को भोपाल के कलियासोत डैम पर वृक्षारोपण अभियान का आयोजन किया। इस अभियान के तहत इन्होंने जहाँ क़रीब 2000 ‘बीज बम’ डाले साथ ही महज कुछ ही समय में 100 पौधों का रोपण भी किया। ‘हैप्पी प्लांट प्रोजेक्ट’ का मानना है कि ‘एक किताब, एक कलम, एक बच्चा, एक शिक्षक और एक पौधा दुनिया बदल सकता है। इसी सोच के साथ सभी सदस्यों ने पौधों के संरक्षण की शपथ लेते हुए वृक्षारोपण की निरंतरता को भी सुनिश्चित किया।  

इस सम्बंध में हेमलता जैन रचना ने बताया कि ‘हैप्पी प्लांट प्रोजेक्ट’ के इस अभियान में 30 से ज़्यादा वॉलेंटियर्स के साथ- साथ "हरियाली लाए सेवा समिति’ एनजीओ ने भी विशेष योगदान दिया।  ‘हरियाली लाए सेवा समिति’ के अध्यक्ष श्री नसीर खान अब तक 4 लाख से ज़्यादा पेड़ लगा चुके हैं। ज्ञात हो कि ‘हैप्पी प्लांट प्रोजेक्ट’ की शुरुआत तृप्ति शुक्ला और ईशान लखीना ने की है। इनका लक्ष्य देश भर में लोगों को वृक्षारोपण के प्रति जागरुक और एकजुट करना है। इस प्रोजेक्ट के जरिये इन्होंने पर्यावरण को सुरक्षित करने के उद्देश्य से इस साल के अंत तक 10 लाख पौधे लगाने का लक्ष्य रखा है। प्रकृति प्रेमी और आमजन भी  हरियाली और पर्यावरण के संरक्षण तथा संवर्द्धन में ‘हैप्पी प्लांट प्रोजेक्ट’ का साथ देने के लिए उनके इंस्टाग्राम चैनल - ‘thehappyplant_project को फ़ॉलो कर सकते हैं।



Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन