विवि की समस्याओं को लेकर एनएसयूआई ने सौंपा ज्ञापन


राज्यपाल पर देवी अहिल्या विवि में कुलपति नियुक्ति में देरी का आरोप


भोपाल । इंदौर में देवी अहिल्या विवि में कुलपति न होने से प्रभावित हो रहे विश्विद्यालय के काम-काज के कारण जल्द कुलपति नियुक्ति करने की मांग को लेकर एनएसयूआई के प्रदेश प्रवक्ता विवेक त्रिपाठी के नेतृत्व में एनएसयूआई के सैंकड़ों कार्यकर्ताओं ने राजभवन जाकर ज्ञापन सौंपा। इस सम्बंध में विवेक त्रिपाठी ने बताया कि देवी अहिल्या विवि के कुलपति नरेंद्र धाकड़ द्वारा विवि में व्यापत अनिमयताओ, फर्जी नियुक्तियां एवं भ्रष्टाचार के चलते मप्र की कांग्रेस सरकार को धारा 52 की कार्रवाई करनी पड़ी। साथ ही वर्तमान में विवि एवं महाविद्यालय में चल रही प्रवेश प्रक्रिया बाधित न हो इसलिए जैसी पूर्व में प्रक्रिया रही, शासन द्वारा प्रभारी कुलपति बनाये जाने के लिए सूचीबद्ध नाम राजभवन भेजे गए परन्तु महामहिम राज्यपाल दुर्भावना से ग्रसित हो कर मप्र के विवि को राजनीति का अखाड़ा बनाने पर तुली है। त्रिपाठी ने कहा कि लगता है उनकी नजर में सिर्फ वो ही व्यक्ति कुलपति के लिए सक्षम है जिसके पास नागपुर या दिल्ली की एनओसी पत्र है। मैडम की हठधर्मिता के चलते इंदौर विवि की प्रवेश परीक्षा सीईटी में सम्मिलित 17,000 छात्र अपने प्रवेश को लेकर चिंतित है, परन्तु राजभवन से कोई राहत न मिलती देख अन्य राज्यों की ओर पलायन कर रहे हैं, जिससे मप्र की छवि धूमिल हो रही है । कुलपति न होने की वजह से उत्तीर्ण हो चुके छात्रों को डिग्री तक उपलब्ध नहीं हो पा रही है। इन सभी समस्यों के समाधान हेतु एनएसयूआई ने राजभवन को ज्ञापन सौंपा।


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन