आशा कार्यकर्ता संगठन ने कोरोना वायरस भगाने का झंडा गाड़ा


-संकट की घड़ी में आशा कार्यकर्ता व सहयोगिनी सरकार के साथ


भोपाल। मध्यप्रदेश में आशा कार्यकर्ता व सहयोगिनी अपनी जान पर खेलकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी हैं। यह कहना है मप्र आशा कार्यकर्ता व सहयोगिनी संगठन की प्रदेश अध्यक्ष विभा श्रीवास्तव का। मध्यप्रदेश आशा उषा कार्यकर्ता संगठन की प्रदेश अध्यक्ष विभा श्रीवास्तव ने सभी आशा कार्यकर्ता एवं सहयोगी बहनों से और संगठन के माध्यम से सभी जिलाध्यक्ष एवं ब्लॉक अध्यक्षों से कहा है कि किसी भी परिस्थिति में हमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का साथ देना है और प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान का साथ देना है। श्रीमती श्रीवास्तव ने कहा कि क्योंकि यह विकट संकट की घड़ी है इसलिए मप्र आशा कार्यकर्ता व सहयोगिनी संगठन की सभी जिला अध्यक्ष और ब्लॉक अध्यक्ष जिससे भी जो सेवा बन रही है वह कर रही हैं और खुद से मास्क बनाकर भी लोगों को वितरित कर रही हैं। 


डर से दूर कर्तव्य पर फोकस


श्रीमती श्रीवास्तव ने बताया कि इतना ही नहीं सभी आशा कार्यकर्ता व सहयोगिनी घर-घर जाकर सर्वे कर रही हैं तथा रजिस्टर बना रही हैं, जिसमें बाहर के आए हुए व्यक्ति की लिस्ट बनाकर स्वास्थ्य विभाग को इंट्री करा रही हैं। किसी को सर्दी जुखाम अगर होता है तो वह तुरंत दवा दे रही हैं। भोपाल की जिलाध्यक्ष कविता सैनी के द्वारा मास्क बनाए हैं वह लोगों को बांटे गए हैं। 


सम्पूर्ण टीम की भागीदारी


इस कार्य में सहयोग करने वालों जिला अध्यक्षों में भोपाल जिला अध्यक्ष कविता सैनी, रतलाम जिला अध्यक्ष पूनम दायमा, खरगोन में रेखा अंसॉरी छिंदवाड़ा में उर्मिला भादे, सीहोर में क्षमा शर्मा, बालाघाट में सुशीला वटी, मंदसौर में श्याम सनावत, विदिशा में विनीता शर्मा, अशोकनगर जिले में शिल्पा शर्मा, खंडवा में पुष्पा निमोली के द्वारा सभी को प्रेरित करके कोरोना वायरस की रोकथाम की गई। इसके अलावा जिनके पास मास्क नहीं थे अपने हाथों से मास्क बनाकर वितरित किया। 

इनका कहना है:-
-प्रदेश सरकार ने हम पर जो भरोसा जताया है, हम उस पर खरा उतरने का पूरा प्रयास का रहे हैं। 



विभा श्रीवास्तव
अध्यक्ष
मप्र आशा कार्यकर्ता व सहयोगिनी संगठन 


 


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन