सिंधिया ने इसी मंच से किसान भाइयों को कर्ज माफी के सर्टिफिकेट बांटे थे , आज झूठ परोस रहे है: कमलनाथ


-पूर्व मुख्यमंत्री बोले, भाजपा ने देश भर में प्रदेश का नाम बिकाऊ राजनीति को लेकर कलंकित किया।

भोपाल । प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवपुरी जिले की करैरा विधानसभा के कांग्रेस प्रत्याशी प्रागीलाल जाटव व शिवपुरी जिले की पोहरी विधानसभा के कांग्रेस प्रत्याशी हरीवल्लभ शुक्ला के समर्थन में आयोजित विशाल जनसभाओं को संबोधित करते हुए कहा कि बाबासाहेब आंबेडकर ने संविधान बनाया था और उसमें प्रावधान किया था कि यदि किसी विधायक या सांसद का निधन हो जाता है तो उपचुनाव होंगे लेकिन उन्होंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि सौदेबाजी व बोली के कारण भी उपचुनाव होंगे ,उन्होंने इसका कोई प्रावधान उन्होंने नहीं रखा था।
आज देश भर में उप चुनाव हो रहे हैं लेकिन मध्यप्रदेश में 28 उपचुनाव में से 25 उपचुनाव किसी के निधन के कारण नहीं हो रहे है बल्कि सौदेबाजी व बोली के कारण यह उपचुनाव हो रहे हैं , कैसा मध्यप्रदेश को कलंकित देशभर में भाजपा ने किया। प्रदेश की राजनीति को भाजपा ने बिकाऊ राजनीति बना दिया। वीरों की माटी ग्वालियर-चंबल को देशभर में बदनाम किया, इस अनैतिक राजनीति का ऐसा दौर किसी ने कभी नहीं सोचा होगा।चुनाव तो प्रजातंत्र का उत्सव होते हैं लेकिन भाजपा ने इन उपचुनावों को सौदेबाजी का उत्सव बना दिया , लोकतंत्र को धन तंत्र में तब्दील कर दिया।ग्वालियर-चंबल की माटी वीरों की भूमि है, बहादुरों की माटी है, यहां के सबसे ज्यादा लोग हमारे देश की रक्षा के लिए सीमाओं पर डटे हुए हैं। यहां के लोग सब कुछ बर्दाश्त कर सकते हैं लेकिन ग़द्दारों और बिकाऊओ को बर्दाश्त नहीं कर सकते है , यहां के लोग यही संदेश देश भर में देंगे। मैं महाराजा नहीं मैं तो सिर्फ़ कमलनाथ हूं ,महाराजाओं को तो आपने आजमा लिया  और पहचान भी लिया।
कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश की जनता ने 15 वर्ष बाद अपने वोट से कांग्रेस की सरकार बनायी लेकिन हमारी 15 माह की सरकार को नोटों से बल से गिरा दिया और नोट की सरकार बना ली गयी।

27 लाख किसानों का कर्ज माफ किया :

15 वर्ष बाद भाजपा ने जो प्रदेश हमें सौंपा वो किसानों की आत्महत्या, महिलाओं पर अत्याचार, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार में देश में नंबर वन पर था। कई चुनौतियां हमारे सामने थी ,कृषि क्षेत्र की चुनौती हमारे सामने थी।किसान का जन्म क़र्ज़ में होता है और किसान की मृत्यु भी कर्ज में होती है। हमने क्रांति लाते हुए कर्ज माफी की शुरुआत की , पहली बार इतिहास में हमने डिफाल्टर के साथ-साथ चालू खाते वालों का भी कर्ज माफ किया। हमने 27 लाख किसानों का कर्ज माफ किया, जिसकी सच्चाई भाजपा सरकार ने विधानसभा में भी स्वीकारी। आज शिवराज और सिंधिया किसान कर्ज माफी को लेकर झूठ बोल रहे हैं । वह यह सच्चाई जान लें कि करैरा के इसी मंच से सिंधिया ने किसान भाइयों को कर्ज माफी के सर्टिफिकेट खुद अपने हाथों से बाँटे थे। हम वादा दिलाते हैं हमारी सरकार वापस बनेगी तो किसानों का 2 लाख तक का भी कर्जा माफ करेंगे।

हमने किसानों के साथ न्याय किया :

इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए नाथ ने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों के साथ न्याय किया ,आज धान का भाव देख ले क्या मिल रहा है और 1 वर्ष पुत्र हमारी सरकार में क्या मिल रहा था , यह अंतर देख ले ? आज शिवराज जी झूठ की , घोषणाओं की व कलाकारी की राजनीति कर रहे हैं। खुद को कभी किसान का बेटा बनाते हैं ,कभी मामा बताते हैं और तस्वीर आपके सामने हैं कि आज उनकी सरकार में किसान भाई और भांजियाँ ही सबसे ज़्यादा अत्याचार का शिकार हो रहे है। हमारा प्रदेश 5 प्रदेशों से घिरा होने के बावजूद निवेश को तरस रहा था , प्रदेश में कोई निवेश करने को तैयार नहीं था क्योंकि विश्वास का माहौल नहीं था।जितने उद्योग लगते नहीं थे ,उससे ज्यादा बंद हो जाते थे।आज मालनपुर का हाल देखिए , वहाँ शराब के तमाम उद्योग लग गए।लोगों को प्रदेश पर विश्वास नहीं था , विश्वास हो भी क्यों , क्योंकि प्रदेश की पहचान भ्रष्टाचार , माफ़ियाओ और मिलावटखोरों से थी।हमने इस तस्वीर को बदलने का काम किया।
मैंने किसानों का कर्ज माफ किया, मिलावटखोरों-माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाया, 100 रुपये में 100 यूनिट बिजली दी ,गौशाला बनाई, किसानों को आधी दर पर बिजली दी ,कन्या विवाह की राशि बढ़ाई ,सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि डबल की ,ऐसा कर मैंने कोई पाप ,गुनाह या गलती की ?

भाजपा ने 15 वर्ष में माफियाओं- मिलावटखोरो को संरक्षण दिया :

कमलनाथ ने आरोप लगाया कि भाजपा ने 15 वर्ष की सरकार में माफ़ियाओ- मिलावटखोरो को संरक्षण प्रदान किया , हमने उनके खिलाफ कार्रवाई कर अपनी नीति व नियत का परिचय दिया , यह तस्वीर आपके सामने है।यह ना तो 15 वर्ष का हिसाब दे रहे है और ना सात माह का हिसाब दे रहे है।इनकी सरकार में किसान मुआवजे के अभाव में रोज अपनी जान दे रहा है ,महिलाओं पर रोज अत्याचार हो रहा है ,उनके साथ रोज़ दरिंदगी की घटनाएं घट रही हैं ,माफिया राज की वापसी हो चुकी है ,प्रदेश के उज्जैन में शराब माफियाओं के कारण 14 लोगों की मृत्यु हो चुकी है , जबलपुर में अपहरण माफिया ने एक मासूम बच्चे की फिरौती के लिये जान ले ली है , किसान का दुखी चेहरा इन्हें नहीं दिखता ,भटकते नौजवान की पीड़ा इन्हें सुनाई नहीं देती , इनकी आंखें नहीं चलती ,इनका कान नहीं चलते ,इनका तो सिर्फ मुँह चलता है , यह इनका 7 माह का हिसाब है। नाथ ने कहा कि आज का युवा प्रदेश का नवनिर्माण करेगा , उसके सामने अंधेरा है। 3 तारीख के बाद यह झंडे पोस्टर बैनर नहीं दिखेंगे लेकिन हमारा युवा नौजवान ,किसान यही रखे रहेंगे , उनका भविष्य हमें सुरक्षित हाथों में सौंपना है ,यह हमारा संकल्प होना चाहिए।मै सिर्फ़ रोजगार की बात ही नहीं कर रहा हूं बल्कि सुरक्षित रोजगार का भी वादा दिलाता हूँ।आप भले कांग्रेस का ,कमलनाथ का साथ मत देना लेकिन सच्चाई का साथ जरूर जरूर देना क्योंकि यह चुनाव सच और झूठ का चुनाव है। मुझे पूरा विश्वास है कि जनता सच्चाई का साथ देगी और प्रदेश के भविष्य का नया इतिहास रचेगी।

इन्होंने भी किया सभा को सम्बोधित :

करैरा की सभा को कांग्रेस प्रत्याशी प्रागीलाल जाटव ,पूर्व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरुण यादव ,विधायक के पी सिंह ,विधायक गोपाल सिंह चौहान ,मिर्ची बाबा ,पूर्व विधायक लखन सिंह बघेल आदि ने संबोधित किया। मंच पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव कुलदीप इंदौरा ,पूर्व मंत्री लाखन सिंह ,राजेंद्र भारती ,प्रकाश शर्मा ,कालूराम कुशवाह ,मांडवी चौहान आदि उपस्थित थे।

बसपा-भाजपा के कई कांग्रेस में शामिल :

सभा के पूर्व भाजपा व बसपा छोड़कर आए सैकड़ों लोगों ने कमलनाथ जी के समक्ष कांग्रेस में प्रवेश लिया। बड़ी संख्या में उपस्थित महिलाओं ने कमलनाथ जी को रक्षा सूत्र बांधकर उनके विजय होने की की कामना की। पोहरी विधानसभा में जनसभा को कांग्रेस प्रत्याशी हरि बल्लभ शुक्ला , विधायक के पी सिंह ,विधायक बाबू सिंह जँडेल आदि ने संबोधित किया। मंच पर अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव कुलदीप इंदौरा ,गणेश गौतम ,किशन सिंह तोमर आदि उपस्थित थे।
सभा का संचालन राजकुमार पटेल ने किया। सभा के पूर्व भारत सिंह कुशवाह के नेतृत्व में राष्ट्रीय समानता दल के सैकड़ों साथियों ने कांग्रेस में प्रवेश लिया ,बड़ी संख्या में लोगों ने भाजपा छोड़कर कमलनाथ के समक्ष कांग्रेस में प्रवेश लिया।


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन