मैंने किसी को कुत्ता-कमीना नहीं कहा, कोई सबूत हो दिखाएं : कमलनाथ


भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि भारतीय लोकतंत्र का जब इतिहास लिखा जाएगा उसमें जरूर मध्यप्रदेश के उप चुनाव का एक पन्ना होगा और इसमें गद्दारों का नाम काले अक्षरों में लिखा जाएगा। श्री नाथ मीडिया से अनौपचारिक चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मुझे पिछले 12 घंटो से खबरें आ रही है कि इन्होंने पैसों का, शराब का उपयोग करना शुरू कर दिया है । किस प्रकार खुलेआम पैसा बाँटा जा रहा है, शराब बांटी जा रही है, किस तरह प्रशासन और पुलिस का दबाव और उपयोग किया जा रहा है। इससे यह स्पष्ट हो रहा है कि भाजपा पिछड़ रही है। मैं कहना चाहता हूं कि अब इनकी सौदेबाजी की सरकार का अंतिम समय आ गया है। इस चुनाव में यह सिद्ध हो गया है कि जनता को महल की जरूरत नहीं है, महल को जनता की जरूरत है। यह चुनाव सच्चाई और झूठ का है और मुझे मध्यप्रदेश के मतदाताओं पर खासकर इन 28 उप चुनाव क्षेत्रों के मतदाताओं पर पूरा विश्वास है कि वह सच्चाई पहचान कर मध्यप्रदेश की तस्वीर अपने सामने रखकर सच्चाई का साथ देंगे। मुझे ताज्जुब व दुःख है कि शिवराज जी कहते हैं कि मैंने उन्हें कमीना कहा ,ज्योतिरादित्य सिंधिया कहते कि मैंने उन्हें कुत्ता कहा ? इसका कोई प्रमाण, कोई रिकॉर्डिंग, कोई सबूत हो तो मुझे दे दे। मैंने ऐसे शब्दों का उपयोग कभी नहीं किया।शिवराज सिंह ने झूठ बोलने की हद कर दी। चुनाव के एक दिन पहले तक वह झूठ बोलने से बाज नहीं आ रहे हैं।


मैंने कौन सा पाप किया है :


अभी-अभी उन्होंने कहा है कि कमलनाथ पापी है, मैंने तो पूछा कि मैंने कौन सा पाप किया, शिवराज जी जवाब में कहते हैं कि कमलनाथ ने कर्जा माफ नहीं किया, जबकि उनकी सरकार ने विधानसभा में ख़ुद स्वीकारा है कि 27 लाख किसानों का कर्ज माफ हुआ है और कर्जमाफी का तीसरा चरण भी प्रारंभ होने जा रहा था। कहते हैं कि मैंने बच्चों की पढ़ाई का पैसा रोक लिया। एक -एक बात उनकी झूठी है, तों मुझे आश्चर्य होता है कि कितनी बेशर्मी से ये इतना झूठ बोल लेते हैं। इन्होंने कई बातें बोली है, इनकी एक-एक बात झूठ है। 


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन