आशा एवं सहयोगिनियों को कल्याणकारी लाभ देने पर विभा ने जताया आभार








मिशन संचालक ने जारी किए आदेश, अब आशा एवं सहयोगियों की परेशानी होगी दूर

भोपाल। मप्र आशा-ऊषा एवं सहयोगिनी कार्यकर्ता संघ की प्रदेश अध्यक्ष विभा श्रीवास्तव ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक छवि भारद्वाज द्वारा शुक्रवार को आशा एवं सहयोगियों की पारिवारिक परेशानियों को देखते हुए स्वास्थ्य एवं शिक्षा से जुड़ी कल्याणकारी योजनाओं का लाभ देने के आदेश जारी किए जाने पर आभार जताया है। श्रीमती श्रीवास्तव ने कहा कि मैं हमेशा से आशा-ऊषा एवं सहयोगिनियों की लड़ाई को शासन स्तर पर लड़ती रही हूं। अभी तक यह स्थिति थी कि किसी घटना या अनहोनी पर उन बहनों के परिवार का कोई सरंक्षक नहीं था। अशोकनगर के मुंगावली में एक कार्यकर्ता के दुःखद निधन का जिक्र करते हुए विभा श्रीवास्तव ने कहा कि उसके परिवार के लिए हमने मिशन संचालक से लेकर मुख्यमंत्री तक सभी को अवगत कराया था। उन्होंने कहा कि हालांकि बहनों की परेशानियों को लेकर मिशन संचालक द्वारा इलाज की निःशुल्क व्यवस्था, दुर्घटनाओं पर दी जाने वाली सहायता, आशा एवं सहयोगिनी की स्वयं तथा बच्चों की शिक्षा को  लेकर प्रोत्साहन, मातृत्व अवकाश, स्वावलम्बन पेंशन योजना एवं वृद्धावस्था पेंशन दिए जाने के आदेश जारी किए जाने पर सभी बहनों में अपार हर्ष है। विभा श्रीवास्तव ने कहा कि आज से पहले इन सभी सुविधाओं के लिए हमारे संगठन ने सरकार तक अपनी मांगों को पहुचाने के लिए बहुत संघर्ष करना पड़ा। उन्होंने कहा कि अब यह हर्ष का विषय है कि हमारी बाते सरकार द्वारा स्वीकार कर ली गई हैं। मध्यप्रदेश आशा उषा सहयोगी कार्यकर्ता संगठन की प्रदेश अध्यक्ष विभा श्रीवास्तव ने कहा कि यदि कोई आशा या आशा सहयोगी दुर्घटना या गंभीर बीमारी से ग्रसित होती है तो सरकार आशा को प्रतिदिन 281 रुपए देगी। इसके अलावा भी सरकार ने आशा व आशा सहयोगी के लिए कई प्रावधान लागू किये है। जिनका लाभ आशा, आशा सहयोगी और उनके बच्चों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि एक औरत ही औरत की पीड़ा को समझ सकती है, मिशन संचालक ने आशाओं ओ सहयोगियों की पीड़ा को समझा है और लंबे समय से प्रताड़ित आशाओं को रोशनी की किरण दिखाई है।

Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन