जनता में विश्वास जगाएं और अपराधियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करें


गृह मंत्री द्वारा भोपाल संभाग की कानून-व्यवस्था एवं अपराध नियंत्रण की समीक्षा


भोपाल । गृह एवं जेल मंत्री बाला बच्चन ने कहा है कि पुलिस जनता में विश्वास जगाए तथा अपराधियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करे। अपराधियों में पुलिस का खौफ बना रहे। उन्होंने कहा कि थाना स्तर पर जनता की छोटी-छोटी समस्याओं को ध्यान से सुनकर उनका निराकरण किस विभाग द्वारा किया जायेगा, की जानकारी दे। बच्चन भोपाल पुलिस कंट्रोल-रूम में भोपाल संभाग की कानून-व्यवस्था और अपराध नियंत्रण की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में आईजी योगेश देशमुख, डीआईजी इरशाद वली, डीआईजी ग्रामीण डॉ. आशीष, एसपी नार्थ शैलेन्द्र सिंह चौहान, एसपी साउथ सम्पत उपाध्याय, एसपी मिथिलेश शुक्ला, एसपी अजाक सुश्री ज्योति ठाकुर, एसपी विदिशा विनायक वर्मा, एसपी सीहोर सचिन्द्र चौहान, एएसपी राजगढ़ नवल सिसोदिया, उपस्थित थे।
बच्चन ने कहा कि लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिये आईजी के साथ मिलकर एसपी प्रयास करें। कठिनाई आने पर सरकार को अवगत करवायें। उन्होंने कहा कि पुलिस की सुविधाओं, संसाधनों में वृद्धि या आवश्यक जरूरतों का प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करें। बच्चन ने कहा कि पुलिस जनता से संवाद बनाकर उचित वातावरण प्रदान करे। उन्होंने कहा कि संभावित घटनाओं के प्रति सचेत रहें। गुप्त रिपोर्ट के अनुसार तत्काल कार्रवाई भी करें। उन्होंने कहा कि पुलिस आवास और पुलिस बल में वृद्धि की जायेगी। आधुनिक कम्प्यूटराइज्ड वाहन देने का प्रयास भी किया जायेगा। बच्चन ने बताया कि मुख्यमंत्री कमल नाथ ने केन्द्रीय गृह मंत्री से साइबर अपराध नियंत्रण के उद्देश्य से 880 करोड़ रुपये की माँग की है।


पुलिस सूचना तंत्र मजबूत करें


गृह मंत्री बच्चन ने निर्देश दिये कि पुलिस अपना सूचना तंत्र मजबूत रखे। आपराधिक सोच के व्यक्तियों, भू-माफिया और साम्प्रदायिक हिंसा फैलाने वालों सहित झूठे फरियादी पर कड़ी नजर रखे। छोटी-सी घटना पर त्वरित कार्रवाई करे। उन्होंने कहा कि आपराधिक प्रवृत्ति और अवैध कारोबार करने वालों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई के साथ ही, अवैध कारोबार छोड़ने वालों के नये कारोबार पर भी नजर रखी जाये।


अभिवावकों को कर रहे जागरूक


बैठक में बताया गया कि भोपाल में पिछले एक माह से सभी स्लम एरिया में जाकर पालकों को जागरूक किया जा रहा है। इसमें सीएसपी, टीआई द्वारा एनजीओ के साथ मिलकर बच्चों और महिलाओं के विरुद्ध होने वाली दुर्घटनाओं के प्रति सतर्कता के बारे में बताया जा रहा है। इस प्रयास से भी अपराधों में कमी आयेगी। परिवारों को विखण्डित होने से बचाने में परिवार परामर्श केन्द्र भी अच्छा काम कर रहे हैं।


समग्र अपराधों में आई कमीं


समीक्षा बैठक में पुलिस अफसरों ने जानकारी दी कि समग्र में अपराधों में कमी आयी है। बैठक में महिलाओं-बच्चों से संबंधित अपराध, लंबित गंभीर अपराध, अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार, ट्रेफिक व्यवस्था, सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट आदि पर भी चर्चा हुई। राजस्व और खनिज के प्रकरणों में पुलिस कार्यवाही में संबंधित विभाग की मदद की आवश्यकता बतायी गयी।


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन