कोरोना वैक्सीन लगवाने ऐंजिल्स परिवार ने चलाई मुहिम



-फुटपाथ पर बैठने वाले लोगों को किया प्रोत्साहित, बताएं फायदे

भोपाल। राजधानी की जानीमानी संस्था ऐंजिल्स वेलफेयर सोसाइटी के सदस्यों समता अग्रवाल, मनीषा पवार और कीर्ति मलिक ने कोरोना महामारी के खात्मे के लिए कोरोना वैक्सीन के प्रति जनमानस में जागरूकता लाने के उद्देश्य से राजधानी भोपाल में बांसखेड़ी और ग्यारह सौ क्वाटर के आस पास बैठे हुए उन लोगों  के पास जाकर उन्हें कोरोना वैक्सीन अनिवार्य रूप से लगवाने को जागरूक किया, जो मांग कर अपना जीवन यापन करते हैं। ऐंजिल्स परिवार की सदस्यों ने उन सभी भिक्षुओं से कहा कि महामारी से बचाव के लिए वैक्सीन जरूरी है। साथ ही शपथ दिलाई कि उनके परिवार का कोई भी सदस्य वैक्सीन लगवाए बिना ना रहे। 

ऐंजिल्स परिवार की सदस्य समता अग्रवाल ने कहा कि भले ही कोरोना संक्रमण का खतरा कम हो गया है पर इसके लिए सभी को वैक्सीन लगवाना बहुत जरूरी है। इस जीवन रक्षक डोज को न भूले। किसी नासमझ की बातों में न आकर समझदार व जागरूक बनें। समता ने कहा कि शासन स्तर से लगातार लोगों को वैक्सीन के बारे में जानकारी दी जा रही है। बावजूद इसके अधिकांश लोगों के मन में इसको लेकर डर बना हुआ है। कुछ लोग इसे बीमारी का खतरा बताते हैं तो कोई वैक्सीन लगाने पर मौत होने की बात कहकर पल्ला झाड़ लेता है। ऐसे लोगों की भ्रांतियों को दूर करने के लिए हम फुटपाथ में बैठे भिक्षुओं को जागरूक कर रहें हैं। उन्होंने इस बात पर आश्चर्य जताया कि दर्जनों लोगों में महज 2 भिक्षुओं को ही वैक्सीन लगी है। 

ऐंजिल्स परिवार की अन्य सदस्य मनीषा पवार ने बताया कि कोरोना वैक्सीन को लेकर लोगों के मन से भ्रम दूर करने के उद्देश्य से ही हम लोगों को जागरूक कर रहे ताकि हर प्रकार की शंका का निदान हो सके। ऐंजिल्स परिवार की सदस्य कीर्ति मलिक ने कहा कि कोरोना का वायरस लोगों को अब भी अपनी चपेट में ले रहा है। गांवों में सबसे अधिक मामले सामने आ रहे हैं। इससे बचाव के लिए वैक्सीन ही एकमात्र उपाय है। उन्होंने कहा कि एक ओर जहां ग्रामीण इलाकों में अभी भी जागरूकता की कमी है। वहीं शहरी क्षेत्र भी पिछड़े हैं।

Comments

Popular posts from this blog

विभा श्रीवास्तव ने जताया मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री का आभार

21 को साल की सबसे लम्बी रात के साथ आनंद लीजिये बर्फीले से महसूस होते मौसम का

मानदेय में बढ़ोतरी पर आशा कार्यकर्ताओं एवं सहयोगियों में खुशी की लहर