क्षेत्र के लोगों से अधिक से अधिक मेल-मुलाकात करें: डॉ. मोहन यादव



अनौपचारिक बैठक में बोले सीएम-लोकसभा चुनाव के हिसाब से काम करें मंत्री
मुख्यमंत्री ने मंत्रियों से साझा किया मोदी की गारंटियों का रोडमैप 

भोपाल। मध्यप्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव की कैबिनेट बैठक मंगलवार को मंत्रालय में हुई।  इस अनौपचारिक बैठक में उप मुख्यमंत्री जगदीश देवड़ा और राजेंद्र शुक्ल कैबिनेट मंत्री कैलाश विजयवर्गीय सहित अन्य सभी नवनियुक्त मंत्री शामिल हुए।  कैबिनेट बैठक में मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने मंत्रियों को अपने-अपने क्षेत्रों में एक्टिव और अलर्ट रहने को कहा है। साथ ही मुख्यमंत्री ने क्षेत्र के लोगों से अधिक से अधिक मेल-मुलाकात करने के निर्देश भी मंत्रियों को दिए। उन्होंने लोकसभा चुनाव की तैयारी के हिसाब से काम करने के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि जल्द ही लोकसभा क्षेत्र और जिलावार प्रभार की जिम्मेदारी मंत्रियों को सौंपी जाएगी। इस बैठक में कई मंत्रियों ने जिलों की स्थिति के हिसाब से मुख्यमंत्री को सुझाव भी दिए। बैठक में प्रदेश के विकास और जनकल्याण के साथ ही भाजपा के संकल्प पत्र पर चर्चा हुई। सीएम डॉ. मोहन यादव ने नवनियुक्त मंत्रियों से सरकार की प्राथमिकताओं के बारे में भी जानकारी देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गारंटियों को  पूरा करने का रोडमैप साझा किया। 

 6 महीने के लिए कामकाज की गाइडलाइन तय 

 सीएम डॉ. मोहन यादव ने प्रदेश में निकाली जा रही विकसित भारत संकल्प यात्रा पर फोकस करते हुए कहा कि सभी मंत्री इस यात्रा मेें भागीदारी करें और केंद्र प्रवर्तित योजनाओं का लाभ हर पात्र हितग्राही तक पहुंचाना सुनिश्चित करें। बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व ने 6 महीने के लिए कामकाज की गाइडलाइन तय की है, इस बारे में भी मंत्रियों को जानकारी दी गई। यह डॉ. मोहन यादव कैबिनेट की दूसरी बैठक है। 13 दिसंबर को मुख्यमंत्री ने दोनों डिप्टी सीएम जगदीश देवड़ा और राजेंद्र शुक्ल के साथ पहली कैबिनेट मीटिंग की थी।  

नए मंत्रियों को दिए टिप्स 

पहली बार मंत्रीमंडल में चुनकर आए नए विधायकों को सीएम सहित कैबिनेट के वरिष्ठ नेताओं ने अपने विभाग को कैसे चलाना है। जनता के बीच कैसे सामंजस्य स्थापित करता है। अधिकारियों से योजनाओं को लेकर कैसे तालमेल बनाकर विकास के पथ पर आगे बढऩा है, इन सबके लिए माइनर प्रशिक्षण दिया गया। कैबिनेट में सभी वरिष्ठ नेता समय से पहुंच गए थे। सीएम मुख्यमंत्री से मिलने के बाद कैबिनेट में पहुंचे। इसके बाद कैबिनेट करीब पौन घंटे तक जारी रही। कैबिनेट खत्म होने के बाद प्रह्लाद पटेल, कैलाश विजयवर्गीय और राकेश सिंह ने सीएम के कक्ष में जाकर अलग से चर्चा की। 
x

Comments

Popular posts from this blog

उपहार की गर्मजोशी से खिले गरीबों के चेहरे

चर्चा का विषय बना नड्डा के बेटे का रिसेप्शन किट

लंका पर भारत की विराट जीत, सेमीफाइनल में पहुंचा