उपहार की गर्मजोशी से खिले गरीबों के चेहरे


जन सरोकार: ठंड से राहत के लिए जरूरत मंदों को किया कंबल का वितरण 
मदद फाउंडेशन द्वारा गरीबों, असहाय और निर्धनों के बीच खुशी लाने की कोशिश 

भोपाल। सच्चा कार्य वही हैं, जो समाज के हित को सर्वोपरि बना सके। इसलिए कहा जाता है कि समाज सेवा का मतलब तलवार की धार पर चलने का कार्य और यह कायरों का काम नहीं। जिंदगी में संघर्ष जरूरी हैं। मतलब की दुनिया में कौन किसका सोचता है, जो जैसा देखता है वो वैसा खोजता है। ये बात भले ही सच होगी, लेकिन आज भी दुनिया में ऐसे लोग है, जो अपने मतलब और स्वार्थ को पीछे छोड़ किसी और को खुश करने में जी जान से लगे हुए है। हम बात कर रहे है मदद फाउंडेशन की, जो न केवल किसी के चेहरे पर मुस्कान लाने का काम करती है, बल्कि किसी भी इंसान की जान बचने के लिए जहां तक कोशिश की जा सकती है, वहां तक उसका साथ नि:स्वार्थ भाव से साथ देती है। रक्तदान करवाना, किसी गरीब का इलाज करवाना, किसी की पढ़ाई में पैसे लगाना, किसी की छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी जरुरत को पूरा करना इत्यादि। राजधानी की संस्था मदद फाउंडेशन ने नववर्ष 2024 के उपलक्ष्य में एम्स अस्पताल के रैन बसेरा जाकर गरीबों को सर्दी से बचने के लिए कंबल वितरित किए गए, जिसे पाकर लोगों के चेहरे खुशी से खिल गए। इस अवसर पर मदद फाउंडेशन की अध्यक्ष सुनंदा पहाड़े और उनकी टीम मेंबर्स अपर्णा जोशी, सुवर्णा जवालकर, सीमा बांगड़े ने भी कंबल वितरित किए।  


जरूरतमंदों की हर सम्भव मदद हमारा प्रयास: सुनंदा पहाड़े 

मदद फाउंडेशन की अध्यक्ष श्रीमती सुनंदा पहाड़े ने कहा कि पिछले कुछ समय से कड़ाके की ठंड पड़ रही हैं। लोग गर्म कपड़ों में भी ठिठुरन महसूस कर रहे हैं। ऐसे में जिन लोगों के पास पर्याप्त कपड़े नहीं हैं, उनका ठंड से बुरा हाल हैं। इसके मद्देनजर ऐसे गरीब लोगों को ठंड से राहत दिलाने के लिए मदद फाउंडेशन की ओर से सैकड़ों कंबल बाटे जा रहें हैं। मदद फाउंडेशन की अध्यक्ष श्रीमती सुनंदा पहाड़े ने बताया कि फाउंडेशन द्वारा इससे पूर्व भी कई बार कंबलों का वितरण किया जा चुका हैं। उन्होंने कहाँ की जरूरतमंद को आगे भी ठंड से बचाने के लिए कंबल वितरण किए जाएंगे। श्रीमती सुनंदा पहाड़े ने बताया की हमारी इस संस्था का एक मात्र उदेश्य है कि समाज के निराश्रित एवं अंतिम पंक्ति के व्यक्ति को भी वह सुख सुविधाएँ पहुंचाने का प्रयास करना है, जिनसे अभी तक यह अछूता है। इन्ही बातों को आत्मसात करते हुए विभिन्न परिस्थितियों में भी हर जरूरतमंदों की हर सम्भव मदद करने का प्रयास संस्था द्वारा विगत वर्षों से किया जा रहा है। 

गरीब और असहायों की सेवा में जीवन की सार्थकता 

कंबल वितरण के दौरान मदद फाउंडेशन की टीम मेंबर्स एवं समाजसेवी अपर्णा जोशी ने कहा कि मनुष्य के जीवन की सार्थकता तब है, जब वह गरीब और असहायों की सेवा करे। सर्दी के इस मौसम में गरीबों को गर्म कपड़े वितरण करना सच्ची मानव सेवा है। यह कम्बल हर उस गरीब व बुजुर्गों के लिए जीवन दायिनी साबित होगा जिनके पास ठण्ड से बचने का और कोई उपाय नहीं है। मदद फाउंडेशन की टीम मेंबर्स एवं समाजसेवी सुवर्णा जवालकर ने कहा कि इस गलन भरी ठंड में कंबल वितरण से बड़ा पुनीत कार्य कुछ नहीं हो सकता। उन्होंनेे बताया कि यह कार्यक्रम आगे भी जारी रहेगा। मदद फाउंडेशन की टीम मेंबर्स एवं समाजसेवी सीमा बांगड़े ने कहा कि आश्रित व जरूरतमंद परिवारों को मुख्य धारा से जोडऩा, यही संस्था का मुख्य उद्देश्य है। सीमा बांगड़े ने कहा कि हर किसी को आगे आकर सर्दी से बचाव के लिए गरीबों की मदद करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि गरीब मजलूमों की मदद करना सबसे बड़े पुण्य का काम है और हम सभी का प्रयास होना चाहिए कि उनकी यथा सम्भव मदद करें। 

Comments

Popular posts from this blog

चर्चा का विषय बना नड्डा के बेटे का रिसेप्शन किट

लंका पर भारत की विराट जीत, सेमीफाइनल में पहुंचा