Skip to main content

प्रचार खत्म, अब मतदाता की बारी, मतदान आज


ऐतिहासिक उपचुनाव में दांव पर कांग्रेस-बीजेपी की साख, 10 नवबंर को परिणाम 


भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा की 28 सीटों पर हो रहे उपचुनाव का प्रचार रविवार को थम गया। 3 नवंबर को इन सीटों पर मतदान होना है। प्रदेश के इन उपचुनाव में 12 मंत्रियों सहित कुल 355 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे हैं। दो दर्जन से अधिक सीटों पर हो रहे इन उपचुनाव में अधिकांश सीटों पर मुख्य मुकाबला कांग्रेस एवं बीजेपी के बीच माना जा रहा है लेकिन कुछ सीटों पर मायावती के नेतृत्व वाली बसपा एवं कुछ अन्य छोटे राजनीतिक दलों के साथ-साथ निर्दलीय उम्मीदवार भी चुनावी मैदान में हैं। मध्यप्रदेश के इतिहास में पहली बार इतनी ज्यादा विधानसभा सीटों पर एक साथ उपचुनाव हो रहे हैं। यही उपचुनाव तय करेंगे कि 10 नवबंर को इनके परिणाम आने के बाद कौन सी पार्टी प्रदेश में सत्ता में रहेगी। इन चुनाव में सत्तारूढ़ बीजेपी और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस, दोनों की साख दांव पर लगी है। उपचुनाव वाली 28 सीटों में से 25 सीटें कांग्रेस विधायकों के इस्तीफा देकर बीजेपी में आने से खाली हुई हैं, जबकि दो सीटें कांग्रेस के विधायकों के निधन से और एक सीट बीजेपी विधायक के निधन से खाली हुई है। मध्यप्रदेश विधानसभा की कुल 230 सीटों में से वर्तमान में बीजेपी के 107 विधायक हैं, जबकि काग्रेस के 87, चार निर्दलीय, दो बसपा एवं एक सपा का विधायक है। बाकी 29 सीटें रिक्त हैं, जिनमें से दमोह विधानसभा को छोड़कर 28 सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं। दमोह सीट पर उपचुनाव की तिथि घोषित होने के बाद कांग्रेस विधायक राहुल सिंह लोधी ने विधायकी एवं कांग्रेस से इस्तीफा दिया है और बीजेपी में शामिल हुए हैं। इन उपचुनाव के बाद सदन में विधायकों की संख्या वर्तमान 202 से बढ़कर 229 हो जाएगी। इसलिए बीजेपी को बहुमत के 115 के जादुई आंकड़े तक पहुंचने के लिए इस उपचुनाव में मात्र आठ सीटों को जीतने की जरूरत है, जबकि कांग्रेस को पूरी 28 सीटें जीतनी होंगी।

बीजेपी का दांव कांग्रेस से आये 25 विधायकों पर :


बीजेपी ने उन सभी 25 लोगों को अपना प्रत्याशी बनाया है, जो कांग्रेस विधायकी पद से इस्तीफा देर बीजेपी में शामिल हुए हैं। चुनाव प्रचार के अंतिम दिन प्रदेश की सत्तारूढ़ बीजेपी, मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस एवं बसपा के आला नेताओं ने अपनी-अपनी पार्टी के लिए वोट मांगने के लिए आज और उग्र चुनाव प्रचार किया। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर एवं प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने बीजेपी प्रत्याशियों के लिए वोट मांगे, जबकि मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट एवं अन्य पार्टी नेताओं ने कांग्रेस के उम्मीदवारों को जिताने की लोगों से अपील की।

छाया रहा ‘आइटम’, ‘माफिया और मिलावट खोर’:

इस चुनाव प्रचार के दौरान मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने एक रैली में प्रदेश की मंत्री एवं बीजेपी उम्मीदवार इमरती देवी को ‘आइटम’ कहने के साथ-साथ प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ ‘माफिया और मिलावट खोर’ शब्दों का इस्तेमाल भी किया था। इस पर चुनाव आयोग ने प्रचार के दौरान आदर्श आचार संहिता का बार-बार उल्लंघन को लेकर कमलनाथ का ‘स्टार प्रचारक’ का दर्जा शुक्रवार को रद्द भी किया था। इस चुनाव प्रचार में ‘टिकाऊ-बिकाऊ ’का मुद्दा छाये रहने के साथ-साथ किसानों की कर्जमाफी का मुद्दा भी खूब उछाला गया। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस के 22 विधायकों के त्यागपत्र देकर बीजेपी में शामिल होने के कारण प्रदेश की तत्कालीन कांग्रेस सरकार अल्पमत में आ गई थी, जिसके कारण कमलनाथ ने 20 मार्च को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। फिर 23 मार्च को शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में मध्य प्रदेश में बीजेपी सरकार बनी।


Comments

Popular posts from this blog

बुजुर्गों की सेवा कर सविता ने मनाया अपना जन्मदिन

भोपाल। प्रदेश की जानीमानी समाजसेवी सविता मालवीय का जन्मदिन अर्पिता सामाजिक संस्था द्वारा संचालित राजधानी के कोलार स्थिति सारथी वृद्धजन सेवा आश्रम पर वहां रहने वाले वृद्धजनों की सेवा सत्कार कर मनाया गया। यहां रहने वाले सभी बुजुर्गों की खुशी इस अवसर पर देखते बन रही थी। सविता मालवीय के सारथी वृद्धजन सेवा आश्रम पहुंचे उनके परिजनों और  सखियों ने सभी बुजुर्गों को खाना सेवाभाव से खिलाया और अंत में केक खिलाकर जन्मदिन के आयोजन को आनंदमय कर दिया। इस जन्मदिन कार्यक्रम को संपन्न कराने में सारथी वृद्धजन सेवा आश्रम की संचालिका साधना भदौरिया का महत्वपूर्ण सहयोग रहा। इस जन्मदिन अवसर को महत्वपूर्ण बनाने के लिए सविता मालवीय के परिजन विवेक शर्मा, सुनीता, सीमा और उनके जेठ ओमप्रकाश मालवीय सहित सखियां रोहिणी शर्मा, स्मिता परतें, अर्चना दफाड़े, हेमलता कोठारी, मीता बनर्जी आदि की उपस्थिति प्रभावी रही। सभी ने सविता को बधाई देते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की तो वहां रहने वाले बुजुर्गों ने ढेर सारा आशीर्वाद दिया। सारथी वृद्धजन सेवा आश्रम की संचालिका साधना भदौरिया ने जन्मदिन आश्रम आकर मनाने के लिए सविता माल

पद्मावती संभाग पार्श्वनाथ शाखा अशोका गार्डन द्वारा कॉपी किताब का वितरण

झुग्गी बस्ती के बच्चों को सिखाया सफाई का महत्व, औषधीय पौधों का वितरण किया गया भोपाल। पद्मावती संभाग की पार्श्वनाथ शाखा अशोका गार्डन महिला मंडल द्वारा प्राइम वे स्कूल सेठी नगर के पास स्थित झुग्गी बस्ती के गरीब बच्चों को वर्ष 2022 -23  हेतु कॉपियों तथा पुस्तकों का विमोचन एवं  वितरण किया गया। हेमलता जैन रचना ने बताया कि उक्त अवसर पर संभाग अध्यक्ष श्रीमती कुमुदनी जी बरया  मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थीं। आपने पद्मावती संभाग पार्श्वनाथ शाखा द्वारा की जाने वाली सेवा गतिवधियों की भूरी-भूरी प्रशंसा की। मुख्य अतिथि का हल्दी, कुमकुम और पुष्पगुच्छ से स्वागत के पश्चात् अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में शाखा अध्यक्ष कल्पना जैन ने कहा कि उनकी शाखा द्वारा समय-समय पर समाज हित हेतु, हर तबके के लिए सेवा कार्य किये जाते रहे हैं जिसमें झुग्गी बस्ती के बच्चों को साफ़-सफाई का महत्व समझाना, गरीब बच्चों को कॉपी किताब का वितरण करना, आर्थिक रूप से असक्षम बच्चों की फीस जमा करना, वृक्षारोपण अभियान के तहत औषधीय तथा फलदार पौधों का वितरण आदि किया जाता रहा है। इस अवसर पर अध्यक्ष कल्पना जैन, चेयर पर्सन सुषमा जैन, उपाध्यक्ष

गो ग्रीन थीम में किया गर्मी का सिलिब्रेशन

एंजेल्स ग्रुप की सदस्यों ने जमकर की धमाल-मस्ती भोपाल। राजधानी की एंजेल्स ग्रुप की सदस्यों ने गो ग्रीन थीम में गर्मी के आगाज को सिलिब्रेट किया। ग्रुप की कहकशा सक्सेना ने बताया कि सभी जानते हैं कि अब गर्मी के मौसम का आगमन हो चुका है इसलिए पार्टी की होस्ट पिंकी माथे ने हरियाली को मद्देनजर रख कर ग्रीन थीम रखी। जबकि साड़ी की ग्रीन शेड्स को कहकशा सक्सेना ने इन्वाइट किया। इस पार्टी में सभी एंजेल्स स्नेहलता, कहकशा सक्सेना, आराधना, गीता गोगड़े, इंदू मिश्रा, पिंकी माथे, शीतल और वैशाली तेलकर ने अपना पूरा सहयोग दिया। सभी ने मिलकर गर्मी का स्वागत लाइट फ़ूड, बटर मिल्क, लस्सी और फ्रूट्स से पार्टी को जानदार बना दिया।