Posts

Showing posts from September, 2020

कोडिन्ही: जुड़वा बच्चों का गांव

Image
    दुनिया में कई तरह की अजीबोगरीब जगहें मौजूद हैं। लेकिन अगर हम आपसे ये कहें कि एक ऐसी भी जगह है जहां सिर्फ जुड़वां लोग पैदा होते हैं तो? शायद आपको विश्वास ना हो, लेकिन ऐसी जगह कहीं और नहीं, बल्कि इंडिया में ही मौजूद हैI  दरअसल, केरल के मलप्पुरम जिले में स्थित तिरुंगण्डी शहर के पास एक गांव है जिसका नाम है कोडिन्ही I आमतौर पर देखा जाता है देश में हर एक हजार पैदा होने वाले बच्चों में केवल 9 जुड़वां बच्चे होते हैं, जबकि यहां पर यह आंकड़ा 45 के ऊपर है। अक्टूबर 2016 में इस गांव में आकर देश-विदेश की कुछ संस्थाओं ने रिसर्च भी किया था, जिसमें सीएसआईआर- सेंटर फॉर सेल्यूलर एंड मॉलीक्यूलर बॉयोलॉजी हैदराबाद केरल विश्वविद्याल की फिशरीज ओशन एंड स्टडीज की टीम के साथ यूनिवर्सिटी ऑफ लंदन एंड जर्मनी के सदस्यों ने इस गांव का दौरा करके इस गांव के रहस्य को जानने और समझने की कोशिश की। इन लोगों ने अपने अनुसंधान यहां के लोगों के जुड़वां बच्चों के सलाइवा और बालों के सैंपल भी इकट्ठा किया थे और इस पर शोध कार्य भी कर रहे हैं। भारत के केरल प्रांत में स्थित इस मुस्लिम बहुल गांव की कुल आबादी 2000 है। इनमें से 25

गंगाराम को भूमिहीन बनाने में तुले तहसीलदार एवं पटवारी

Image
-40 साल पुराने कब्जे को रसूख के बल पर अवैध साबित करने की कोशिश, ताक पर नियम कायदे भोपाल। आजादी के 73 साल बाद भी राजस्व महकमे में तत्कालीन ब्रिटिश सरकार की तरह अंग्रेजों का जंगलराज कायम है। हालत यह है कि पटवारी से लेकर राजस्व निरीक्षक  एवं तहसीलदार कब किसे भूमि स्वामी बता दे और कब किसे अवैध कब्जाधारी बता दें कुछ कहा नहीं जा सकता। राजस्व अफसरों की इसी मनमानी का शिकार प्रदेश के रायसेन जिले की गौहरगंज तहसील का एक किसान गंगाराम इन दिनों अपनी ही जमीन से बेदखल हो न्याय की गुहार लगाये गौहरगंज से लेकर राजधानी भोपाल तक राजस्व विभाग के बड़े अफसरों से लेकर मंत्री, मुख्यमंत्री तक न्याय की उम्मीद में यहां गलियों की खाख छान रहे हैं।   इस सम्बंध में सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार रायसेन जिले गौहरगंज तहसील के ग्राम घाटखेड़ी निवासी गंगाराम के सिर पर मानो मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा जो। मुसीबत भी ऐसी की कुछ सूझ भी नहीं रहा है। दरअसल राजस्व विभा के अफसरों ने गंगाराम के साथ जो षड़यंत्र रच दिया है वह उन्हें दर-दर भटकने के लिए पर्याप्त है। गौहरगंज की राजस्व निरीक्षक शुभा मरकाम एवं तहसीलदार संतोष बिठौरिया, जिन

डाइबिटीज से कमजोर हो सकती है याददाश्त

Image
इंदौर । यदि आप युवा है और सामान्य रूप से चीजे भूलने लगे है तो हो सकता है, यह समस्या डायबिटीज की कारण हो। यह बात हाल ही में यूरोपियन सोसायटी ऑफ इंडोक्रिनोलॉजी में चयनित शोध पत्र में सामने आई। इस शोध की खास बात यह है की इसे इंदौर के ख्यात डॉक्टर भरत साबू ने मालवा क्षेत्र के युवाओं पर ही किया है। चेक रिपब्लिक में आयोजित होने वाली विश्व की सबसे बड़ी ऐंडोक्रोनोलॉजी कॉन्फ्रेंस में डॉ भरत साबू के तीन शोध पत्र चयनित किये गए है। संभवतः यह पहला मौका है जब शुगर जैसी बीमारी के चिकित्सकीय पक्ष के साथ उसके सामाजिक और व्यवहारिक पक्ष को किसी पेशेवर विशेषज्ञ ने इस तरह प्रस्तुत किया है। प्रतिष्ठित कॉन्फ्रेंस में चयन होने वाले पहले शोध पत्र में डॉक्टर साबू ने पाया कि डाइबिटीज के युवा रोगियों में भूलने की समस्या जल्दी सामने आ जाती है। यदि समय रहते इस समस्या की पहचान कर ली जाए तो रोगी को भविष्य के दुष्परिणाम से बचाया जा सकता है। स्मरण शक्ति का ह्रास और शुगर की बीमारी के परस्पर प्रभावों का यह अनूठा शोध विश्व भर में सराहा जा रहा है। डॉ साबू के इस शोध निष्कर्ष को डाइबिटीज शोध के क्षेत्र में सर्वाधिक प्रतिष्ठि

सुरखी क्षेत्र की हर बहन आत्मनिर्भर बने : गोविंद सिंह  राजपूत

Image
सिहोरा में स्वसहायता समूहों के कार्यक्रम में शामिल हुए राजस्व एवं परिवहन मंत्री, समूहों को करोड़ों के ऋण वितरित किए   भोपाल। प्रदेश के परिवहन एवं राजस्व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा है कि हम चाहते हैं कि सुरखी क्षेत्र की हर बहन अब आत्मनिर्भर बनें । मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक बड़ी कल्पना है, इसे हमेशा हम सबको मिलकर साकार करना है । मंत्री श्री राजपूत राहतगढ़ विकासखंड के ग्राम पंचायत सिहोरा में ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत आयोजित स्व सहायता समूह के ऋण वितरण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने कहा कि आज बुंदेलखंड की महिलाएं घर की चारदीवारी से बाहर निकल रही हैं अब यह देखकर मुझे बड़ी प्रसन्नता होती है । उन्होंने कहा कि आज से 20 साल पहले यही महिलाएं घर की दहलीज के बाहर कदम नहीं रखती थी पर आज पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर कार्य कर रही हैं । उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि हमारी बहने आर्थिक रूप से सबल बने । भाजपा सरकार की जन हितैषी योजनाओं का जिक्र करते हुए परिवहन एवं राजस्व मंत्री श्री राजपूत

धान की खड़ी फसल के बीच दूसरे को दिला रहे कब्जा

Image
- नहीं लग पा रहा है राजस्व विभाग के अफसरों पर अंकुश भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की लाख कोशिशों के बाद भी राजस्व विभाग के अफसरों की मनमर्जी कम होने का नाम नहीं ले रही है। राजधानी से लगे हुए रायसेन जिले में अक्सर इस तरह की मनमानी सामने आने लगी है। हालत यह है कि राजस्व विभाग के अफसरों के लिए यह जिला चारागाह बन गया है। ताजा मामला रायसेन जिले के गौहरगंज तहसील का सामने आया है जहां नियम कायदों की धज्जियां उड़ाते हुए राजस्व निरीक्षक एवं तहसीलदार ने एक निरीह किसान की है। इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार राजस्व सम्भाग भोपाल के आयुक्त को दिए एक शिकायती आवेदन में रायसेन जिले के घाटखेड़ी थाना ग्राम के तहसील गौहरगंज के निवासी गंगाराम पिता रामकिशन मीणा ने लेख किया है कि उनकी पुस्तैनी जमीन पर बोई धान की खड़ी फसल का कब्जा राजस्व निरीक्षक शुभा मरकाम एवं तहसीलदार संतोष बिठौरिया ने एक राय होकर षड़यंत्रपूर्वक एक पक्षीय सीमांकन करके अरविंद जैन एवं देवेंद्र जैन को दिला दिया। इस मामले में राजस्व अफसरों ने रुपयों के खातिर अपने गिरेबान के साथ विभाग के नियम कायदे भी रसूखदारों के पास गिरवी रख दिये। दरअ