पिता राज्य के मुख्य सचिव, बेटा बना कलेक्टर



 -प्रदेश के मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस के बेटे अमनवीर सिंह बैतूल के डीएम बनाये गए
-1985 में बैस बने थे आईएएस, 28 साल बाद 2013 में बेटा भी बना आईएएस 

भोपाल। राज्य सरकार ने बैतूल और नीमच में कलेक्टर की पदस्थापना कर दी है। नगर निगम सतना में पदस्थ आयुक्त अमनवीर सिंह को बैतूल का कलेक्टर बनाया गया है। अमनवीर 2013 बैच के आईएएस अफसर हैं और राज्य के मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैस के बेटे हैं। इसी तरह इंदौर में अपर कलेक्टर मयंक अग्रवाल को नीमच का कलेक्टर बनाया गया है। सामान्य प्रशासन विभाग ने मंगलवार को आदेश जारी कर दिया है। प्रदेश में पहली बार हुआ जब किसी आईएएस के मुख्य सचिव रहते उनका बेटा कलेक्टर बना है। हालांकि पूर्व मुख्य सचिव केएस शर्मा के बेटे आईपीएस मनीष शंकर शर्मा वर्तमान में एडीजी हैं। जब शर्मा प्रदेश के मुख्य सचिव थे तब मनीष शंकर 1999 से 2001 तक रायसेन और सतना के एसपी रहे। इकबाल सिंह बैस की पहली पोस्टिंग 21 जनवरी 1993 को सीहोर में हुई थी, वे वहां 9 अगस्त 1993 तक पदस्थ रहे थे। अब उनके बेटे को कलेक्टर का पदभार सौंपा गया है। 

दरअसल सोमवार को हुई कलेक्टर-कमिश्नर कॉन्फ्रेंस में प्रदेश के मैदानी अफसरों को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के तेवर देखने को मिले थे। कॉन्फ्रेंस खत्म होने के तत्काल बाद मुख्यमंत्री ने दो कलेक्टर, दो एसपी और एक राज्य पुलिस सेवा की अफसर को हटाने के निर्देश दिए थे। इसका असर यह हुआ कि मुख्यमंत्री के निर्देश मिलने के एक घंटे बाद हटाए जाने के आदेश जारी कर दिया था। जिसके मुताबिक कलेक्टर बैतूल राकेश सिंह व नीमच जितेंद्र सिंह को मंत्रालय में उप सचिव पदस्थ किया गया है। जबकि एसपी निवाड़ी वाहिनी सिंह व गुना राजेश सिंह को पीएचक्यू भोपाल में एआईजी बनाया गया है। इसी तरह गुना सीएसपी नेहा पच्चीसिया को पुलिस मुख्यालय में डीएसपी पदस्थ किया गया।

Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन