घरौंदा परिवार में गूंजी शहनाई, दो बेटियों के हाथ हुए पीले

 

-पूनम और पूजा को मिला हमसफर, जीवन में आई खुशियों की बहार

भोपाल। चैरिटेबल वेलफेयर सोसाइटी फॉर ह्यूमनकाइंड एंड एनिमल्स भोपाल द्वारा राजधानी के रोहित नगर फेस 2 में संचालित घरौंदा महिला स्वधार गृह में बुधवार के दिन खुशियों भरा रहा। जब यहां रहने वाली दो बेटियों को अपना जीवन साथी मिल गया। घरौंदा में रहने वाली  बेटियां पूनम और पूजा को अब एक नया परिवार मिल गया है। पूनम के साथ राहुल और पूजा के साथ वीरेंद्र का मंगल परिणय हुआ है। घरौंदा की संचालक नीलम कौर ने बताया कि पिछले वर्षों की तरह इस वर्ष भी घरौंदा संस्था में 23 जून को ईश्वर की असीम कृपा से यहां रहने वाली 2 बेटियों के विवाह का मौका मिला और दोनों बेटियों का विवाह संपन्न परिवार में हुआ है। समस्त घरौंदा परिवार  दोनों बेटियों के उज्ज्वल भविष्य की मंगल कामना करता है। साथ ही उनके हर सुख दुःख में सभी बेटियों के साथ खड़ा हुआ है।

नीलम कौर ने बताया कि घरौंदा महिला आश्रय गृह संस्था पिछले कई वर्षों से भोपाल में कार्यरत है। उन्होंने बताया कि हमारे यहां विपत्ति ग्रस्त महिलाओं, मानसिक रोगी, दिमागी रूप से कमजोर , असहाय एवं परिवार से प्रताड़ित  सभी महिलाओं को यहां रहना , खाना, प्रशिक्षण, चिकित्सा सेवा, सभी तरह की ट्रेनिंग, स्वालंबी, शिक्षित, जीवन जीने की कला, एवं सशक्त बनाने का भरसक प्रयास किया जाता है। नीलम ने बताया कि महिलाओं के हितों की रक्षा के लिए लीगल कार्रवाई भी की जाती है, ताकि उनके ऊपर हो रहे अत्याचार से उन्हें बचाया जा सके। हमारे यहां काउंसलिंग द्वारा बिछड़े हुए परिवारों को जोड़ा जाता है । बेटियों को शिक्षित करके उन्हें आगे बढ़ाया जाता है ।



Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन