मंगल को होगा मंगल से सामना: सारिका घारू


नजदीकी मंगल के साथ देखें, नजदीकियां बढ़ाते शनि और गुरू को

भोपाल । वैवाहिक मंत्र शुभ मंगल सावधान, इस सप्ताह खगोल विज्ञान में रूचि रखने वालो की जानकारी के लिये खास है क्योंकि आगामी मंगलवार 13 अक्टूबर को मंगल पृथ्वी और सूर्य एक सीध में आ रहे है। इस समय शाम के समय जब पश्चिम में सूर्य अस्त हो रहा होगा तो पूर्व में मंगल उदित हो रहा होगा। इस समय सबसे नजदीक होने के कारण यह बड़ा एवं स्पष्ट दिखाई देगा। नेशनल अवार्ड प्राप्त विज्ञान प्रसारक सारिका घारू ने बताया कि इस खगोलीय घटना को मार्स एट अपोजिशन कहा जाता है।
सारिका ने जानकारी दी कि इस सप्ताह मंगल की पृथ्वी से दूरी भी दूरी घटकर लगभग 6 करोड़ 20 लाख किमी (62070493 किमी) रह गई है। अब इससे कम दूरी के लिये 11 सितंबर 2035 का इंतजार करना होगा जब यह दूरी 5 करोड़ 69 लाख किमी रहेगी। सारिका ने बताया कि मंगल का पास आना और मंगल का सीध में आना दो अलग अलग घटनायें होती हैं। इस बार 6 अक्टूबर को मंगल पृथ्वी के सबसे पास आया लेकिन 13 अक्टूबर को मंगल, पृथ्वी और सूर्य एक सीध में होंगे।
सारिका ने बताया कि मंगल और पृथ्वी हर 26 माह बाद एक दूसरे के पास आ जाते हैं। दोनो ग्रहों के अंडाकार पथ में घूमने के कारण तथा पृथ्वी और मंगल की कक्षा कुछ डिग्री से झुकी होने के कारण इस दूरी का मान घटता -बढ़ता रहता है। 2003 में हम मंगल के जितने नजदीक थे उतनी नजदीकी तो अब 2287 में आ पायेगी। हर दो साल में आने वाली नजदीकी के समय मंगल पर अंतरिक्ष अभियान भेजने का सबसे अच्छा समय होता है। नासा का पर्सेवेरेन्स रोवर मंगल की यात्रा पर है जो कि फरवरी 2021 में मंगल पर उतरेगा। इसके अलावा यूएई और चीन के भी अंतरिक्षयान मंगल की यात्रा कर रहे हेैं।
इस समय आकाश में 20 साल बाद गुरू और शनि भी अपनी नजदीकियां बढ़ा रहे हैं इसलिये शाम के आकाश में जब आप सिर उठा कर उपर देखेंगे तो चमकता गुरू और उसके साथ जोड़ी बनाता शनि दिखेगा । इसके साथ ही पूर्व दिशा में लालिमा के साथ तेज चमकता नजदीकी मंगल का दीदार होगा। चंद्रमा भी इस समय देर रात को उदित होगा इसलिये उसकी चमक भी इन्हें देखने में बाधा नहीं बनेगी।



Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन