कोरोना से बचाने 10 जनवरी से लगेगा बूस्टर डोज, नए रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं



फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों लगेगा तीसरा टीका

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते दिनों अपने राष्ट्र के नाम संबोधन में घोषणा की थी कि भारत में भी जरूरत मंद लोगों को कोरोना की बूस्टर डोज दी जाएगी। बूस्टर डोज की शुरुआत 10 जनवरी 2022 से हो रही है। अब केंद्र सरकार ने इसके लिए विस्तृत गाइडलाइन की ऐलान भी कर दिया है। सबसे अच्छी बात यह है कि पहले और दूसरे डोज की तरह इस बार कोविन ऐप पर नए रजिस्ट्रेशन नहीं करना होगा। हां अपॉइंटमेंट लेना होगा। हालांकि जिन वरिष्ठ नागरिकों को बूस्टर डोज लगवाना है, वो सीधे टीकाकरण केंद्र पर जाकर ऐसा कर सकते हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने साफ कर दिया है कि नए रजिस्ट्रेशन की जरूरत नहीं होगी। बूस्टर डोज के लिए टीकाकरण प्रक्रिया 8 जनवरी से शुरू हो गई और शेड्यूल 8 जनवरी को प्रकाशित किया गया। ऑनसाइट अपॉइंटमेंट के साथ टीकाकरण 10 जनवरी से शुरू होगा।

प्रिकॉशन डोज या बूस्टर डोज की खुराक स्वास्थ्य सेवा और फ्रंटलाइन वर्कर्स के साथ ही 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को 10 जनवरी से दी जाएगी।जिन लोगों को यह टीका लगाना है, वे सीधे किसी भी कोविड टीकाकरण केंद्र में अपॉइंटमेंट ले सकते हैं या सीधे वहां पहुंचकर टीका लगवा सकते हैं।

60 साल और उससे अधिक आयु के नागरिकों को बूस्टर डोज के लिए डॉक्टर से सर्टिफिकेट प्रस्तुत करने की जरूरत नहीं है। हालांकि ऐसे व्यक्तियों को तीसरी खुराक लेने से पहले डॉक्टर से सलाह लेने को कहा गया है। केंद्र सरकार पहले ही कह चुकी है कि कोविड-19 वैक्सीन की एहतियाती खुराक वही वैक्सीन होगी जो पहले दो खुराक में दी गई थी। जिन लोगों ने पहले कोवैक्सिन लगी है, उन्हें कोवैक्सिन लगाई जाएगी, जिन्हें कोविशील्ड की दो खुराक मिली है, उन्हें कोविशील्ड ही लगाई जाएगी।

Comments

Popular posts from this blog

विभा श्रीवास्तव ने जताया मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री का आभार

21 को साल की सबसे लम्बी रात के साथ आनंद लीजिये बर्फीले से महसूस होते मौसम का

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी