छोटे बच्चों के लिए घर आंगन के बाहर खींच दे लक्ष्मण रेखा : सारिका घारू



कोविड  बचाव के उपाय अपनाकर पालक बने बच्चों के लिए प्रेरणा स्रोत

भोपाल। 18 वर्ष से अधिक के लिए वैक्सीनेशन जारी रहने के बाद अब जबकि वैज्ञानिकों ने तीसरी वेब में बच्चों के प्रभावित होने की आशंका जताई है। तब बच्चों के वैक्सीनेशन होने के घर - आंगन के सामने कोविड  बचाव के उपाय संबंधी व्यवहार अपनाने की  लक्ष्मण रेखा बनाना आवश्यक हो गया है। इसके लिए सभी पालकों को जिम्मेदारी तय करनी होगा । यह बात नेशनल अवॉर्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने एक  जागरूकता कार्यक्रम में बताई ।

सारिका ने कहा देखा जा रहा है कि विद्यार्थियों के लिए स्कूल बंद रहने के बाद भी बच्चे अपने घर के आसपास रोड मैदान में भी सामूहिक रूप से खेलते दिख जाते हैं जो कि उचित नहीं है। सारिका ने सन्देश दिया कि कोविड की  वैज्ञानिक जानकारी देकर लगातार सभी सुरक्षा उपाय  अपनाने की आदत डालें। इन उपायों का पालक स्वयं भी पालन करें ताकि बच्चें को इन्हें अपनाने की प्रेरणा मिले। निराश होने की अवश्यकता नहीं है कोरोना से  बचाव के लिए बच्चों के लिए कोरोना  टीका का परिक्षण आरम्भ हो रहें है और जल्दी ही बच्चों के लिए  बनाई लक्ष्मण रेखा मिट जाएगी।



Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन