सिस्टम की गड़बड़ी से सीयूईटी परीक्षा में परेशान हुए छात्र



-एनटीए के साफ्टवेयर की गड़बड़ी बताकर परीक्षा केंद्र ने जिम्मेदारी से झाड़ा पल्ला
-ठीक से चल नहीं रहे थे कंप्यूटर, जानते हुए भी सवालों के उत्तर नहीं दे पाएं छात्र

भोपाल। कॉलेजों में दाखिले के लिए इस बार यूजीसी द्वारा नेशनल टेस्ट एजेंसी (एनटीए) की ओर से देशभर के 247 सेंटरों में 15 जुलाई से कॉमन यूनिवर्सिटी इंट्रेस्ट टेस्ट 2022 (सीयूईटी) की परीक्षाएं आयोजित कराई जा रही हैं। जहां पहले दिन 15 जुलाई को 75 फीसदी छात्र एवं 16 जुलाई को 77 फीसदी छात्र परीक्षा देने के लिए विभिन्न परीक्षा केंद्रों पर पहुंचे। इसी तारतम्य में 16 जुलाई को राजधानी भोपाल के रातिबड़ स्थित आईईएस इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में बनाएं गए परीक्षा केंद्र में सीयूईटी की परीक्षा के दौरान कई छात्र बेहद परेशान हुए हैं। इस सम्बंध में मिली जानकारी के अनुसार सीयूईटी की आयोजित की गई परीक्षा में कई तरह की गड़बड़ी सामने आई है। परीक्षा में शामिल हुए कुछ छात्रों ने बताया कि परीक्षा प्रारंभ होने के बाद कम्प्यूटर पर समय तो दिखा रहा था, पर पहला सवाल 3 मिनट के बाद कम्प्यूटर में शो हुआ। परीक्षा के दौरान ऐसा कई बार हुआ। सवाल के उत्तर परीक्षा दे रहे छात्रों को मालूम होने के बाद भी उस सवाल के हल पर इसलिए टिक नहीं कर पाएं क्योंकि कम्प्यूटर का माउस उस उत्तर पर क्लिक नहीं कर रहा था। यह परेशानी लगभग परीक्षा दे रहे हर छात्र के साथ थी। इसके अलावा कॉमर्स संकाय के छात्रों के लिए अप्लाई मैथ के सवाल आने चाहिए थे, पर छात्रों को जनरल मैथ के सवाल हल करने पड़े। 

इस मामले में सबसे बड़ी बात यह है कि परीक्षा सम्पन्न करवा रहे आईईएस इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी रातीबड़ के प्रबंधन ने छात्रों द्वारा परीक्षा के दौरान हो रही इस परेशानी को बताने पर नेशनल टेस्ट एजेंसी के साफ्टवेयर की दिक्कत बता कर अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ लिया। छात्रों ने जब कॉलेज प्रबंधन से परीक्षा के दौरान हुई समय की खराबी के कारण की ओर ध्यान दिलाने के साथ परीक्षा का समय बढ़ाने की मांग की तो छात्रों को 1 मिनट का अतिरिक्त समय नहीं दिया। इससे सवालों के उत्तर जानते हुए भी छात्र इसलिए कई सवालों को हल नहीं कर पाए क्योंकि आईईएस इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी रातीबड़ के कंप्यूटर सिस्टम ठीक से काम नहीं कर रहे थे। इस दौरान परीक्षा केंद्र पर परीक्षा के दौरान कई छात्रों के कंप्यूटर भी बदले गए पर इस दौरान छात्रों के समय की जो खराबी हुई उसकी भरपाई के लिए छात्रों को अतिरिक्त समय नहीं दिया गया। 

मंत्री के रिश्तेदार को दिया अतिरिक्त समय :

जानकारी के अनुसार कॉमन यूनिवर्सिटी  इंट्रेस्ट टेस्ट 2022 के लिए रातिबड़ के आईईएस इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में छात्रों को हुई परेशानी के दौरान प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग के एक रिश्तेदार की परीक्षा दे रही बेटी ने परीक्षा के दौरान ही जमकर हंगामा मचाया तो कॉलेज प्रबंधन ने मंत्री के डर से उसे अतिरिक्त समय जरूर दिया। 

छात्रों ने किया एनटीए को मेल, अगस्त में मिले मौका :

रातिबड़ के आईईएस इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी में 16 जुलाई को आयोजित की गई सीयूईटी की पहली पारी की परीक्षा के दौरान छात्रों ने अपने साथ हुई परेशानी के सम्बन्ध में नेशनल टेस्ट एजेंसी को मेल से सूचित करते हुए दूसरे फेस में अगस्त माह में होने वाली परीक्षा में एक और मौका दिए जाने की मांग की है । पर अभी तक उन छात्रों को यूजीसी या एनटीए की तरफ से कोई उत्तर नहीं मिला है। जबकि छात्रों के साथ हुई परेशानियों को परीक्षा केन्द्र पर हर कक्ष में लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज से साफ तौर पर देखा जा सकता है। 

कॉलेजों में सीयूईटी के माध्यम से होंगे दाखिले :

बता दें इस बार 12वीं की परीक्षा देने के बाद यूजीसी द्वारा कॉमन यूनिवर्सिटी इंट्रेस्ट टेस्ट 2022 की परीक्षाओं के जरिये कॉलेजों में दाखिले होने हैं। किसी भी सेंट्रल यूनिवर्सिटी और स्टेट यूनिवर्सिटी में सीयूईटी के जरिये ही दाखिले की प्रक्रिया लागू की गई है। इसके अंतर्गत 90 यूनिवर्सिटीज हैं जिनमें इस एंट्रेस टेस्ट को पास कर छात्र एडमिशन ले सकते हैं। अंडरग्रेजुएट कोर्सेज में दाखिले के लिए सीयूईटी की पहले फेस की परीक्षाएं 15 जुलाई से शुरू हो चुकी हैं। जबकि अगस्त महीने में दूसरे फेस की परीक्षाएं शुरू होंगी।

Comments

Popular posts from this blog

विभा श्रीवास्तव ने जताया मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री का आभार

21 को साल की सबसे लम्बी रात के साथ आनंद लीजिये बर्फीले से महसूस होते मौसम का

मानदेय में बढ़ोतरी पर आशा कार्यकर्ताओं एवं सहयोगियों में खुशी की लहर