त्रेतायुग से कलयुग तक अयोध्या के राम



मोदी की अपील-अयोध्या न आएं, व्यवस्थाएं बिगड़ेंगी 
550 साल इंतजार किया, कुछ दिन और करें 
राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से पहले मेगा रोड शो
22 को राम ज्योति जलाएं, दीपावली मनाएं

अयोध्या। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 दिसंबर को अयोध्या पहुंचे। जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि यह ऐतिहासिक क्षण बहुत भाग्य से हमारे जीवन में आया है। मैं भारत के 140 करोड़ देशवासियों से हाथ जोड़कर प्रार्थना कर रहा हूं। जब 22 जनवरी को अयोध्या में भगवान राम विराजमान हों, तब राम ज्योति जलाएं। दीपावली मनाएं। उन्होंने आगे कहा कि 22 जनवरी को सभी का अयोध्या आना संभव नहीं है। यहां का पूरा कार्यक्रम हो जाने के बाद एक बार परिवार के साथ अयोध्या जरूर आएं। प्रभु राम को तकलीफ हो, ऐसा हम भक्त कभी नहीं सह पाएंगे। हमने 550 साल इंतजार किया है, कुछ दिन और करें।इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी, दलित धनीराम मांझी के घर पहुंचे। यहां उन्होंने चाय पी। बच्चों ने पीएम के साथ सेल्फी भी ली। मोदी ने अयोध्या में 8 किलोमीटर लंबा रोड शो भी किया। इसके अलावा उन्होंने रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट का उद्घाटन किया। रेलवे स्टेशन का नाम अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन और एयरपोर्ट का नाम महर्षि वाल्मीकि इंटरनेशनल एयरपोर्ट अयोध्या धाम रखा गया है। पीएम ने अयोध्या और अन्य स्टेशनों से चलने वाली 2 अमृत भारत और 6 वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों को हरी झंडी दिखाई। 15 हजार 700 करोड़ के विकास कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास भी किया।  एक बार परिवार के साथ अयोध्या जरूर आएं: तब रामलला टेंट में विराजमान थे, आज लगा अयोध्या सड़क पर उतर आई। 22 जनवरी का पूरा कार्यक्रम हो जाने के बाद एक बार परिवार के साथ अयोध्या जरूर आएं। एक समय था, जब यहीं अयोध्या में रामलला टेंट में विराजमान थे। आज पक्का घर सिर्फ रामलला को ही नहीं बल्कि देश के चार करोड़ गरीबों को भी मिला है। आज पूरी दुनिया उत्सुकता के साथ 22 जनवरी के ऐतिहासिक क्षण का इंतजार कर रही है। भारत की मिट्टी के कण-कण और जन-जन का मैं पुजारी हूं। मैं भी उतना ही उत्सुक हूं। ये उत्साह उमंग आज अयोध्या की सड़कों पर नजर आ रहा था। ऐसा लग रहा था कि पूरी अयोध्या नगरी सड़क पर उतर आई।

 हर छोटे-बड़े मंदिर पर स्वच्छता अभियान चले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अभी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन की क्षमता 10-15 हजार लोगों की सेवा करने की है। स्टेशन का पूरा विकास होने के बाद अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन पर हर रोज 60 हजार लोग आ-जा सकेंगे। 22 जनवरी की शाम पूरे हिंदुस्तान में जगमग होनी चाहिए। देशभर के लोगों से मेरी हाथ जोड़ कर प्रार्थना है कि मकर संक्रांति यानी 14 जनवरी से हर छोटे-बड़े तीर्थ स्थलों पर स्वच्छता का अभियान चलाएं। प्रभु श्रीराम आ रहे हैं तो एक भी मंदिर अस्वच्छ नहीं होना चाहिए। 

30 दिसंबर की तारीख बहुत ऐतिहासिक

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश के इतिहास में 30 दिसंबर की तारीख बहुत ऐतिहासिक रही है। आज के दिन ही 1943 में नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने अंडमान में झंडा फहराकर भारत की आजादी का जयघोष किया था। आज विकसित भारत के निर्माण को गति देने के अभियान को अयोध्या नगरी से नई ऊर्जा मिल रही है। आज यहां 15,700 करोड़ की 46 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास हुआ है। भारत नए और पुराने दोनों को अपनाते हुए आगे बढ़ रहा प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहा कि श्रीराम का भव्य मंदिर बनने के बाद यहां आने वाले लोगों की संख्या में बहुत बड़ी वृद्धि होगी। इसे ध्यान में रखते हुए हमारी सरकार अयोध्या में हजारों करोड़ रुपए के विकास का काम करा रही है, अयोध्या को स्मार्ट बना रही है। दुनिया में कोई भी देश हो, अगर उसे विकास की नई ऊंचाई पर पहुंचना है, तो उसे अपनी विरासत को संभालना ही होगा। हमारी विरासत हमें प्रेरणा देती है, हमें सही मार्ग दिखाती है। इसलिए आज का भारत पुरातन और नूतन दोनों को आत्मसात करते हुए आगे बढ़ रहा है।

 अयोध्या अपने पुरातन वैभव के साथ सज रही

योगी उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 22 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कर कमलों से प्रभु श्री राम अपने मंदिर में विराजमान होने जा रहे हैं। 500 सालों का इंतजार खत्म होने जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि 22 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कर कमलों से प्रभु श्री राम अपने मंदिर में विराजमान होने जा रहे हैं। 500 सालों का इंतजार खत्म होने जा रहा है। मुख्यमंत्री योगी ने कहा- प्रभु श्रीराम की प्राण-प्रिय नगरी, श्री अयोध्या जी अपने चिर-पुरातन वैभव के साथ सज और संवर रही है। प्रभु के आगमन के पहले प्रधानमंत्री का संकल्प था, अयोध्या को सुंदरतम नगरी के रूप में स्थापित करेंगे। भगवान राम त्रेता युग में पुष्पक विमान से अयोध्या आए होंगे, आज प्रधानमंत्री ने अयोध्यावासियों को इंटरनेशनल एयरपोर्ट का उद्घाटन करके उपहार दे दिया है। यह वही अयोध्या है, जहां आने की बात तो दूर, नाम लेने में लोग संकोच करते थे। आज एक नया रिकॉर्ड भी बन गया है। अयोध्या सबसे ज्यादा बार आने वाले प्रधानमंत्रियों में मोदी का नाम है। मोदी के स्वागत में आम लोग, संत, छात्र सब उमड़े रोड शो के दौरान दोनों किनारों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम के जरिए मोदी का स्वागत हुआ। करीब एक लाख लोगों ने 51 जगहों पर पीएम का स्वागत किया। अयोध्या में राम के जयकारे और भजन गूंजते रहे। 12 जगहों पर संत-महंत और 23 संस्कृत विद्यालयों के 1895 छात्रों ने मंत्र और शंखध्वनि से स्वागत किया। 

Comments

Popular posts from this blog

उपहार की गर्मजोशी से खिले गरीबों के चेहरे

चर्चा का विषय बना नड्डा के बेटे का रिसेप्शन किट

लंका पर भारत की विराट जीत, सेमीफाइनल में पहुंचा