कमलनाथ सरकार का पहला बजट पूरी तरह जनहितैषी : सलूजा


प्रदेश को बीमारु राज्य से निकालकर विकास की एक
नई इबारत लिखेगा


भोपाल । मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने बताया कि कमलनाथ सरकार का आज पेश पहला दो लाख 33 हजार करोड़ का बजट पूरी तरह से जनहितैषी होकर आमजन को समर्पित है।
सलूजा ने बताया कि इस बजट में किसानों के लिए कृषक बंधु योजना सहित उनसे संवाद के लिए कृषि सलाहकार परिषद के गठन का ऐतिहासिक निर्णय लिया गया है। उन्नत खेती के लिए किसानों को ट्रेनिंग देने का निर्णय भी इस बजट में लिया गया है। नये रोजगार सृजन को लेकर कई ठोस प्रावधान इस बजट में किए गए हैं। पूर्व की सरकार द्वारा छोड़ी गयी प्रदेश की डांवाडोल आर्थिक स्थिति के बावजूद कोई नया कर नहीं लगा कर ऐतिहासिक कदम उठाया गया है। सलूजा ने बताया कि गौशाला निर्माण के साथ-साथ राम वनगमन पथ के निर्माण को लेकर भी राशि का प्रावधान इस बजट में किया गया है। नौ नगर निगमों को आदर्श शहर बनाने का प्रावधान कर विकास की एक इबारत लिखने का काम इस बजट में किया गया है। शिक्षा व स्वास्थ्य को लेकर कई उल्लेखनीय प्रावधान इस बजट में किये गये है। हज कमेटी व वक्फबोर्ड का अनुदान बढ़ाने का निर्णय भी इस बजट में लिया गया है। सलूजा ने बताया है कि कुपोषण दूर करने के लिए 9 जिलों में पायलट प्रोजेक्ट का प्रावधान इस बजट में किया गया है। ''राइट टू वाटर'' सहित जल संरक्षण के लिए नदी पुर्नजीवन कार्यक्रम का प्रावधान इस बजट में किया गया है। सड़कों के निर्माण सहित भोपाल-इंदौर एक्सप्रेस वे के निर्माण को लेकर इस बजट में प्रावधान किए गए हैं। खेलकूद को बढ़ावा देने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर की स्विमिंग व फुटबाॅल एकेडमी की स्थापना का निर्णय लिया गया है।
सलूजा ने बताया कि आदिवासी वर्ग, अनुसूचित जाति व जनजाति वर्ग, पिछड़ा वर्ग, आदिवासी वर्ग, अल्पसंख्यक वर्ग के हित को लेकर कई प्रावधान इस बजट में किए गए हैं। महिला सशक्तिकरण के लिए कई ठोस प्रावधान इस बजट में किए गए हैं। प्रदेश के खानपान को विश्व की पहचान बनाने के लिए भी प्रावधान इस बजट में किए गए हैं। कुल मिलाकर यह बजट पूरी तरह से जनहितैषी होकर आमजन को समर्पित है। इसमें समाज के सभी वर्गों का ध्यान रखा गया है।


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन