प्रज्ञा को पकड़कर आगरा के पागलखाने भेज देना चाहिए : मिर्ची बाबा



महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्यानंद गिरी महाराज बोले, सांसद ने मां नर्मदा और शिवराज दोनों का अपमान किया

भोपाल। मप्र की जीवनदायिनी मां नर्मदा पर अपमानजनक टिप्पणी करने वाली भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर की कड़ी निंदा करते हुए धर्मगुरु पंचायती श्री निरंजनी अखाड़ा के महामंडलेश्वर श्रीश्री 1008 आचार्य स्वामी वैराग्यानंद गिरी महाराज (मिर्ची-बाबा) ने कहा कि पागलपन के दौर से गुजर रही आतंकी प्रज्ञा सिंह का मानसिक संतुलन गड़बड़ा गया है। वह इसीलिए आये दिन विवादित बयान देखर कभी देश-प्रदेश की जनता, कभी मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान तो कभी अपनी ही पार्टी की फजीहत कराती है। मिर्ची बाबा ने कहा कि मां नर्मदा पर अपमानजनक शब्द बोलकर प्रज्ञा ने मां नर्मदा के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का भी अपमान किया है। प्रज्ञा को पकड़कर आगरा के पागलखाने भेजकर सही इलाज कराना चाहिए। मिर्ची बाबा ने कहा कि 11 दिसम्बर 2016 को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में नर्मदा नदी को प्रदूषण मुक्त बनाने के संकल्प के साथ उद्गमस्थल अमरकंटक से 'नमामि देवी नर्मदे' सेवा यात्रा शुरू की गई थी। इस यात्रा में साधु-संत, पर्यावरणविद, समाज के प्रतिनिधियों के साथ राजनीतिक हस्तियां भी शामिल हुई थी। नर्मदा सेवा यात्रा के शुरू होने से पहले नर्मदा नदी को प्रतीकात्मक रूप से चुनरी ओढ़ाई गई और कलश यात्रा निकली गई थी। 150 दिन की इस यात्रा का समापन 11 मई 2017 को किया गया था। इस यात्रा के नाम पर करोड़ों रुपये सरकार ने सेवा और खुद की ब्रांडिंग पर खर्च किये थे। क्या वह सब बेकार था। मिर्ची बाबा ने कहा कि शिवराज की नर्मदा सेवा यात्रा को पाखंड कहने वाली इस आतंकी पृष्टभूमि की सांसद को जब गाँधी और गोडसे में फर्क समझ नहीं आता तो उसे मां नर्मदा और एक नाले में अंतर कैसे समझ आएगा। ऐसे लोगों की जगह सदन नहीं पागलखाने में होती है। मिर्ची बाबा ने कहा कि जिस नर्मदा सेवा यात्रा की परिक्रमा में महामंडलेश्वर अवधेशानंद गिरि, चिन्मयानंद स्वामी, बाबा कल्याण दास, देव प्रभाकर शास्त्री, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सह कार्यवाह भैयाजी जोशी, स्टॉक होम वॉटर प्राइज से सम्मानित राजेंद्र सिंह, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के साथ अपार जनमानस रहा हो वह भला पाखंड कैसे हो सकती है और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पापी कैसे हो सकते हैं। महामंडलेश्वर श्रीश्री 1008 आचार्य स्वामी वैराग्यानंद गिरी महाराज (मिर्ची-बाबा) ने कहा कि   यह भोपाल की जनता का दुर्भाग्य है कि उन्होंने एक ऐसा जनप्रतिनिधि चुन लिया है जो स्वयं मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं है। मिर्ची बाबा ने कहा कि जिसका इतिहास ही आतंक की वैतरणी से जुड़ा हो उसे धर्म और अध्यात्म का मर्म समझ नहीं आता है। मिर्ची बाबा ने प्रज्ञा ठाकुर के इस वर्ताव की घोर निंदा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उसे तुरन्त पार्टी से बाहर करने तथा लोकसभा की सदस्यता रद्द करने की मांग की है।

मां नर्मदा का है धार्मिक महत्व :

मिर्ची बाबा ने कहा कि भारत में 7 धार्मिक नदियां हैं, जिसमें से मां नर्मदा को भगवान शिव ने देवताओं के पाप धोने के लिए उत्पन्न किया था। माना जाता है कि इसके पवित्र जल में स्नान करने से सारे पाप धुल जाते हैं। नर्मदा महोत्सव को हिंदुओं द्वारा पर्व के रुप में मनाया जाता है। मां नर्मदा की आराधना के साथ इसमें स्नान करने से अनेक रोगों से छुटकारा मिलता है। मिर्ची बाबा ने कहा कि माघ माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि के दिन हर वर्ष नर्मदा जयंती महोत्सव मनाया जाता है। मां नर्मदा के जन्मस्थान अमरकंटक में जयंती उत्सव बहुत ही धूमधाम से मनाया जाता है।

Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन