सावधान! कोरोना के दूसरी लहर में सामने आ रहे नये लक्षण, भूलकर भी न करें यह गलती



-सिर दर्द, थकान लगने के साथ अब प्लेटलेट्स भी हो रही है कम

दिल्ली। दुनियाभर के लिए परेशानी का सबब बन चुके कोरोना वायरस की दूसरी लहर में रोजाना इसके नए-नए लक्षण सामने आ रहे हैं। बहुत अधिक थकान महसूस होना, डायरिया और सिर में दर्द के बाद अब मरीज की प्लेटलेट्स में अचानक कमी होना भी कोविड-19 का एक लक्षण है। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो लखनऊ के एक व्यक्ति ने बहुत अधिक थकान महसूस होने पर 18 अप्रैल को अपना ब्लड टेस्ट करवाया तो उनके खून में प्लेटलेट्स की संख्या 85 हजार निकली, जबकि सामान्य मरीज में 1.5 लाख से 4.5 लाख तक प्लेटलेट्स होती हैं। डॉक्टरों की सलाह पर उन्होंने दवा लेनी शुरू की लेकिन 23 अप्रैल को उनकी सांस फूलने लगी। दोबारा ब्लड टेस्ट होने पर उनके प्लेटलेट 20 हजार पर पहुंच गए। परिवार वाले उन्हें अस्पताल में भर्ती कराने की कोशिश करने लगे लेकिन ऑक्सीजन सपोर्ट वाले बेड की कमी की वजह से उनकी मौत हो गई। दरअसल देश में तेजी से फैल रही कोरोना महामारी के कई लक्षण है। लेकिन सर्दी-जुकाम, खांसी, बुखार, बदन में दर्द, नाक बहना, गले में दर्द- ये सभी कोरोना वायरस के मुख्य लक्षण बताए जाते हैं और वायरल बुखार या सामान्य सर्दी-जुकाम भी। इस वजह से कई बार इनमें फर्क करना मुश्किल हो जाता है। 

नजर नहीं आ रहे कोविड के लक्षण : 

लखनऊ के ही एक और व्यक्ति ने बहुत अधिक थकावट महसूस होने के बाद जब 13 अप्रैल को ब्लड टेस्ट करवाया तो उनकी प्लेटलेट्स सिर्फ 21 हजार निकलीं। दवाइयों से उनकी स्थिति में कुछ सुधार हुआ लेकिन 16 अप्रैल को सांस लेने में तकलीफ के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां सीटी स्कैन में पता चला कि उन्हें कोविड निमोनिया था। फेफड़ों में इंफेक्शन बढ़ने की वजह से 20 अप्रैल को उनकी भी मौत हो गई। इस व्यक्ति के बेटे की मानें तो उनके पिता में सूखी खांसी, बुखार या सांस फूलने जैसे कोई लक्षण नजर नहीं आए थे।

थकान महसूस होने पर कोविड टेस्ट करवाएं :

डॉक्टरों की माने तो ‘बहुत अधिक थकान और बीमार महसूस करना भी वायरल फीवर के लक्षण हैं और कोविड-19 भी एक वायरल बीमारी ही है। इसलिए मरीजों में बुखार के साथ ही थकान भी महसूस होती है। कई मरीजों में देखने में आया कि उनका ब्लड प्लेटलेट घटकर 75 से 80 हजार पहुंच गया जिसे कई बार डेंगू या कोई अन्य बीमारी समझ लिया जाता है। जबकि हकीकत में वह कोविड होता है। इसलिए अगर बहुत अधिक थकान महसूस हो तो अपना कोविड टेस्ट जरूर करवाएं।

Comments

Popular posts from this blog

मंत्री भदौरिया पर भारी अपेक्स बैंक का प्रभारी अधिकारी

"गंगाराम" की जान के दुश्मन बने "रायसेन कलेक्टर"

भोपाल, उज्जैन और इंदौर में फिर बढ़ाया लॉकडाउन