भारत में कोरोना से एक दिन में 5 की मौत 335 नए केस



केरल में मिला नया जेएन-1 वैरिएंट, एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 1,701 हुई 

नयी दिल्ली  भारत में कोविड-19 मामलों में एक बार फिर इजाफा होने लगा है। केरल में कोविड का नया सब वैरिएंट जेएन-1 मिला है। इससे 17 दिसंबर को चार लोगों की मौत हो गई। वहीं यूपी में भी कोविड पॉजिटिव शख्स की जान चली गई। हालांकि, यह पता नहीं चला है कि यह मरीज जेएन.1 वैरिएंट से संक्रमित था। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, भारत में रविवार को 335 नए कोविड-19 मामले दर्ज किए गए और एक्टिव केस की संख्या बढ़कर 1,701 हो गई। सब वैरिएंट जेएन.1 को लेकर कर्नाटक सरकार ने अलर्ट जारी किया है। वहीं केरल में स्वास्थ्य मंत्री वीना जार्ज ने कहा- चिंता की कोई बात नहीं है। हम लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं।  

भारत में कहां से आया नया वैरिएंट

आईसीएमआर के महानिदेशक डॉ राजीव बहल के मुताबिक, यह मामला 8 दिसंबर को केरल के तिरुवनंतपुरम में सामने आया था। जब 79 साल की एक महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। महिला में इन्फ्लुएंजा जैसी बीमारी के हल्के लक्षण थे और हालांकि बाद में वह कोविड-19 से ठीक हो गई। 

देश में कोरोना से अब तक पांच लाख की मौत

 देश में कोरोना मामलों की कुल संख्या 4.50 करोड़ के पार हो गई। वहीं वायरस से रिकवर होने वालों की संख्या बढ़कर 4.44 करोड़  हो गई। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में रिकवरी रेट 98.81 प्रतिशत है। अब तक भारत में कोविड-19 से 5,33,316 लोगों की मौत हो चुकी है।

सिंगापुर में मास्क की सलाह जारी 

सिंगापुर ने कोविड-19 मामलों में वृद्धि के बीच लोगों को भीड़-भाड़ वाली जगहों पर फेस मास्क पहनने के निर्देश दिए हैं। सरकार का यह फैसला 3 से 9 दिसंबर के बीच कोविड-19 मामलों की अनुमानित संख्या बढ़कर 56,043 होने के बाद आया है। जो पिछले सप्ताह के 32,035 मामलों की तुलना में 75 प्रतिशत अधिक है। स्वास्थ्य मंत्रालय (एमओएच) ने एडवाइजरी जारी करते हुए कहा कि औसततन कोरोना से अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या 225 से बढ़कर 350 हो गई है। अधिकांश मामले छ्वहृ.1 वैरिएंट से संक्रमित के हैं। 

डब्ल्यूएचओ का अलर्ट 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कई देशों में कोरोना के बढ़ते मामलों पर चिंता जताई है। संगठन ने सभी प्रभावित देशों से कड़ी निगरानी रखने और लगातार टेस्टिंग जारी रखने का अनुरोध किया है। डब्ल्यूएचओ ने वैश्विक स्वास्थ्य निकाय की कोविड-19 तकनीकी प्रमुख डॉ. मारिया वान केरखोव का एक वीडियो भी जारी किया। जिन्होंने कोरोना मामलों में वृद्धि के पीछे के कारणों को समझाया और बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में भी बात की। 

नए वेरिएंट ने दे दी है दस्तक  

कोरोना के बढ़ते मामलों ने वैश्विक चिंता तब बढ़ाई जब सिंगापुर में कोरोना के सबसे नए वेरिएंट जेएन-1 की पुष्टि हुई। विशेषज्ञों के मुताबिक, यह कोरोना का सबसे जटिल और खतरनाक वेरिएंट है। यह तेजी से फैलता है। हालांकि अभी इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि क्या इससे मौत का आंकड़ा भी बढ़ सकता है। लेकिन, ताजा घटनाक्रमों के मुताबिक, इस नए वेरिएंट ने अमेरिका और चीन समेत कई देशों में भी लोगों को तेजी से संक्रमित किया है। केरल में भी हाल ही में इस वेरिएंट की पुष्टि हुई थी। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद  के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, केरल की एक 79 वर्षीय महिला में इस नए वेरिएंट का पता लगा है। हालांकि यह मामला 8 दिसंबर का है और महिला पूरी तरह से स्वस्थ है। रविवार को, केरल की स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि राज्य में पाया गया कोविड-19 उप-संस्करण जेएन. 1 चिंता का कारण नहीं है।
x

Comments

Popular posts from this blog

उपहार की गर्मजोशी से खिले गरीबों के चेहरे

चर्चा का विषय बना नड्डा के बेटे का रिसेप्शन किट

लंका पर भारत की विराट जीत, सेमीफाइनल में पहुंचा