एमपी में भी महिला उत्पीडन चरम पर, बर्दाश्त नहीं करेगी जनता : अनुपमा सिंह


भोपाल । जनता कांग्रेस महिला मोर्चा की मध्यप्रदेश प्रभारी अनुपमा सिंह ने आज राजधानी मुख्यालय से सरकार पर कटाक्ष किया कि खरगोन, सतना, जबलपुर के बाद अब नरसिंहपुर के चिचली थाना के अंतर्गत एक गाँव में एक दलित महिला से गैंगरेप की घटना होने पर पीड़िता की कोई सुनवाई नहीं हुई, उल्टा पीड़िता के परिजनो को ही प्रताड़ित करने की बात सामने आयी है। मजबूरीवश पीड़िता ने अपनी जान दे दी। मध्यप्रदेश में ये कैसी क़ानून व्यवस्था है ? दोषियों पर कार्यवाही क्यों नहीं होती ? ज़िम्मेदार इन घटनाओं पर मौन क्यों हैं ? हालांकि घटना के हल्ले के बाद तीन दिन पश्चात दोषी एएसपी /डीएसपी जरूर हटा दिये गये लेकिन यह बात भी सत्य है कि मामा सरकार वाली मध्यप्रदेश पुलिस महिला फरियादीयों पर अत्याचार के लिए पहचानी जाने लगी है ! भ्रष्टाचारी अधिकारियों की कितनी ही शिकायतें प्रदेश भर के अधिकारियों की मेजों पर जांच के बहाने टाईम पास कर रही हैं आखिर यह क्या है ?



जनता कांग्रेस की राष्ट्रीय सचिव एवं महिला मोर्चा मप्र प्रभारी अनुपमा सिंह ने कहा कि बस अब बहुत हो गया है । हमारी इस सरकार को यह चेतावनी है कि वे अपने लॉ एंड आर्डर पालन व्यवस्था में सुधार लाकर महिलाओं की सुरक्षा पर ध्यान दें अन्यथा जनता जनार्दन से बड़ा इस लोकतंत्र में कोई नहीं होता यह बात सरकार ना भूलें ।
जनता कांग्रेस द्वारा महिला सहायता हैल्पलाईन का उपयोग प्रदेश की महिलाएं करें जहां हमारे द्वारा पीड़ितों को निःशुल्क परामर्श एवं कानूनी सहायताएं उपलब्ध करायी जायेंगी।
महिला सहायता हैल्पलाईन : 7869448365,, 9926358107



 


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन