पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर चर्चा से सरकार का इंकार



नाराज विपक्ष का विधानसभा में हंगामा किया वॉक आउट

भोपाल। पेट्रोल और डीजल के दामों में लगातार बढ़ोतरी के खिलाफ सड़कों पर आंदोलन कर रही कांग्रेस के आक्रामक तेवर बुधवार को विधानसभा में भी देखने को मिले। विपक्ष ने सरकार को सदन में जमकर घेरा। शून्यकाल के दौरान कांग्रेस के विधायकों ने पेट्रोल और डीजल में हो रही मूल्य वृद्धि पर चर्चा कराने की मांग की। पर सरकार इसके लिए राजी नहीं हुई तो विपक्षी कांग्रेस के सदस्यों ने विधानसभा में भारी हंगामा किया और नाराजगी का इजहार करते हुए सदन से वॉकआउट कर दिया।

सदन में कांग्रेस विधायक आमजनता से जुड़े पेट्रोल-डीजल के दामों में बढोतरी के मुद्दे पर चर्चा कराने के लिए अड़े थे। लेकिन कांग्रेस विधायक प्रियव्रत सिंह ने सदन के अंदर पेट्रोल डीजल के बढ़ते दामों पर चर्चा नहीं कराने पर वॉकआउट का ऐलान कर दिया। इस दौरान सदन में काफी हंगामे की स्थिति बन गई थी। कांग्रेस के सभी विधायक सदन के बाहर आ गए और जमकर नारेबाजी की तथा गांधी प्रतिमा के सामने धरना देकर बैठ गए।

3 मार्च को होगा विधानसभा का घेराव 

नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने कहा कि पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दाम पर सरकार को सदन में चर्चा करानी चाहिए, लेकिन सरकार चर्चा से बच रही है। पेट्रोल और डीजल मूल्यवृद्धि के खिलाफ कांग्रेस का आंदोलन जारी रहेगा।पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कोरोना का डर दिखाकर सरकार विपक्ष की आवाज को दबाना चाहती है। क्राइसिस मैनेजमेंट की बैठक में सभी तरह के धरना प्रदर्शन मेला के आयोजनों पर रोक लगाने का फैसला हुआ है। सरकार इस तरह के फैसले से पेट्रोल-डीजल मूल्य वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस के आंदोलन को दबाने की कोशिश में है, लेकिन 3 मार्च को कांग्रेस का विधानसभा घेराव होकर रहेगा। सदन में भी विपक्ष इस मामले को जोर-शोर के साथ उठाएगा।


Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन