मप्र में तलाशी जाएंगी मेडिकल टूरिज्म की संभावनाएं


डॉ विजयलक्ष्मी साधौ की अध्यक्षता में मध्यप्रदेश-सह-चिकित्सीय परिषद की बैठक संपन्न

भोपाल । चिकित्सा शिक्षा मंत्री एवं मध्यप्रदेश-सह-चिकित्सीय परिषद की पदेन अध्यक्ष डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने कहा है कि मध्यप्रदेश में मेडिकल टूरिज्म की संभावनाएँ तलाशी जायें। डॉ. साधौ ने आज परिषद की 21वीं बैठक में पैरामेडिकल पाठ्यक्रमों के लिये पंजीयन शुल्क में 5 प्रतिशत वृद्धि के निर्णय को अमान्य करते हुए इस बार वृद्धि नहीं करने का निर्णय लिया। मंत्री ने निर्देश दिये कि बच्चों को छात्रवृत्ति समय पर देने के प्रयास किये जायें। उन्होंने एम्स के पास चिन्हित भूमि पर परिषद का नया भवन बनाने की शुरूआत करने को कहा। परिषद द्वारा आयोजित परीक्षाओं की अवार्ड शीट, प्रायोगिक परीक्षा वेल्यूएशन शीट, उत्तर-पुस्तिकाओं की स्केनिंग का कार्य एम.पी. ऑनलाइन के माध्यम से करवाने का निर्णय लिया गया। स्वीकृत पदों को संविदा के माध्यम से भरने संबंधी नस्ती को पुन: अनुमोदन के लिये भेजने के निर्देश दिये गये। परिषद के निर्वाचित सदस्यों के चुनाव के लिये ऑनलाइन प्रक्रिया अपनायी जायेगी। परिषद संचालक की अध्यक्षता में गठित पंजीयन समिति की बैठक में पंजीयन संबंधी निर्णयों और आयुक्त आयुष की अध्यक्षता में गठित परीक्षा मण्डल की बैठक के निर्णयों का अनुमोदन किया गया। मान्यता प्राप्त पैरामेडिकल पाठ्यक्रम संचालित करने वाली संस्थाओं पर चर्चा के दौरान संस्थाओं की निरीक्षण समिति के गठन की भी अनुमति दी गयी। निरीक्षण समिति को भौतिक सत्यापन करवाने के लिये अर्द्ध-शासकीय पत्र लिखने को भी कहा गया। पैरामेडिकल प्रमाण-पत्र पंचकर्म टेक्नीशियन कोर्स अभी निरंतर रखने और परिषद कार्यालय में कार्यरत कर्मचारियों को अवकाश के दिनों का अतिरिक्त पारिश्रमिक देने के निर्णय लिये गये। संस्थाओं द्वारा अनियमितता किये जाने पर सुरक्षा-निधि के लिये जमा राशि को राजसात करने का निर्णय लिया गया। कमेटी बनाकर नये कोर्स शुरू करने पर विचार-विमर्श किया जायेगा। बैठक में चिकित्सा शिक्षा आयुक्त निशांत वरवड़े, आयुष कमिश्नर एस.के. झा, संचालक डॉ. उल्का श्रीवास्तव, रजिस्ट्रार डॉ. पूजा शुक्ला सहित परिषद के सदस्य उपस्थित थे।


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन