कलाम होते तो मास्क पहनते...


भोपाल में अनूठे अंदाज में मनी डाॅ. कलाम की 89वीं जयंती
-सर्च एंड रिसर्च डवपलमेंट सोसायटी ने मनाई डाॅ. कलाम की जयंती

भोपाल। मिसाइल मेन, पूर्व राष्ट्रपति और भारत रत्न डाॅ. एपीजे अब्दुल कलाम की 89वीं जयंती को राजधानी में आज अनूठे अंदाज में मनाया गया है। विज्ञान प्रसार और उद्यमिता के क्षेत्र में कार्य करने वाली सामाजिक संस्था सर्च एंड रिसर्च डवलमेंट के सदस्यों ने डाॅ. कलाम के चित्र पर मास्क लगाते हुए संदेश दिया कि यदि आज वे जीवित होते हो, वे भी मास्क पहनते। सभी जरूरी सावधानियां बरतते तथा कोरोना से बचाव के प्रोटोकाॅल का पूरी तरह पालन करते। रोशनपुरा चैराहे पर सोसायटी के सदस्यों ने बिना मास्क लगाए घर से निकल लोगों को मास्क वितरित किए।
सोसायटी की चेयरपर्सन अध्यक्ष डा. मोनिका जैन ने बताया पूर्व राष्ट्रपति डाॅ. कलाम पूरे देश के लिए आइडियल हैं। उनका व्यक्तित्व और कृतित्व बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक को प्रेरित करता है। वे बच्चों और युवाओं के सबसे बीच ज्यादा लोकप्रिय थे, इसलिए डाॅ. कलाम को अपना आइडियल मानने वाले तथा उनके सभी प्रशंसकों को मौजूदा दौर में मास्क के महत्व को समझना चाहिए। उन्हें खुद भी मास्क पहनना चाहिए और दूसरे लोगों को भी प्रेरित करना चाहिए। डाॅ. जैन ने बताया कि कोविड-19 को देखते हुए बड़े आयोजन करना जौखिम है और डाॅ. कलाम ने अनेक अवसरों पर कहा कि जागरूकता किसी भी समस्या से निपटने का सबसे कारगर उपाय है। इसलिए डाॅ. कलाम की जयंती को सांकेतिक रूप मनाकर लोगों से मास्क पहनने और दो गज की दूरी के नियम का पालन करने का संदेश देने का प्रयास किया गया है। डाॅ. जैन ने कहा उम्मीद जताई कि जब तक कोेरोना वायरस की वैक्सीन तैयार नहीं हो जाती, तब तक मास्क ही वैक्सीन के सूत्रवाक्य को अपनाते हुए सभी मास्क का उपयोग करेंगे और लोगों को भी प्रेरित करेंगे।
डाॅ. जैन ने बताया कि 12 दिसंबर 2012 को डाॅ. एपीजे अब्दुल कलाम सर्च एंड रिसर्च डवपलमेंट सोसायटी के आमंत्रण पर भोपाल पधारे थे। सोसायटी द्वारा समन्वय में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने स्कूल और काॅलेज के विद्यार्थियों के साथ्ज्ञ संवाद किया था। डाॅ. कलाम ने सोसायटी के सदस्यों को जन सामान्य में वैज्ञानिक चेतना के विकास, विज्ञान प्रसार, गांवों की समृद्धि, पर्यावरण की सुरक्षा और युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में कार्य करने का संकल्प दिलाया था।
मास्क वितरण के दौरान सोसायटी के उपाध्यक्ष डाॅ. राजीव जैन, सचिव डाॅ. अनिल, दीपा सेन, रवि कुशवाह, प्रियंक जैन, नेहा सोनी, मेघा नामदेव, हिमांषु सोनी, रेणू जैन सोसायटी के सदस्य और गणमान्य नागरिक मौजूद थे।


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन