मौत के सौदागरों पर चला मोहन का सुदर्शन चक्र


परिवहन के भ्रष्टाचार में लिप्त आरटीओ से पीएस तक सब नपे

13 जिंदगी लेने वाले दोषियों पर गिरी गाज, कलेक्टर-एसपी को भी हटाया 

भोपाल। जिस तरह द्वापर युग में असुर शिशुपाल पर भगवान कृष्ण ने अपना सुदर्शन चलाकर उसका संघार किया था। ठीक उसी तरह 13 जिंदगी लेने वाले मौत के सौदागरों पर मोहन सरकार का सुदर्शन चक्र चलता हुआ दिखाई दिया। परिवहन के भ्रष्टाचार में लिप्त आरटीओ, एसपी, कलेक्टर और पीएस तक के सभी जिम्मेदार अफसरों पर गाज गिरी। गुरुवार को गुना बस हादसे के बाद परिवहन विभाग के आयुक्त संजय झा के साथ गुना के कलेक्टर तरुण राठी और पुलिस अधीक्षक विजय कुमार खत्री को हटा दिया है। मुख्यमंत्री का कड़ा रुख देख मुख्य सचिव वीरा राणा ने बिना देर किए दोषी अफसरों को हटाने के आदेश जारी कर दिए।   गुना जिले में डंपर से टकराने के बाद बस में आग लगने से 12 लोगों के जिंदा जलने सहित 13 की मौत के बाद मुख्यमंत्री का रुख बहुत कड़ा है। उन्होंने परिवहन विभाग की सर्जरी की है। परिवहन विभाग के आयुक्त संजय झा के साथ गुना के कलेक्टर तरुण राठी और पुलिस अधीक्षक विजय कुमार खत्री को हटा दिया है। इस संबंध में आदेश भी जारी कर दिए गए। सुबह गुना आरटीओ रवि बरेलिया और सीएमओ बीडी कतरोलिया को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया था।

 टीसी झा को भेजा लूप लाइन में

 मध्यप्रदेश सरकार के गृह विभाग की तरफ से जारी आदेश में विशेष पुलिस महानिदेशक/परिवहन आयुक्त मध्यप्रदेश ग्वालियर संजय कुमार झा को विशेष पुलिस महानिदेशक, पुलिस मुख्यालय पदस्थ किया है। इसके साथ ही गुना के पुलिस अधीक्षक विजय कुमार खत्री को सहायक पुलिस महानिदेशक पुलिस मुख्यालय पदस्थ किया गया है। पुलिस अधीक्षक गुना के रिक्त पद का प्रभार जिले में पदस्थ वरिष्ठतम अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक को अस्थाई रूप से पुलिस अधीक्षक की पदस्थापना किए जाने तक सौंपा गया है।  

कलेक्टर-पीएस को जीएडी के पूल में फेंका

 सामान्य प्रशासन विभाग की तरफ से जारी आदेश में गुना कलेक्टर तरुण राठी को हटा कर मंत्रालय में अपर सचिव पदस्थ किया गया है। उनकी जगह पर गुना के मुख्य कार्यपालन अधिकारी प्रथम कौशिक को अस्थाई रूप से कलेक्टर का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। इसके अलावा अपर मुख्य सचिव गृह विभाग राजेश कुमार राजौरा को अस्थायी रूप से आगामी आदेश तक अपर मुख्य सचिव परिवहन विभाग का अतिरिक्त रूप से प्रभार सौंपा गया। प्रमुख सचिव परिवहन विभाग के अतिरिक्त प्रभार से आईएएस अधिकारी सुखबीर सिंह को मुक्त किया गया। 

डिप्टी टीसी को भी हटाया, सेवाएं जीएडी को सौंपी 

सरकार ने उप परिवहन आयुक्त संभागीय, ग्वालियर अरुण कुमार सिंह की सेवाएं परिवहन विभाग से वापस ले ली। उनको मध्य प्रदेश शासन मंत्रालय में उप सचिव पदस्थ किया गया है। राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी अरुण कुमार सिंह क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी के रूप में परिवहन विभाग में प्रतिनियुक्ति पर गए थे। वर्तमान में वह उप परिवहन आयुक्त संभागीय पद पर पदस्थ थे। उनके पास भोपाल, नर्मदापुरम और ग्वालियर संभाग का प्रभार था। 

ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने उठाए थे सवाल

  इंदौर ट्रक ऑपरेटर एंड ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के प्रेसिडेंट सीएल मुकाती ने दुर्घटनाग्रस्त बस के कागज सोशल मीडिया पर शेयर किए। साथ ही लिखा कि  बस 15 वर्ष पुरानी है। रोड पर कैसे चल रही थी? फिटनेस, बीमा नहीं है। परिवहन विभाग में भ्रष्टाचार की जड़ बहुत गहरी है। मोहन (यादव) सरकार को सुदर्शन चक्र चलना पड़ेगा विभाग पर। ऐसी दुर्घटनाएं होती रहती हैं, लेकिन जिम्मेदार लोग इस पर ध्यान नहीं देते हैं।  
x
x

Comments

Popular posts from this blog

उपहार की गर्मजोशी से खिले गरीबों के चेहरे

चर्चा का विषय बना नड्डा के बेटे का रिसेप्शन किट

लंका पर भारत की विराट जीत, सेमीफाइनल में पहुंचा