शहर को स्पंदन देने का कार्य कर रहे हैं सरस्वती पुत्र : डॉ तिवारी



भोपाल।  प्रतिवर्ष की परंपरा अनुसार जय जनतंत्र समाचार पत्र के हास्य व्यंग एवं रंगपंचमी विशेषांक का लोकार्पण समारोह योग गुरु विष्णु आर्य की अध्यक्षता में एवं डॉ सुशील तिवारी के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलित कर एवं स्वतंत्रता सेनानी पंडित हरिबल्लभ सिलाकारी के चित्र पर माल्यार्पण से हुआ। मां सरस्वती का गान पूरन सिंह राजपूत ने किया जबकि लोक गायक शिवरतन यादव ने ईसुरी फाग गाई। समारोह के मुख्य अतिथि डॉ सुशील तिवारी ने आयोजन की वर्षों से निरंतरता की प्रशंसा करते हुए कहा कि यह एक आत्मीय कार्यक्रम है। यह सुनने का नहीं महसूस करने का कार्यक्रम है। उन्होंने कहा कि सागर शहर अब गांव कस्बे से शहर बन महानगर बनने की राह पर है, इस शहर को स्पंदन देने का कार्य आप सभी सरस्वती पुत्र कर रहे हैं। 

समारोह के अध्यक्ष योगाचार्य विष्णु आर्य ने पंडित हरिवल्लभ सिलाकारी को आयुर्वेद के रस रसायन विद्या का विशेषज्ञ बताते हुए कहा कि आज चिकित्सा क्षेत्र में नाड़ी ज्ञान में कमी आई है,  जरूरत योग और आयुर्वेद के विकास की है। समारोह में महापौर प्रत्याशी डॉ सुशील तिवारी ने बनारसी पान के सामने की गली का नाम स्व. पं. हरिवल्लभ सिलाकारी मार्ग करने की घोषणा की। समारोह में समाजसेवी संस्था अपनत्व सेवा के प्रमुख संतोष सोनी एवं पं. श्रीराम शर्मा, उल्लेखनीय समर्पित पत्रकारिता के लिए देवदत्त दुबे, चिकित्सा साहित्य क्षेत्र में डॉ श्याम मनोहर सिरोठिया एवं योग के क्षेत्र में वरिष्ठ योग गुरु विष्णु आर्य को शाल, श्रीफल, प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। डॉ आरएन सिलाकारी ने समारोह के आयोजन की सार्थकता पर प्रकाश डालते हुए पत्रकारिता के संस्मरण सुनाए एवं चुटीली व्यंग्यात्मक उपाधियों का वाचन किया। इस अवसर पर डॉ जीएस चौबे, गजाधर सागर, ऋषभ समैया, एड. केके सिलाकारी,  सुखदेव प्रसाद तिवारी, एड. कमल दुबे, राजू अग्निहोत्री आदि उपस्थित रहे। गजलकार अशोक मिजाज ने कार्यक्रम की सराहना की। समारोह की सफलता में सुनील जैन, दिनेश भार्गव, राजीव जैन की सक्रियता विशेष सराहनीय रही। कार्यक्रम का सफल संचालन ठाकुर हरि सिंह ने किया एवं अंत मे संपादक डॉ आरएन सिलाकारी ने आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर सभी ने पत्रकारिता के उत्थान के लिए विशेष प्रयास और सुधार की आवश्यकता बताई। इस अवसर पर 2 मिनट का मौन रखकर शहीदों को एवं वरिष्ठ पत्रकार स्व. पुष्पेन्द्र पाल सिंह, वेद प्रताप वैदिक को श्रद्धांजलि अर्पित की।

Comments

Popular posts from this blog

उपहार की गर्मजोशी से खिले गरीबों के चेहरे

चर्चा का विषय बना नड्डा के बेटे का रिसेप्शन किट

लंका पर भारत की विराट जीत, सेमीफाइनल में पहुंचा