आकाश में शेर को देखिये आज ही: सारिका घारू


भोपाल। नेशनल पार्क में शेर से साक्षात्कार की इच्छा से की जाने वाली जंगल सफारी लॉकडाउन 4 में भी बंद ही है ऐसे में अपने आंगन या छत से स्काई सफारी कर शेर की आकृति के तारामंडल से साक्षात्कार तो कर ही सकते हैं। नेशनल अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने बताया कि इस महीने की हर  शाम 7 से 9 के बीच ठीक सिर के उपर आकाश में सिहं या लियो तारामंडल के दर्शन किये जा सकते हैं। सारिका ने बताया कि हमारे पूर्व खगोलविदे ने आकाश में तारों के समूह की स्थाई संरचना की कल्पना किसी जीव या वस्तु से कर उन्हे 12 राशि तारामंडल का नाम दिया। भारतीय खगोलविदें ने राशि तारामंडल में स्थित कुछ तारों को 27 नक्षत्रों का नाम दिया। 12 राशि तारामंडल में से पांचवा तारामंडल सिंह या लियो  इस समय शाम को दिखाई दे रहा है। इस तारामंडल के दक्षिण भाग वाले दो तारे काल्पनिक सिंह के पैर तथा पूंछ का सिरा हैं। उत्तर भाग वाले दो तारों से सिंह की पीठ की कल्पना की गई थी। सिंह के गर्दन को बनाने वाले तारे भी देखे जा सकेगे। इस तारामंडल में मघा, पूर्वा फाल्गुनी तथा उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र को भी पहचाना जा सकता है। आकाश में उडऩे वाले पक्षियों को तो देखते ही है इस माह की हर शाम आकाषीय सिंह तारामंडल से कीजिये साक्षात्कार और बढ़ाइये अपना खगोल विज्ञान का ज्ञान। सारिका घारू ने इसमें स्थित तीन नक्षत्रों की जानकारी दी। मघा: इसे रेगुलस या अल्फा लियोनिस भी कहते हैं। यह सिंह तारामंडल का सबसे चमकदार तारों का समूह है।  इसके प्रकाष को हम तक पहुंचने में लगभग 78 साल लगते हैं। उत्तरा फाल्गुनी: इसे डेनेबोला या बीटा लियोनिस कहते हैं। यह सिंह तारामंडल का दूसरा चमकदार तारा है । इसके प्रकाष को हम तक आने में 36 साल लगते हैं। पूर्वा फाल्गुनी: यह 11 वां नक्षत्र है। इसका प्रकाश यहां आने में 58 साल लगते हैं। इसे डेल्टा लियोनिस कहते है। अभी आकाश में चंद्रमा नहीं है। इस सप्ताह हंसियाकार ही रहेगा। ऐसे में इस तारामंडल को और अच्छे से देखा जा सकता है।



Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन