भोपाल ही अब मेरी राजनीतिक कर्मभूमि रहेगी : दिग्विजय


प्रदेश सरकार की मदद से पूरा कर रहे हैं भोपाल के विकास का विज़न


भोपाल। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि भोपाल ही अब मेरा कार्य क्षेत्र भोपाल ही रहेगा, मैंने भोपाल की वोटर लिस्ट में नाम जुड़वाने की प्रक्रिया भी शुरू करा दी है। उन्होंने कहा कि वे भोपाल के लिए अपना विज़न डॉक्यूमेंट प्रदेश सरकार की मदद से पूरा करेंगे। भोपाल-विजन के अनेकों प्रस्तावों का क्रियान्वयन जारी है। सिंह राजधनी में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। भोपाल संसदीय क्षेत्र में प्लांड रोड नेटवर्क डेवेलप करने की दिशा में काम हो रहा है, ओल्ड सिटी में बहुत काम की ज़रूरत है जिसे प्रदेश सरकार की मदद से पूरा किया जाएगा। सिंह ने कहा कि भोपाल देश का दिल है, इसलिए यहां लॉजिस्टिक हब बनाने के प्रयास जारी हैं, इसके लिए उनकी मुख्यमंत्री कमलनाथ से चर्चा चल रही है। श्री सिंह ने कहा कि मोहल्ला क्लिनिक के लिए पायलट प्रोजेक्ट भोपाल से शुरू होगा। भोपाल के बड़े तालाब को केंद्र बिंदु बनाकर डेवलपमेंट प्लान बनाया जा रहा है, इसके लिए लेक प्रोटेकशन बिल भी लाया जा रहा है। मास्टर प्लान न होने की वजह से सैकडों अवैध कॉलोनी बन गयी है, अनियोजित विकास हुआ है। भोपाल विकास योजना 2031 इसी वर्ष लागू करने की कोशिस है। विकसित हो चुकी नियमित कॉलोनियों को अब निगम द्वारा रख-रखाव के लिये टेकओवर किया जाएगा। सिंह ने कहा कि जनता ने भले ही मुझे समर्थन न दिया हो लेकिन मैं भोपाल के विकास के लिए हर क्षेत्र में काम करूंगा। उन्होंने कहा कि बरखेड़ा नाथू में 50 एकड़ जमीन पर इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम बनाया जाएगा, जिससे पूरे विश्व में भोपाल की अलग पहचान बनेगी। भोपाल को देश का स्पोर्ट्स हब बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि भोपाल को कल्चरल हब बनाए जाने की दिशा में कार्य किया जाएगा जिसमें साहित्य में योगदान देने वाले पत्रकारों को शामिल किया जाएगा। पढ़ाई और कमाई एक साथ हो इसलिए भोपाल शहर को एजुकेशन हब के तौर पर भी विकसित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के बजट में बेरोजगारी के लिए कुछ नहीं, यह निराशाजनक बात है। एमपी नगर में बढ़ती व्यवसायिक गतिविधियों को देखते हुए छात्रों की सुविधा को ध्यान में रखकर शहर मे ही लगभग 10 एकड़ ज़मीन पर कोचिंग सेंटर्स हब और होस्टल आदि विकसित किए जाएंगे। दिग्विजय सिंह ने कहा कि वे अपनी टीम के साथ भोपाल के सुसंगत और सुनियोजित विकास की विस्तृत कार्य योजना बना रहे हैं जिसे वे प्रदेश सरकार के मदद से हरसंभव प्रयास कर पूरा करेंगे।


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन