जहां कृष्ण के पैर पड़े, उन जगहों को तीर्थ स्थल बनाएंगे : डॉ.मोहन यादव


भोपाल । मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने विधानसभा में कहा कि कोई भी योजना बंद नहीं होगी। हमारे पास सभी योजनाओं के लिए पर्याप्त धन राशि है। डॉ. मोहन यादव सदन में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान संबोधित कर रहे थे। इस पर नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने टोकते हुए कहा-लाड़ली बहना योजना पर कानून बना दें। जिस पर सीएम ने कोई जवाब नहीं दिया। मुख्यमंत्री डा. यादव ने कहा कि मोदी के नेतृत्व में हमारी सरकार ने राम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त किया। आपकी सरकार में कई तरह से राम मंदिर को लटकाए रखा। हमारी सरकार 22 जनवरी को राम भक्तों का स्वागत करेगी। सीएम ने कहा कि 2028 में सिंहस्थ का भव्य आयोजन होगा। इसकी तैयारियां शुरू हो गई है। डॉ. यादव ने ये भी कहा कि एमपी में जहां कृष्ण के पैर पड़े, उन जगहों को तीर्थ स्थल के रूप में विकसित करेंगे। 

संकल्प पत्र हमारे लिए गीता, रामायण है

मुख्यमंत्री डा. यादव ने लाउड स्पीकर पर कहा कि सुप्रीम कोर्ट का आदेश पूरी तरह लागू कराया जाएगा। डॉ. मोहन यादव ने कहा कि मिल मजदूर के बेटे को मुख्यमंत्री भाजपा ही बना सकती है। हम जनता के सेवक हैं। मेरी सरकार विधानसभा अध्यक्ष की छत्र छाया में विकास के काम करेगी। मैं गर्व से कह सकता हूं कि हमारा संकल्प पत्र हमारे लिए पवित्र धर्म ग्रंथ गीता और रामायण की तरह है। हम अगले 5 साल तक संकल्प पत्र में दिए गए एजेंडे को एक-एक करके अक्षरश: पूरा करेंगे। 

1 जनवरी से रजिस्ट्री के साथ नामांतरण

 मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि मध्यप्रदेश में अब रजिस्ट्री के साथ नामांतरण भी साथ में ही होगा। यह व्यवस्था प्रदेश में 1 जनवरी 2024 से लागू होगी। रजिस्ट्री करने के बाद अब नागरिकों को पटवारी के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं है। 

लाड़ली बहना योजना पर सदन में हंगामा 

 इससे पहले चर्चा के दौरान लाड़ली बहना योजना को लेकर जमकर हंगामा हुआ। कांग्रेस विधायक रावत ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री से यह जवाब चाहता हूं कि लाड़ली बहना योजना चलेगी या नहीं। इस योजना के हितग्राहियों को महीने में दी जाने वाली राशि दी जाएगी या नहीं? नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने कहा कि राज्यपाल के अभिभाषण में संसद सा लगा, दिल्ली यहीं ला दें। राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा के बाद विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई। बता दें कि मध्यप्रदेश में 16वीं विधानसभा के गठन के बाद 4 दिन का विशेष सत्र बुलाया गया था। जिसमें सभी विधायकों को शपथ दिलाई गई। साथ ही स्पीकर का निर्वाचन भी हुआ।  

 मध्यप्रदेश ताकतवर बने: विजयवर्गीय

 बुधवार को राज्यपाल के अभिभाषण के बाद गुरुवार को उस पर चर्चा होनी थी। विधायक कैलाश विजयवर्गीय ने चर्चा में भाग लिया। उन्होंने कहा कि गुणवत्ता युक्त शिक्षा का विकास हो, छात्र- छात्राओं को स्कूलों में पठन- पाठन की सुविधा हो। मप्र का विकास हो, ताकि यह प्रदेश, देश में सबसे ताकतवर बनकर उभरे।  

कहां मिटी है गरीबी: राम निवास रावत 

 कांग्रेस विधायक राम निवास रावत ने चर्चा में भाग लेते हुए कहा कि लंबे समय तक प्रदेश में भाजपा की सरकार रही। गरीबी मिटाने का दावा किया जाता है, लेकिन गरीबी कहां मिटी है? गरीब और गरीब होता जा रहा है, वहीं अमीर और अमीर हो रहा है। उन्होंने कहा कि बेरोजगारों को रोजगार नहीं मिल रहा है। भर्ती के लिए आवेदन लिये जाते है, बेरोजगारों से फिस लेकर फार्म भरवा दिये जाते है, लेकिन परिक्षाएं नहीं होती। पटवारी भर्ती घोटाला सर्वविदित है। इस पर भाजपा विधायक ने विरोध भी किया और कहा कि कमलनाथ ने तो 15 महीने के कार्यकाल में संबल योजना को बंद कर दिया था। किसानों का कर्ज माफ नहीं किया था। जिस पर रामनिवास रावत ने कहा कि चुनाव के बाद लाडली बहनों को पैसे नहीं मिल रहे है। सरकार ने घोषणा कि थी कि एक हजार से साढ़े बारह सौ और इसके बाद हम तीन हजार रुपये लाडली बहनों को देंगे। यह योजना चलनी चाहिए। 

 शांति का टापू है मप: प्रहलाद पटेल 

केन्द्र की राजनीति से प्रदेश की राजनीति में पदार्पण करने वाले पूर्व मंत्री और नरसिंहपुर विधायक प्रहलाद पटेल ने कहा कि मप्र शांति का टापू रहा है। मप्र में हर जाति के लोग रहते है। इस प्रदेश को और भी सशक्त बनाने के लिए सदस्यों की कोशिश होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत विकसिस और मजबूत राष्ट्र बन चुका है जिसकी चर्चाएं अंतरर्राष्ट्रीय स्तर पर हो रही है। पक्ष और विपक्ष का दायित्व बनता है कि दोनों मिलकर प्रदेश और देश को विकसित करने में अपनी भागीदारी निभाए। उन्होंने यह भी कहा कि सदस्यों को भविष्य की पीढ़ी के बारे में विचार करना चाहिये। यही हम सब का दायित्व बनता है। 

अंबेडकर का नाम एक बार, मोदी का नाम 50 बार लिया

कांग्रेस विधायक फूल सिंह बरैया ने कहा कि अगर राज्यपाल के अभिभाषण के समय आंख बंद कर लेते तो लगता कि संसद में बैठे हैं। पूरे अभिभाषण के दौरान बाबा साहब अंबेडकर का नाम सिर्फ एक बार लिया गया जबकि मोदी का नाम 50 बार लिया गया। लाउडस्पीकर पर रोक लगाने को लेकर कहा कि यह ध्वनि प्रदूषण पर रोक नहीं बल्कि मस्जिद में लगे लाउडस्पीकर पर रोक के लिए है। बाला बच्चन ने कहा कि संकल्प पत्र में एक करोड़ 31 लाख महिलाओं को 450 रुपए में सिलेंडर देने की बात कही गई है, लेकिन अब तक सिर्फ 22 लाख महिलाओं को 450 रुपए में सिलेंडर दिया जा रहा है। लाड़ली बहनों को आवास योजना का लाभ भी नहीं दिया जा रहा। 

कमलनाथ-सोहनलाल की अनुपस्थिति को अनुमति

विधानसभा के इस सत्र में छिंदवाड़ा विधायक कमलनाथ और परासिया विधायक सोहनलाल बाल्मीक अनुपस्थित हैं। उनकी अनुपस्थिति की अनुज्ञा सदन में दी जाएगी। इनके अलावा 2 अन्य विधायक सदन में शपथ के लिए नहीं पहुंचे हैं। उनके आने पर विधानसभा अध्यक्ष उन्हें शपथ दिलाएंगे। बुधवार तक 226 विधानसभा सदस्यों ने सदन में शपथ ली है। 
x

Comments

Popular posts from this blog

उपहार की गर्मजोशी से खिले गरीबों के चेहरे

चर्चा का विषय बना नड्डा के बेटे का रिसेप्शन किट

लंका पर भारत की विराट जीत, सेमीफाइनल में पहुंचा