शक्ति पम्पस् ने वित्त वर्ष 22 की पहली तिमाही में स्मार्ट लाभ दर्ज किया



• वित्तीय वर्ष 2022 का शुद्ध राजस्व 156.31 करोड़, वित्तीय वर्ष 2021 में  92.20 करोड़ की तुलना में, 69.5% की वृद्धि
• वित्तीय वर्ष 2021 की तुलना में 3.31 करोड़ से बढ़कर PAT हुआ  7.29 करोड़, वित्तीय वर्ष -2022 में 120% की वृद्धि

पीथमपुर/ इंदौर/ मुंबई । शक्ति पंप्स (इंडिया) लिमिटेड ने नए वित्तीय वर्ष 2021-22 की जोरदार शुरुआत की है। वित्तीय वर्ष 2021 में 92.20 करोड़ की तुलना में, कंपनी ने 30 जून, 2021 (अप्रैल से जून 2021) को समाप्त तिमाही के लिए 156.31 करोड़ पर समेकित शुद्ध राजस्व दर्ज किया जो कि 69.5% की वृद्धि है। शक्ति पम्पस के शुद्ध लाभ ने भी स्मार्ट लाभ दर्ज किया। कंपनी ने वित्त वर्ष 2022 की पहली तिमाही में 7.29 करोड़ का शुद्ध लाभ दर्ज किया, जो वित्तीय वर्ष 2021 में 3.31 करोड़ था जो 120% ज्यादा है।

परिणामों पर टिप्पणी करते हुए, चेयरमैन एवं मैनेजिंग डायरेक्टर दिनेश पाटीदार ने कहा- हमें खुशी है कि वित्त वर्ष 2021-22 की शुरुआत अच्छी हुई है। यह प्रदर्शन संतोषजनक है क्योंकि इस तिमाही ने देश और दुनिया के विभिन्न हिस्सों में लॉकडाउन के विभिन्न स्तरों का सामना किया है। तिमाही के दौरान, पीएम-कुसुम योजना की बदौलत हमारा घरेलू सोलर पंप बाजार मजबूत बना रहा। डीजल की कीमत में वृद्धि के साथ, निश्चित रूप से सोलर पम्पस के महत्व पर पर्याप्त जोर दिया जा सकता है। इसी संदर्भ में देश की कृषि-अर्थव्यवस्था और ऊर्जा क्षेत्र के लिए पीएम-कुसुम योजना की विशाल क्षमता सामने आई है। पाटीदार ने आगे कहा -पिछले वित्तीय वर्ष में केंद्र सरकार द्वारा लगाए गए कुल 50,000 में से 15000 सोलर पम्पस एवं अन्य राज्य सरकारों द्वारा 6500 पम्पस के बाद, हम अब और अधिक पम्पस लगाने को लेकर आशान्वित हैं। सरकार द्वारा दूसरे वर्ष के लिए अपने लक्ष्य को बढ़ाकर 400,000 पंप किया गया है, जिसमें से करीब 1,00,000 पम्पस लगाने की हमारी योजना है।

Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन