योगी बोले- 'एक महीने के अंदर दोबारा होगी निशुल्क परीक्षा, चंद्र शेखर आज़ाद ने साधा निशाना



नकलविहीन परीक्षा कराने के दावे करने वाले बताएं परीक्षा के दिन क्यों पेपर आउट हुआ : चंद्रशेखर आज़ाद

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में रविवार को आयोजित की जाने वाली यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा 2021 परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। रविवार को परीक्षा का पेपर लीक होने के कारण इसको रद्द करने का फैसला लिया गया, जिसके बाद प्रदेश में सियासत गर्मा गई। 

पहले तो प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया कि एक महीने के अंदर फिर से परीक्षा आयोजित होगी। इसके अलावा उम्मीदवारों के लिए उन्होंने मुफ्त बस सेवा की घोषणा की है। सीएम योगी ने ये भी कहा कि किसी भी उम्मीदवार से कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाएगा। यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा के अभ्यर्थियों के साथ प्रदेश सरकार खड़ी है। एक माह के अंदर पारदर्शी तरीके से पुनः परीक्षा आयोजित होगी। किसी भी अभ्यर्थी से कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं लिया जाएगा। परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों को आने-जाने हेतु उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की बसों में निःशुल्क यात्रा की सुविधा दी जाएगी। फिर साथ ही यह भी स्पष्ट किया कि उम्मीदवारों भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। हमारे नौजवान बहनों-भाइयों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जायेगा। आप सबको हुई असुविधा के लिए जिम्मेदार लोगों को सजा जरूर मिलेगी। आपकी सरकार शुचितापूर्वक एवं पारदर्शी तरीके से परीक्षा सम्पन्न कराने के लिए कृतसंकल्पित है।

मामले के सामने आते ही इस पर सियासत तेज़ होने लगी. विपक्ष ने इसे मुद्दा बनाते हुए सरकार को घेरना शुरू कर दिया. सबसे पहले प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म कू एप पर लिखा, यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा का पेपर लीक होना और परीक्षा रद्द होना दुःखद व दुर्भाग्यपूर्ण है। यह लाखों बेरोज़गार अभ्यर्थियों के भविष्य के साथ मजाक है। निष्पक्ष व पारदर्शी परीक्षा प्रणाली लागू करने में सरकार असफल रही है, इससे अभ्यर्थियों में निराशा है, यूपी सरकार दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे। यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा की परीक्षा का पेपर लीक होना और परीक्षा रद्द होना दुःखद व दुर्भाग्यपूर्ण है। यह लाखों बेरोज़गार अभ्यर्थियों के भविष्य के साथ मजाक है। निष्पक्ष व पारदर्शी परीक्षा प्रणाली लागू करने में सरकार असफल रही है, इससे अभ्यर्थियों में निराशा है, यूपी सरकार दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करे। फिर इसी कड़ी में, भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आज़ाद ने कहा कि अब यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा का पेपर लीक हो गया। करीब 21 लाख अभ्यर्थी पैसा खर्च करके भारी ठंड में सैकड़ों किलोमीटर दूर परीक्षा देने पहुँचे थे। एक तो वैकेंसी आती नहीं। आती भी है तो लीक हो जाती है। पहले दरोगा भर्ती का पेपर लीक हुआ और अब यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा का।छात्रों के इन परेशानियों की जिम्मेदारी कौन लेगा? योगी जी नकलविहीन परीक्षा कराने के बड़े दावे करते हैं पर जब परीक्षा का दिन आता है तो पेपर आउट! ऐसा क्यों? अब यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा का पेपर लीक हो गया। करीब 21 लाख अभ्यर्थी पैसा खर्च करके भारी ठंड में सैकड़ो किलोमीटर दूर परीक्षा देने पहुँचे थे। एक तो वैकेंसी आती नहीं। आती भी है तो लीक हो जाती है। पहले दरोगा भर्ती का पेपर लीक हुआ और अब यूपी शिक्षक पात्रता परीक्षा का। छात्रों के इन परेशानियों की जिम्मेदारी कौन लेगा? योगी जी नकलविहीन परीक्षा कराने के बड़े दावे करते हैं पर जब परीक्षा का दिन आता है तो पेपर आउट! ऐसा क्यों? 

Comments

Popular posts from this blog

विभा श्रीवास्तव ने जताया मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री का आभार

21 को साल की सबसे लम्बी रात के साथ आनंद लीजिये बर्फीले से महसूस होते मौसम का

मानदेय में बढ़ोतरी पर आशा कार्यकर्ताओं एवं सहयोगियों में खुशी की लहर